Thursday, June 20, 2024
Homeदेश-समाज'जुए में पत्नी को हार गया पति, धनतेरस पर महाभारत': जिस घटना का जिक्र...

‘जुए में पत्नी को हार गया पति, धनतेरस पर महाभारत’: जिस घटना का जिक्र कर हिन्दू त्योहार को किया जा रहा बदनाम, उसे अंजाम देने वाला निकला सुहैल अहमद

इस्लामी कट्टरपंथी अली सोहराब ने इस खबर को शेयर करते हुए 'संस्कृति' लिख कर हिन्दुओं पर तंज कसा। वहीं दीपा सम्राट नामक हैंडल ने 'संस्कारी समाज' लिख कर हिन्दुओं पर निशाना साधा।

किस तरह हिन्दू पर्व-त्योहारों को बदनाम करने के लिए साजिश रची जाती है, उसकी एक ताज़ा बानगी सामने आई है। मीडिया ने खबर चलाई कि उत्तर प्रदेश के अमरोहा में धनतेरस के मौके पर एक व्यक्ति ने जुए में न सिर्फ अपनी को दाँव पर लगा दिया, बल्कि हार भी गया। इसके बाद आनन-फानन में उसका भाई मौके से वहाँ पहुँचा और रुपए देकर अपनी बहन को छुड़ाया। फिर इसके बाद हिन्दुओं को तंज कसा जाने लगा और धनतेरस त्योहार पर गंदी टिप्पणियाँ की जाने लगीं।

सबसे पहले तो मीडिया ने ही इसे भ्रामक तरीके से चलाया। जैसा कि होता आया है, मीडिया ने इस मामले में आरोपितों का नाम छिपा। ‘Zee News’ ने ‘अमरोहा में एक और महाभारत’ शीर्षक के साथ इसे प्रकाशित कर के एक हिन्दू धर्मग्रंथ को भी बदनाम किया। वहीं ‘न्यूज़ 24’ ने साड़ी और गहने पहनी हुई महिला की प्रतीकात्मक तस्वीर लगाई। जबकि सच्चाई ये है कि ये मामला किसी हिन्दू नहीं बल्कि मुस्लिम परिवार का है, आरोपित सभी मुस्लिम हैं।

इस्लामी कट्टरपंथी अली सोहराब ने इस खबर को शेयर करते हुए ‘संस्कृति’ लिख कर हिन्दुओं पर तंज कसा। वहीं दीपा सम्राट नामक हैंडल ने ‘संस्कारी समाज’ लिख कर हिन्दुओं पर निशाना साधा। मुस्ताक अहमद ने इसी बहाने अपने मजहब का गुणगान करते हुए लिखा कि इस्लाम में जुआ-शराब हराम है। उसने एक तरह से हिन्दुओं को जुआरी-शराबी बता दिया। वहीं साजिद अली ने हिंदुओं को गाली देते हुए पूरे सनातन धर्म को निशाना बनाया।

आइए, अब आपको सच्चाई बताते हैं। असल में जुए में अपनी बीवी को हारने वाला कोई धनतेरस मनाने वाला हिन्दू नहीं बल्कि सुहैल अहमद है। डिडौली थाना क्षेत्र के जलालाबाद की रहने वाली महिला ने अपने शौहर और उसके परिवार पर अन्य गंभीर आरोप भी लगाए हैं। पीड़िता ने पुलिस को बताया है कि उसके शौहर ने उसे ही गिरवी रख दिया। 3 वर्ष पूर्व दोनों का निकाह हुआ था। महिला ने बताया है कि निकाह के बाद से ही शौहर सुहैल अहमद, सास सलमा, ससुर रईस अहमद, देवर फूजैल, दूसरा देवर सुहैब, ननद कहकशा, महका और दरकशा – ये सब मिल कर उसे प्रताड़ित करते थे।

पीड़िता की 2 बेटियाँ भी हैं। उसने बताया है कि उसका शौहर सुहैल अहमद जुआरी है, यानी जुए का आदी है। वो जुआ पहले भी खेलता था, धनतेरस को इसमें लाना उचित नहीं है। आए दिन 15 लाख रुपए की माँग करता था। 6 महीने पहले शौहर ने उसे धक्के मार कर घर से बाहर भी निकाल दिया था। बीवी को हारने के बाद सुहैल अहमद उसे एक अनजान शहर में छोड़ कर आ गया था और जिनसे अपनी बीवी को हारा था उसे ये कह कर लौट आया था कि पैसे चुका कर बीवी को ले जाएगा। महिला के देवर ने भी उसके साथ छेड़खानी की है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘फूफा ने कहा कोटा से आ जाओ सेटिंग हो चुकी है’: NEET पेपर लीक में अनुराग यादव का कबूलनामा, कहा- परीक्षा से एक रात...

अनुराग यादव का इकबालिया बयान भी सामने आ गया है। अनुराग यादव ने अपने बयान में कहा है, उसे एक रात पहले ही प्रश्नपत्र मिल गया था।

बिहार में सरकारी नौकरियों और शिक्षण संस्थानों में नहीं मिलेगा 65% आरक्षण, पटना हाई कोर्ट ने लगाई रोक: कहा- इन मामलों पर संवैधानिक बेंच...

बिहार सरकार ने एससी-एसटी और ईबीसी वर्ग के लिए आरक्षण 50% से बढ़ाकर 65% किया था। पटना हाईकोर्ट ने इसे समाप्त कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -