Saturday, July 24, 2021
Homeदेश-समाजबच्चों का सीरियल रेपिस्ट आसिफ़ गिरफ्तार, 10 साल के बच्चे के बलात्कार के बाद...

बच्चों का सीरियल रेपिस्ट आसिफ़ गिरफ्तार, 10 साल के बच्चे के बलात्कार के बाद गला दबाकर कुएँ में फेंका

आसिफ़ ने पुलिस को बताया कि जुबैर को वो बकरी तलाशने के बहाने से जंगल में ले गया था, जहाँ उसने बच्चे के साथ कुकर्म किया। पूछताछ के दौरान इस बात का भी पता चला कि आसिफ़ बच्चों के साथ दुष्कर्म नहीं करने पर पागल-सा हो जाता था।

उत्तर प्रदेश के फ़र्रुखाबाद में एक 10 साल के जुबैर (बदला हुआ नाम) का बेरहमी के यौन शोषण कर गला दबाकर उसकी हत्या करने का मामला सामने आया है। इस ख़ौफ़नाक वारदात को अंजाम देने वाला आसिफ़ (26 वर्षीय) नाम का शख़्स सीरियल रेपिस्ट है, जो सेक्स का आदी है। पुलिस की पूछताछ में इस बात का ख़ुलासा हुआ है कि आसिफ़ अपनी हवस को मिटाने के लिए छोटे बच्चों (4-11 वर्ष के) को शिकार बनाता था। आसिफ़ ने पुलिस को बताया कि वो 6 बच्चों के साथ कुकर्म कर चुका है। पुलिस ने उसके ख़िलाफ़ हत्या व अन्य धाराओं के तहत मामला दर्ज कर उसे जेल भेज दिया है।

ख़बर के अनुसार, 20 सितंबर को फ़र्रुखाबाद की सदर कोतवाली क्षेत्र के एक कुएँ में 10 साल के जुबैर की लाश मिली। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के बाद ख़ुलासा हुआ कि बच्चे की मौत गला दबाने से हुई थी। कुकर्म की पुष्टि के लिए स्लाइड बनाकर जाँच के लिए भेज दी गई है। पुलिस ने बताया कि इस मामले की जाँच के लिए स्पेशल टीम का गठन किया गया था। 

इस मामले की जाँच टीम के इंचार्ज राजीव सिंह ने शुरू की। आसिफ़ ने पुलिस को बताया कि जुबैर को वो बकरी तलाशने के बहाने से जंगल में ले गया था, जहाँ उसने बच्चे के साथ कुकर्म किया। घर पहुँच कर बच्चे ने अपने घरवालों को आपबीती सुनाई, इससे नाराज़ आसिफ़ ने मासूम का गला दबाकर उसकी हत्या कर दी और शव को कुएँ में फेंक दिया। पूछताछ के दौरान इस बात का भी पता चला कि आसिफ़ बच्चों के साथ दुष्कर्म नहीं करने पर पागल सा हो जाता था।

सख़्ती से पेश आई पुलिस के सामने आसिफ़ ने यह भी बताया कि वो छोटे बच्चों को टॉफ़ी-बिस्किट देने के बहाने अपने पास बुलाता था और सुनसान जगह पर लेकर उनका यौन शोषण करता था। साथ ही वो बच्चों को सख़्त हिदायत भी देता ता कि वो किसी से कुछ न बताएँ, नहीं तो वो उन्हें जान से मार देगा। डरे-सहमे बच्चों ने ख़ुद के साथ हुए शोषण के ख़िलाफ़ कभी अपना मुँह नहीं खोला। लेकिन, जब यह मामला सामने आया तो पुलिस ने मोहल्ले के बच्चों से पूछताछ की। पूछताछ के दौरान बच्चों ने रोते-बिलखते हुए दरिंदगी भरे व्यवहार का पूरा हाल कह सुनाया।

मीडिया में आई ख़बर के अनुसार, गुरुवार (26 सितंबर) को कोतवाली पहुँचे अपर पुलिस अधीक्षक त्रिभुवन सिंह ने घटना की जानकारी देते हुए बताया कि कुकर्म करने के आरोपित आसिफ़, पुत्र मोहम्मद सईद, निवासी जटवारा जदीद को पकड़ा था। उन्होंने बताया कि घटना के दिन से ही चारों तरफ़ पुलिस ने अपने मुखबिर लगा दिए थे। मुखबिरों से मिली सूचना के आधार पर पुलिस ने उसे गिरफ़्तार कर लिया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कीचड़ मलती ‘गोरी’ पत्रकार या श्मशानों से लाइव रिपोर्टिंग… समाज/मदद के नाम पर शुद्ध धंधा है पत्रकारिता

श्मशानों से लाइव रिपोर्टिंग और जलती चिताओं की तस्वीरें छापकर यह बताने की कोशिश की जाती है कि स्थिति काफी खराब है और सरकार नाकाम है।

ओलंपिक में मीराबाई चानू के सिल्वर मेडल जीतने पर एक दुःखी वामपंथी की व्यथा…

भारत की एक महिला भारोत्तोलक मीराबाई चानू ने टोक्यो ओलंपिक में वेटलिफ्टिंग में सिल्वर मेडल जीता है। ये विज्ञान व लोकतंत्र के खिलाफ है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
110,987FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe