Sunday, July 14, 2024
Homeदेश-समाज'अब्बा ने 10 दिनों से नहीं किया था पैखाना, दिल्ली AIIMS के डॉक्टर करें...

‘अब्बा ने 10 दिनों से नहीं किया था पैखाना, दिल्ली AIIMS के डॉक्टर करें पोस्टमॉर्टम’: मुख्तार अंसारी के बेटे की डिमांड, मौत की न्यायिक जाँच का आदेश

उमर अंसारी ने लिखा था कि उसके अब्बा ने आरोप लगाया था कि जेल में धीमा ज़हर दिया जा रहा है। उसने लिखा कि जब वो बाँदा जिला अस्पताल में अपने अब्बा को देखने पहुँचा था तब उसे अंदर नहीं जाने दिया, जिसमें उसे साजिश नज़र आ रही है।

गाजीपुर, मऊ और वाराणसी में आतंक का पर्याय रहे माफिया मुख़्तार अंसारी की गुरुवार (28 मार्च, 2024) को बाँदा जेल में हार्ट अटैक आया, जिसके बाद अस्पताल में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। अब अगले दिन उसके शव के पोस्टमॉर्टम की प्रक्रिया पूरी की गई है। 5 डॉक्टरों की टीम ने गैंगस्टर के शव का पोस्टमॉर्टम किया। साथ ही विसरा सुरक्षित रख लिया गया है। हालाँकि, उसके बेटे उमर ने माँग की थी कि दिल्ली AIIMS में ये प्रक्रिया पूरी कराई जाए, क्योंकि उसे स्थानीय चिकित्सा प्रणाली प्रशासन व सरकार पर भरोसा नहीं है।

उमर अंसारी ने लिखा था कि उसके अब्बा ने आरोप लगाया था कि जेल में धीमा ज़हर दिया जा रहा है। उसने लिखा कि जब वो बाँदा जिला अस्पताल में अपने अब्बा को देखने पहुँचा था तब उसे अंदर नहीं जाने दिया, जिसमें उसे साजिश नज़र आ रही है। बकौल उमर अंसार, मुख़्तार ने उसे मौत वाले दिन फोन पर ये भी बताया था कि 10 दिन से उसे शौच नहीं हुआ है और कहा था – “उमर बेटा, मैं बचूँगा नहीं”। साथ ही उसने आरोप लगाया है कि उसके अब्बा की हालत गंभीर होने की सूचना उसे न अस्पताल ने दी, न जेल प्रशासन ने।

वहीं मुख़्तार अंसारी की मौत की अब न्यायिक जाँच भी होगी। बाँदा के चीफ जुडिशल मजिस्ट्रेट भगवान दास गुप्ता की अदालत ने एडिशनल CJM गरिमा सिंह से कहा है कि वो मुख़्तार अंसारी की मौत की जाँच कर के 1 महीने के भीतर रिपोर्ट सौंपें। बाँदा के जिलाधिकारी ने भी इस मामले में जाँच के आदेश दिए हैं और 3 सदस्यीय कमिटी गठित की है। मौत वाली रात मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी DGP के साथ एक उच्च-स्तरीय बैठक बुलाई। इसमें ताज़ा हालात पर चर्चा की गई और कानून-व्यवस्था बनाए रखने पर मंथन हुआ।

मुख़्तार अंसारी पर 60 से अधिक मामले दर्ज थे, जिनमें से एक भाजपा विधायक कृष्णानंद राय की हत्या वाला मामला भी था। उनकी पत्नी अलका राय ने अब काशी विश्वनाथ मंदिर में जाकर पूजा-अर्चना की है। जुमे की नमाज को लेकर मऊ और गाजीपुर में सुरक्षा व्यवस्था भी कड़ी कर के रखी गई है। उन्होंने बताया कि उनके पति की हत्या के बाद परिवार ने कभी होली नहीं मनाई, आज का दिन उनके लिए होली है। मुख़्तार अंसारी 5 बार मऊ से विधायक रहा था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NITI आयोग की रिपोर्ट में टॉप पर उत्तराखंड, यूपी ने भी लगाई बड़ी छलाँग: 9 साल में 24 करोड़ भारतीय गरीबी से बाहर निकले

NITI आयोग ने सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स (SDG) इंडेक्स 2023-24 जारी की है। देश में विकास का स्तर बताने वाली इस रिपोर्ट में उत्तराखंड टॉप पर है।

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -