Thursday, September 23, 2021
Homeदेश-समाजकबाड़ी इमरान को पुलिस ने गाजियाबाद से दबोचा: होटल में पार्टी के बाद दीक्षा...

कबाड़ी इमरान को पुलिस ने गाजियाबाद से दबोचा: होटल में पार्टी के बाद दीक्षा मिश्रा की हत्या कर नैनीताल से भागा था

कबाड़ का काम करने वाले इमरान ने अपना नाम ऋषभ तिवारी बताया था और रियल इस्टेट कंपनी में उच्च पद पर काम करने वाली दीक्षा के साथ काफी समय से संपर्क में था।

नोएडा की रहने वाली दीक्षा मिश्रा की नैनीताल के एक होटल में हत्या के मामले में फरार आरोपित इमरान खान को गाजियाबाद से गिरफ्तार कर लिया गया है। कबाड़ का काम करने वाले इमरान ने अपना नाम ऋषभ तिवारी बताया था और रियल इस्टेट कंपनी में उच्च पद पर काम करने वाली दीक्षा के साथ काफी समय से संपर्क में था।

इमरान की गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने जानकारी दी कि पिछले कुछ महीनों से दीक्षा और इमरान के बीच पैसों को लेकर अक्सर बहस होती थी। 16 अगस्त 2021 को भी इसी बात को लेकर बहस शुरू हो गई, जिसके बाद इमरान ने गुस्से में आकर दीक्षा की हत्या कर दी। इसके बाद इमरान नोएडा पहुँचा, जहाँ दीक्षा के फ्लैट से उसने अपना सामान लिया और अपने घर गाजियाबाद चला गया।

इमरान की गिरफ्तारी के लिए उत्तराखंड पुलिस ने एक टीम बनाई। इस टीम ने घटना स्थल पर मिली इमरान की आईडी के आधार पर उसे ट्रैक किया और गाजियाबाद के सिहानी गेट के पास स्थित एक फार्मेसी से गिरफ्तार कर लिया।

ज्ञात हो कि नोएडा के होराइजन होम्स एक्सटेंशन की रहने वाली दीक्षा मिश्रा 14 अगस्त 2021 को इमरान और अपने दो अन्य दोस्तों के साथ नैनीताल घूमने गई थी। 15 अगस्त को दीक्षा का जन्मदिन मनाने के बाद सभी ने एक ही कमरे में पार्टी की और उसके बाद अपने-अपने कमरे में चले गए। इसी दौरान इमरान ने दीक्षा की हत्या कर दी और दीक्षा का फोन लेकर फरार हो गया था।

हालाँकि दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार दीक्षा के परिजनों ने लव-जिहाद का आरोप लगाते हुए कहा है कि आरोपित इमरान ने अपना नाम ऋषभ तिवारी बताया था। दीक्षा के भाई अंकुर मिश्रा का कहना है कि जब वह आरोपित इमरान से मिला था तब उसने अपना नाम ऋषभ तिवारी बताया था साथ ही दोस्तों ने भी यह आरोप लगाया है कि आरोपित की फेसबुक आईडी भी ऋषभ तिवारी के नाम से ही थी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

इस्लामी कट्टरपंथ से डरा मेनस्ट्रीम मीडिया: जिस तस्वीर पर NDTV को पड़ी गाली, वह HT ने किस ‘दहशत’ में हटाई

इस्लामी कट्टरपंथ से डरा हुआ मेन स्ट्रीम मीडिया! ऐसा हम नहीं कह रहे बल्कि हिंदुस्तान टाइम्स ने ऐसा एक बार फिर खुद को साबित किया। जब कोरोना से सम्बंधित तमिलनाडु की एक खबर में वही तस्वीर लगाकर हटा बैठा।

गले पर V का निशान, चलता पंखा… महंत नरेंद्र गिरि के ‘सुसाइड’ पर कई सवाल, CBI जाँच को योगी सरकार तैयार

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष रहे महंत नरेंद्र गिरि की मौत के मामले की CBI जाँच कराने की सिफारिश की है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,886FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe