घर के बाहर बिस्किट का रैपर देख आसिफ और अली ने कर दी साजिद की हत्या

आसिफ और अफसर से जान बचाने के लिए आबिद और सलमान अपने घर में घुस गए। इसी बीच घर लौटे साजिद को शब्बू ने चाकू घोंप दिया और अफसर के साथ मिल उस पर कई वार किए।

दिल्ली के गाँधी नगर इलाके में सिर्फ़ एक बिस्किट के रैपर के कारण आसिफ और अफसर नाम के दो भाईयों ने अपने पड़ोसी साजिद की चाकू घोंपकर हत्या कर दी। इस घटना में साजिद के 2 भाई (सलमान और आबिद) भी घायल हुए। पुलिस ने मुख्य आरोपित आसिफ उर्फ शब्बू को पकड़ लिया है जबकि अफसर अली की तलाश जारी है।

घटना दिल्ली के सीलमपुर में नानक बस्ती की गली नं-4 में रविवार की रात 8-8:30 बजे घटी। बताया जा रहा है कि पूरे मामले में साजिद की हत्या केवल बीच-बचाव करने के कारण हुई।

जानकारी के मुताबिक शब्बू के घर के बाहर बिस्किट का रैपर पड़ा था। जिसे देखकर शब्बू और उसकी माँ नसीमा साजिद के भतीजे पर भड़क उठे। जब साजिद की माँ ने इसका विरोध किया तो शब्बू उनके साथ गाली-गलौच पर उतर आया। इस बीच साजिद का भाई आबिद वहाँ पहुँचा और उसने कहा कि उनके परिवार ने कूड़ा नहीं डाला है। लेकिन शब्बू नहीं माना और कैंची से हमला करने लगा। हालाँकि उस समय पड़ोसियों ने बीच-बचाव कर मामला शांत करा दिया। बाद में पुलिस कंट्रोल रूम को फोन करके घटना की सूचना दी गई। लेकिन जब पुलिस ने परिवार से संपर्क करना चाहा तो वहाँ से कोई रिस्पांस नहीं आया।

नवभारत टाइम्स में प्रकाशित खबर
- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

झगड़े के बाद डर से साजिद की माँ अपने दोनों बच्चों को लेकर सीमापुरी अपने रिश्तेदार के घर चली गई। लेकिन जब शाम को 7 बजे वह घर लौटी तो दोनों भाई आसिफ और अफसर वहीं थे। उन्होंने दोबारा गाली-गलौच शुरू की और फिर आबिद और सलमान पर हमला कर दिया। दोनों भाइयों ने जैसे-तैसे अपनी जान बचाने के लिए घर में घुसे तो वह भी उनके पीछे घर में घुस गए। इसी बीच साजिद घर लौट आया। उसने आसिफ और अफसर को घर से बाहर निकालकर दरवाजा बंद करने की कोशिश की, लेकिन तब तक शब्बू ने उसे चाकू घोंप दिया।

दोनों भाइयों ने साजिद पर चाकू और कैंची से कई वार किए। जिसकी वजह से वह जख्मी हो गया। उसे गंभीर हालत में नजदीक अस्पताल ले जाया गया , लेकिन जख्म इतने गहरे थे कि डॉक्टर साजिद को नहीं बचा पाए। वहीं, सलमान और आबिद को प्राथमिक उपचार देकर छुट्टी दे दी गई हैं। बता दें पुलिस ने आसिफ उर्फ शब्बू को गिरफ्तार कर लिया है जबकि अफसर उर्फ़ काले अभी पुलिस की पकड़ से फरार है।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by paying for content

बड़ी ख़बर

नरेंद्र मोदी, डोनाल्ड ट्रम्प
"भारतीय मूल के लोग अमेरिका के हर सेक्टर में काम कर रहे हैं, यहाँ तक कि सेना में भी। भारत एक असाधारण देश है और वहाँ की जनता भी बहुत अच्छी है। हम दोनों का संविधान 'We The People' से शुरू होता है और दोनों को ही ब्रिटिश से आज़ादी मिली।"

ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

92,258फैंसलाइक करें
15,609फॉलोवर्सफॉलो करें
98,700सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: