Wednesday, August 4, 2021
Homeदेश-समाज'शहर कोई सा हो, राज हमारा होगा': रचित जाट की हत्या का जश्न मना...

‘शहर कोई सा हो, राज हमारा होगा’: रचित जाट की हत्या का जश्न मना रहा था नाज़िम, यूपी पुलिस ने दबोचा

बिजनौर जिले के हल्दौर के कस्बा झालू में सरे बाजार युवा रचित जाट को दिनदहाड़े गोलियों से भूनकर मौत के घाट उतार दिया गया था। अपराधी कत्ल कर मौका-ए-वारदात के पास ही दुकान के बाहर बैठ गए और आराम से सिगरेट पीते रहे।

उत्तर प्रदेश पुलिस की साइबर सेल ने बिजनौर में रचित जाट की हत्या का जश्न मनाने वाले एक शख्स को गिरफ्तार किया है। आरोपित नाज़िम सोशल मीडिया के जरिए इस हत्याकांड का जश्न मना रहा था। उसने व्हाट्सएप्प पर इस सम्बन्ध में भड़काऊ स्टोरी लगाई थी, जिसके बाद ये कार्रवाई की गई। स्थानीय स्तर पर इस मामले में सांप्रदायिक तनाव गहराने की कोशिश की जा रही है, ऐसा इस गिरफ़्तारी से खुलासा हुआ है।

यूपी पुलिस भी इस चीज को समझती है और इसीलिए सतर्क हो गई है। सोशल मीडिया पर पोस्ट की जा रही आपत्तिजनक सामग्रियों का निरीक्षण किया जा रहा है। ताज़ा घटना शनिवार (फ़रवरी 6, 2021) की है, जब झालू क्षेत्र के कानून गोयान मोहल्ले के रहने वाले मोहम्मद मोहसिन के बेटे नाज़िम को गिरफ्तार किया गया। उसने रचित जाट की हत्याकांड का जश्न मनाते हुए व्हाट्सएप्प पर स्टोरी लगाई थी।

उसमें उसने लिखा था, “गद्दी तेरी, ताज हमारा होगा, शहर कोई सा हो, राज हमारा होगा।” उसने रचित जाट की लाश और आरोपितों की तस्वीर शेयर कर ‘लव यू यारों’ भी लिखा था। इसके बाद से ही स्थानीय इलाके में सांप्रदायिक तनाव बढ़ने लगा था। सोशल मीडिया पर इसके स्क्रीनशॉट्स तेज़ी से वायरल होने से माहौल गरमा रहा था। एसपी के आदेश के बाद उसे तुरंत धर-दबोचा गया और गंभीर धाराओं में मुकदमा भी दर्ज किया जा रहा है। पुलिस ने चेताया है कि सोशल मीडिया के जरिए भड़काने वालों पर कार्रवाई होगी।

पुलिस ने जानकारी दी है कि रचित जाट जब बाजार से अपने दोस्त के लिए गिफ्ट खरीद रहा था, तब हमलावरों ने पीछे से उस पर गोलीबारी की। इससे उसकी मौत हो गई। सर्किल ऑफिसर कुलदीप कुमार गुप्ता ने बताया कि हमलावर और आरोपित पहले दोस्त हुआ करते थे। आरोपितों के खिलाफ NSA (राष्ट्रीय सुरक्षा कानून) के तहत कार्रवाई की जाएगी। झालू में पुलिस बल की तैनाती भी बढ़ा दी गई है।

बताते चलें कि बिजनौर जिले के हल्दौर के कस्बा झालू में सरे बाजार युवा रचित जाट को दिनदहाड़े गोलियों से भूनकर मौत के घाट उतार दिया गया था। अपराधी कत्ल कर मौका-ए-वारदात के पास ही दुकान के बाहर बैठ गए और आराम से सिगरेट पीते रहे। बीच-बीच में फायरिग कर तमंचे लहराते हुए गवाही देने वालों को जान से मारने की धमकी देते रहे। आरोपितों शारिक, सहजन, आसिफ आब्दी, शादाब और शहवर गिरफ्तार किए जा चुके हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

राहुल गाँधी ने POCSO एक्ट का किया उल्लंघन, NCPCR ने ट्वीट हटाने के दिए निर्देश: दिल्ली की पीड़िता के माता-पिता की फोटो शेयर की...

राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (NCPCR) ने राहुल गाँधी के ट्वीट पर संज्ञान लिया है और ट्विटर से इसके खिलाफ कार्रवाई करने की माँग की है।

‘धर्म में मेरा भरोसा, कर्म के अनुसार चाहता हूँ परिणाम’: कोरोना से लेकर जनसंख्या नियंत्रण तक, सब पर बोले CM योगी

सपा-बसपा को समाजिक सौहार्द्र के बारे में बात करने का कोई अधिकार नहीं है क्योंकि उनका इतिहास ही सामाजिक द्वेष फैलाने का रहा है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,975FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe