Sunday, June 16, 2024
Homeदेश-समाजप्रदर्शन के दौरान कॉन्ग्रेसियों ने SI पर जलता पुतला फेंका, मुँह पर पेट्रोल भी...

प्रदर्शन के दौरान कॉन्ग्रेसियों ने SI पर जलता पुतला फेंका, मुँह पर पेट्रोल भी डाला: गंभीर हालत में दिल्ली रेफर, MP पुलिस ने 5 को किया अरेस्ट

पुलिस की इस कार्रवाई पर कॉन्ग्रेस के विधायक सतीश सिकरवार आपत्ति जाहिर की है और कार्यकर्ताओं पर पुलिस कार्रवाई को स्थगित करने की माँग की है। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में विरोध प्रदर्शन और पुतला दहन होता रहा है।

मध्य प्रदेश के ग्वालियर (Gwalior, Madhya Pradesh) के फूलबाग चौराहे पर कॉन्ग्रेस नेताओं द्वारा किए जा रहे पुतला दहन की चपेट में आने से सब-इंस्पेक्टर दीपक गौतम बुरी तरह झुलस गए हैं। उनकी गंभीर हालत को देखते हुए स्थानीय डॉक्टरों ने बुधवार (2 फरवरी 2022) को उन्हें दिल्ली रेफर कर दिया है। उधर प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) फोन कर गौतम से कुशलक्षेम पूछा है। वहीं, कॉन्ग्रेस विधायक ने कार्यकर्ताओं पर पुलिस कार्रवाई को स्थगित करने का आग्रह किया है।

इस संबंध में मुख्यमंत्री कार्यालय ने ट्वीट किया, “ग्वालियर के फूलबाग चौराहे पर पुतला दहन के दौरान कानून व्यवस्था संभालते वक़्त अग्नि दुर्घटना में घायल हुये इंदरगंज थाने के एएसआई श्री दीपक गौतम से सीएम श्री @ChouhanShivraj ने फ़ोन पर चर्चा कर कुशलक्षेम जानी।”

डॉक्टरों ने बताया है कि दीपक गौतम आग से 45 प्रतिशत तक जल गए हैं। उनकी छाती में गहरे घाव हैं। उनका हाथ और चेहरा भी बुरी तरह झुलस गए हैं। स्थिति को गंभीरता को देखते हुए दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल के बर्न विभाग में एडमिट किया गया है, जहाँ डॉक्टरों की निगरानी में उनका इलाज चल रहा है।

पुलिस अधीक्षक अमित सांघी का कहना है कि इस मामले में 6 नामजद लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इनमें पाँच कॉन्ग्रेस से जुड़े नेता हैं। जिन आरोपितों के गिरफ्तार किया गया है, उनमें NSUI के प्रदेश उपाध्यक्ष शिवराज यादव, आकाश तोमर, अनीश खान, अभिमन्यु पुरोहित, घनश्याम घुड़साले और सचिन भदौरिया शामिल हैं। आरोपितों पर भारतीय दंड संहिता की धारा 307, 188, 147, 148, 149 और 353 के तहत मामला दर्ज किया गया है। वीडियो के आधार पर अन्य आरोपितों की तलाश की जा रही है। आरोपितों के खिलाफ रासुका के तहत भी कार्रवाई की जा सकती है।

पुलिस की इस कार्रवाई पर कॉन्ग्रेस के विधायक सतीश सिकरवार आपत्ति जाहिर की है और कार्यकर्ताओं पर पुलिस कार्रवाई को स्थगित करने की माँग की है। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में विरोध प्रदर्शन और पुतला दहन होता रहा है। इस तरह के प्रदर्शन में कई जनप्रतिनिधि भी हादसे के शिकार होते रहे हैं। उन्होंने कहा कि सब इंस्पेक्टर भी हादसे के शिकार हुए हैं। कॉन्ग्रेस कार्यकर्ताओं ने किसी द्वेष के तहत कार्य नहीं किया है। उन्होंने कहा कि 20-25 कार्यकर्ताओं पर कार्रवाई करना उनके भविष्य के साथ खिलवाड़ करने जैसा है। इसलिए जाँच को स्थगित किया जाए।

दरअसल, कॉन्ग्रेस कार्यकर्ता अपने नेता सुनील शर्मा की गिरफ्तारी का विरोध करते हुए पुतला दहन कर रहे थे। पुलिस ने पुतला छीनने का प्रयास किया। इस दौरान कॉन्ग्रेस के कार्यकर्ताओं ने जलता पुतला दीपक गौतम के ऊपर फेंक दिया। इतना ही नहीं, दीपक गौतम के मुँह पर पेट्रोल भी फेंका गया। इससे दीपक गौतम की वर्दी में आग लग गई और वे बुरी तरह झुलस गए।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

गलत वीडियो डालने वाले अब नहीं बचेंगे: संसद के अगले सत्र में ‘डिजिटल इंडिया बिल’ ला सकती है मोदी सरकार, डीपफेक पर लगाम की...

नरेंद्र मोदी सरकार आगामी संसद सत्र में डीपफेक वीडियो और यूट्यूब कंटेंट को लेकर डिजिटल इंडिया बिल के नाम से पेश किया जाएगा।

आतंकवाद का बखान, अलगाववाद को खुलेआम बढ़ावा और पाकिस्तानी प्रोपेगेंडा को बढ़ावा : पढ़ें- अरुँधति रॉय का 2010 वो भाषण, जिसकी वजह से UAPA...

अरुँधति रॉय ने इस सेमिनार में 15 मिनट लंबा भाषण दिया था, जिसमें उन्होंने भारत देश के खिलाफ जमकर जहर उगला था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -