Wednesday, May 22, 2024
Homeदेश-समाजहिजाब पहनी 1000+ मुस्लिम लड़कियाँ हुईं परीक्षा से बाहर, बंगाल पुलिस भर्ती बोर्ड ने...

हिजाब पहनी 1000+ मुस्लिम लड़कियाँ हुईं परीक्षा से बाहर, बंगाल पुलिस भर्ती बोर्ड ने कैंसिल किया आवेदन: मामला HC में

बंगाल पुलिस भर्ती बोर्ड के फैसले के खिलाफ मुस्लिम महिलाओं के एक समूह ने कोलकाता हाईकोर्ट का रुख किया था। इस मामले में कोलकाता हाईकोर्ट के जस्टिस अरिंदम मुखर्जी ने अंतरिम फैसला सुनाते हुए कहा कि भर्ती का भविष्य इस मामले के अंतिम फैसले पर निर्भर करेगा।

पश्चिम बंगाल पुलिस भर्ती बोर्ड की ओर से कॉन्स्टेबल और महिला कॉन्स्टेबल के पदों पर भर्ती के लिए आवेदन आमंत्रित किए गए थे, जिसमें 1000 से अधिक मुस्लिम लड़कियों ने फॉर्म भरते वक्त हिजाब पहनकर फोटो लगाई थी, जिससे उनके आवेदनों को रद कर दिया गया था। अब इस मामले में विवाद बढ़ने के बाद कोलकाता हाईकोर्ट ने पुलिस भर्ती प्रक्रिया पर ही रोक लगा दी है।

बंगाल पुलिस भर्ती बोर्ड के फैसले के खिलाफ मुस्लिम महिलाओं के एक समूह ने कोलकाता हाईकोर्ट का रुख किया था। इस मामले में कोलकाता हाईकोर्ट के जस्टिस अरिंदम मुखर्जी ने अंतरिम फैसला सुनाते हुए कहा कि भर्ती का भविष्य इस मामले के अंतिम फैसले पर निर्भर करेगा।

बहरहाल कोर्ट के फैसलो को अपनी जीत बताते हुए इस मामले से जुड़ी एक याचिकाकर्ता तुहिना खातून ने स्थगन आदेश को ‘हमारी आशाओं की जीत’ करार दिया। खातून ने क्लेरियन इंडिया को बताया, “हम लंबे समय से इस परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं। लेकिन हमें अवसर देने से वंचित कर दिया गया। अब अदालत हमारी बात सुन रही है और हमें उम्मीद है कि हमें न्याय मिलेगा।” मुस्लिम महिलाओं की पैरवी कर रहे वकील फिरदौस समीम ने कहा, “संविधान अनुमति देता है कि एक मुस्लिम लड़की हिजाब पहन सकती है, लेकिन पुलिस बोर्ड द्वारा दी गई अधिसूचना संवैधानिक प्रावधानों के खिलाफ है।”

उल्लेखनीय है कि पश्चिम बंगाल पुलिस भर्ती बोर्ड (WBPRB) ने 26 सितंबर 2021 को राज्य पुलिस में कॉन्स्टेबलों और महिला कॉन्स्टेबलों की भर्ती के लिए प्रारंभिक परीक्षा आयोजित की थी। बोर्ड ने 6 सितंबर को परीक्षा के लिए प्रवेश पत्र जारी किए थे। लेकिन कई कारणों के कारण 30,000 से अधिक छात्र परीक्षा देने से वंचित रह गए।

इस मामले में पीड़ित लड़कियों ने सीएम ममता बनर्जी से भी मिलने की कोशिश की थी, लेकिन वो ऐसा नहीं कर सकीं।

WBPRB के चेयरमैन को लिखा पत्र

इस तरह के मामले में पीड़ित उम्मीदवारों ने WBPRB के अध्यक्ष को एक पत्र लिखा है और पूछा कि सिख समुदाय के उम्मीदवारों के लिए नियमों को अपवाद करार दिया गया है ठीक उसी प्रकार से पुलिस भर्ती बोर्ड में नियमों को अपवाद बनाने की माँग की है।

मुस्लिम उम्मीदवारों का तर्क है कि हिजाब पहनना राज्य में मुस्लिम समुदाय की आस्था और उनकी प्रथाओं का एक हिस्सा है। पत्र में उम्मीदवारों ने लिखा है, “हम मानते हैं कि भारतीय लोकतंत्र का दायरा सभी धार्मिक विश्वासों को समायोजित करने के लिए पर्याप्त है।”

साभार: लाइव लॉ

क्या कहते हैं भर्ती के नियम

WBPRB की गाइडलाइंस में कहा गया है कि फोटो में आवेदकों के चेहरे किसी भी तरह से ढके नहीं होने चाहिए। गाइडलाइंस में लिखा है, “आवेदकों को सलाह दी जाती है कि वे फोटोग्राफ और हस्ताक्षर के स्थान पर अन्य वस्तुओं की तस्वीरें अपलोड न करें। चेहरा/सिर ढकने वाला फोटोग्राफ, आँखों को ढकने वाले धूप के चश्मे/टिंटेड ग्लासेस को स्वीकार नहीं किया जाएगा।

जाँच के दौरान ‘ग्रुपीज’ या ‘सेल्फ़ी’ से क्रॉप किए गए फ़ोटोग्राफ की भी अनुमति नहीं रहेगी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘ध्वस्त कर दिया जाएगा आश्रम, सुरक्षा दीजिए’: ममता बनर्जी के बयान के बाद महंत ने हाईकोर्ट से लगाई गुहार, TMC के खिलाफ सड़क पर...

आचार्य प्रणवानंद महाराज द्वारा सन् 1917 में स्थापित BSS पिछले 107 वर्षों से जनसेवा में संलग्न है। वो बाबा गंभीरनाथ के शिष्य थे, स्वतंत्रता के आंदोलन में भी सक्रिय रहे।

‘ये दुर्घटना नहीं हत्या है’: अनीस और अश्विनी का शव घर पहुँचते ही मची चीख-पुकार, कोर्ट ने पब संचालकों को पुलिस कस्टडी में भेजा

3 लोगों को 24 मई तक के लिए हिरासत में भेज दिया गया है। इनमें Cosie रेस्टॉरेंट के मालिक प्रह्लाद भुतडा, मैनेजर सचिन काटकर और होटल Blak के मैनेजर संदीप सांगले शामिल।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -