Wednesday, May 22, 2024
Homeराजनीतिनदीम ने किया 11 साल की मुस्लिम बच्ची का रेप… हिंदुओं को बदनाम करने...

नदीम ने किया 11 साल की मुस्लिम बच्ची का रेप… हिंदुओं को बदनाम करने लगे कट्टर इस्लामी-वामपंथी, भगवान को बताया ‘रेपिस्ट’

मुस्लिम किशोरी का 3 हिंदुओं ने गैंगरेप किया। इन हिंदू आतंकियों के साथ 'सह अस्तित्व' की भावना के साथ रहना संभव नहीं, जिनके 'भगवान' भी रेपिस्ट हैं।

उत्तर प्रदेश के बागपत जिले में 11 साल की नाबालिग मुस्लिम लड़की के साथ किडनैपिंग और गैंगरेप की वारदात हुई। ये वारदात 27 अप्रैल की है। इस वारदात को अंजाम दिया उसी गाँव के नदीम ने। इस केस में नदीम को पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है, और मामले की जाँच चल रही है। इस बीच, सोशल मीडिया पर उसी बच्ची का एक अपुष्ट वीडियो वायरल हुआ, जिसे शेयर कर इस्लामिक कट्टरपंथियों ने हिंदुओं को बदनाम करने की कोशिश की।

इस वीडियो को शेयर करते हुए इस्लामिक कट्टरपंथियों ने इस वारदात के पीछे 3 हिंदू आरोपितों का होना बताया। यही नहीं, इस वारदात की आड़ में, जिसे नदीम ने अंजाम दिया… उसकी आड़ में हिंदू देवताओं को बलात्कारी बताया गया और हिंदुओं को आतंकवादी।

हक अली नाम के एक्स यूजर ने वारदात की जगह को बागपत बताते हुए बागपत पुलिस को टैग किया और लिखा, ‘मुस्लिम किशोरी का 3 हिंदुओं ने गैंगरेप किया। इन हिंदू आतंकियों के साथ ‘सह अस्तित्व’ की भावना के साथ रहना संभव नहीं, जिनके ‘भगवान’ भी रेपिस्ट हैं। यूपी पुलिस, डीजीपी यूपी, ट्रूस्टोरीयूपी, क्या पुलिस हिंदू रेपिस्ट को अरेस्ट करेगा और सजा होगा?’ यही नहीं, उसने हिंदुओं के खिलाफ ट्विटर पर आग उगलने वाले 2 कथित पत्रकारों प्रज्ञा और साक्षी जोशी को भी टैग किया।

हक अली के ट्वीट का स्क्रीनशॉट

हक अली का मामला एक है, लेकिन इस मामले को हिंदुओं के साथ जोड़ने की कोशिश कई यूजर्स ने की। ऐसे 9 यूजर्स के पोस्ट को मिसलीडिंग बताते हुए लोकप्रिय एक्स हैंडल OSINT ‘डी-इंटेंट डेटा’ ने पोस्ट किया और इनका भंडाफोड़ किया। शनिवार (4 मई) को शेयर स्क्रीनशॉट में इस्लामिक कट्टरपंथी दावा कर रहे हैं कि हिंदुओं ने ही 11 साल की मुस्लिम लड़की का रेप किया।

D-Intent Data नाम के हैंडल ने लिखा, “एक बलात्कार पीड़िता का एक संवेदनशील वीडियो यह दावा करते हुए प्रसारित किया जा रहा है कि यूपी के बागपत में तीन हिंदू पुरुषों द्वारा 11 वर्षीय मुस्लिम लड़की का अपहरण किया गया और उसके साथ सामूहिक बलात्कार किया गया। बात ये है कि पुलिस ने नदीम पुत्र यूनिस नाम के एक आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है।”

इस मामले में खुद को मानवाधिकार कार्यकर्ता, महिला कार्यकर्ता और शांति कार्यकर्ता बताने वाली सैय्यद उज्मा परवीन ने अपना एक वीडियो जारी किया और इस वीडियो में भी हिंदुओं को बदनाम करने की कोशिश की।

वीडियों में सैय्यदा उज्मा बोलती दिख रही हैं, “बागपत में एक 11 साल की बच्ची का गैंगरेप हुआ है, ये उन दरिंदों ने किया है, जो खुद को हिंदूवादी बताते हैं। 4 लोगों ने 11 साल की मासूम बच्ची का रेप किया। अब ये गठबंधन क्यों खामोश हैं? वो भी तो किसी की बच्ची है। क्या आप यहाँ पर भी हिंदू-मुस्लिम देख रहे हैं।” आगे वो राजनीतिक बातें करती दिख रही हैं। हालाँकि इस वीडियो के जवाब में बागपत पुलिस ने सूचित भी किया है कि आरोपित का असली नाम क्या है और किसे गिरफ्तार किया है। इसके बावजूद वो अपना वीडियो हटाती नहीं दिख रही है।

इस मामले में बागपत पुलिस ने भी बताया है कि नाबालिग लड़की के अपहरण और रेप के मामले में पुलिस ने आरोपित नदीम पुत्र यूनुस को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है और जाँच की जा रही है।

इस मामले में शुक्रवार (3 मई 2024) को बड़ौत के सीओ सविरत्ना गौतम ने बताया, “27 अप्रैल को नाबालिग बच्ची के अपहरण की खबर मिसी, ये वारदात असारा गाँव की है, जो रमाला पुलिस थाने में आता है, हमें बच्ची को बरामद कर लिया है। बच्ची के बयान के अनुसार, उसी गाँद के व्यक्ति ने अपने दोस्तों के साथ मिलकर रेप किया। हमने सभी आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। इस मामले में जाँच की जा रही है।”

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, इस मामले में नाबालिग का बयान 161CrPC के तहत दर्ज किया गया है और बच्ची को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। कोर्ट में बच्ची का CrPC के सेक्शन 164 के तहत भी बच्ची का बयान दर्ज कराकर उसके घर वालों के सुपुर्द कर दिया गया है। इस मामले में पुलिस ने नदीम पुत्र यूनुस को गिरफ्तार कर लिया है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘ध्वस्त कर दिया जाएगा आश्रम, सुरक्षा दीजिए’: ममता बनर्जी के बयान के बाद महंत ने हाईकोर्ट से लगाई गुहार, TMC के खिलाफ सड़क पर...

आचार्य प्रणवानंद महाराज द्वारा सन् 1917 में स्थापित BSS पिछले 107 वर्षों से जनसेवा में संलग्न है। वो बाबा गंभीरनाथ के शिष्य थे, स्वतंत्रता के आंदोलन में भी सक्रिय रहे।

‘ये दुर्घटना नहीं हत्या है’: अनीस और अश्विनी का शव घर पहुँचते ही मची चीख-पुकार, कोर्ट ने पब संचालकों को पुलिस कस्टडी में भेजा

3 लोगों को 24 मई तक के लिए हिरासत में भेज दिया गया है। इनमें Cosie रेस्टॉरेंट के मालिक प्रह्लाद भुतडा, मैनेजर सचिन काटकर और होटल Blak के मैनेजर संदीप सांगले शामिल।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -