Tuesday, May 21, 2024
Homeदेश-समाजबेटी नेहा की हत्या पर कॉन्ग्रेस नेता को अपनी ही कॉन्ग्रेसी सरकार पर भरोसा...

बेटी नेहा की हत्या पर कॉन्ग्रेस नेता को अपनी ही कॉन्ग्रेसी सरकार पर भरोसा नहीं: CBI जाँच की माँग, कर्नाटक पुलिस पर दबाव में काम करने का आरोप

नेहा के पिता निरंजन हिरेमठ ने कहा, ''नेहा की हत्या के मामले में मैंने 8 लोगों के नाम स्पष्ट रूप से दिए हैं। उन्होंने एक भी व्यक्ति को नहीं गिरफ्तार किया है। इसलिए मेरा भरोसा अब जाँच से उठता जा रहा है। मामले को भटकाने की कोशिश हो रही है।"

फयाज के हाथों मारी गई नेहा के पिता और कॉन्ग्रेस पार्षद निरंजन हिरेमठ ने इस मामले अब सीबीआई जाँच की माँग की है। उन्होंने इस मामले में कर्नाटक पुलिस की कार्रवाई पर असंतोष व्यक्त किया है। उन्होंने आरोप लगाया कि हुबली कमिश्नर इस मामले में राज्य सरकार को गलत रिपोर्ट दे रही हैं।

नेहा के पिता निरंजन हिरेमठ ने कहा, ”नेहा की हत्या के मामले में मैंने 8 लोगों के नाम स्पष्ट रूप से दिए हैं। उन्होंने एक भी व्यक्ति को नहीं गिरफ्तार किया है। इसलिए मेरा भरोसा अब जाँच से उठता जा रहा है। मामले को भटकाने की कोशिश हो रही है। अगर उनसे यह जाँच नहीं हो रही तो जाँच को सीबीआई को सौंप दिया जाना चाहिए। कमिश्नर खुद एक महिला हैं तब भी वह एक युवती को हत्या को गंभीरता से नहीं ले रहीं। वह किसी दबाव में काम कर रही हैं। कमिश्नर का ट्रांसफर करके जाँच सीबीआई को दी जानी चाहिए।”

निरंजन हिरेमठ ने नेहा की हत्या के मामले में कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्दारमैया और गृह मंत्री जी परमेश्वरा पर भी गलत बयान देने के आरोप लगाए। उनके अनुसार, हुबली की कमिश्नर जाँच की गलत रिपोर्ट दे रही हैं, जिस कारण कॉन्ग्रेस के शीर्ष नेता गलत बयानी कर रहे हैं। उन्होंने माँग की कि हुबली की कमिश्नर को हटाया। उन्होंने कहा कि उनका विश्वास टूट गया है, वह अपनी ही पार्टियों के नेताओं से इस मामले में तेज जाँच और कार्रवाई की माँग करते हैं।

इससे पहले रविवार (21 अप्रैल, 2024) शाम को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और केन्द्रीय मंत्री प्रल्हाद जोशी भी निरंजन से मिलने पहुँचे। उन्होंने भी फयाज के हाथों नेहा की हत्या में सीबीआई जाँच की माँग की और कहा कि राज्य के मुख्यमंत्री और गृहमंत्री जाँच को डिरेल करने का प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि तुष्टिकरण के चलते ऐसा हो रहा है। नड्डा ने कहा कि अगर राज्य की पुलिस से जाँच नहीं हो पा रही तो मामला सीबीआई को सौंप दिया जाए।

गौरतलब है कि कर्नाटक के हुबली में गुरुवार (18 अप्रैल, 2024) को फयाज नाम के एक युवक ने नेहा नाम की हिन्दू युवती की चाकुओं से गोद कर हत्या कर दी। वह नेहा का पहले इन्तजार कर रहा था और जब वह कॉलेज से बाहर आई तो उसने चाकुओं से हमला कर दिया। नेहा की इस हमले में मौत हो गई। फयाज को इस हमले के बाद पकड़ लिया गया था।

बताया जा रहा है कि फयाज युवती पर उसके साथ रिलेशनशिप में आने का दबाव बना रहा था और लड़की ने इससे इनकार कर दिया। ऐसे में फयाज उसका महीनों पीछा करता था। घटना वाले दिन जब नेहा उसके सामने आई तो उसने उसके गले पर वार किए, जो बताते हैं कि उसकी मंशा नेहा को जान से ही मारने की थी।

पुलिस की जाँच में भी सामने आया है कि फयाज अपने दोस्तों से बोलते हुए फिरता था कि जिस लड़की ने उसका ऑफर ठुकराया है वो उसे खत्म कर देगा। मामले के बारे में बताते हैं सिटी पुलिस कमिशनर रेणुका एस सुकुमार ने कहा वे दोनों (पिछले साल तक) बीसीए साथ में पढ़ रहे थे। लेकिन, बीसीए के बाद नेहा ने अपनी पढ़ाई जारी रखी और फयाज ने छोड़ दी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जहाँ से लड़ रही लालू की बेटी, वहाँ यूँ ही नहीं हुई हिंसा: रामचरितमानस को गाली और ‘ठाकुर का कुआँ’ से ही शुरू हो...

रामचरितमानस विवाद और 'ठाकुर का कुआँ' विवाद से उपजी जातीय घृणा ने लालू यादव की बेटी के क्षेत्र में जंगलराज की यादों को ताज़ा कर दिया है।

निजी प्रतिशोध के लिए हो रहा SC/ST एक्ट का इस्तेमाल: जानिए इलाहाबाद हाई कोर्ट को क्यों करनी पड़ी ये टिप्पणी, रद्द किया केस

इलाहाबाद हाई कोर्ट ने एक मामले की सुनवाई करते हुए SC/ST Act के झूठे आरोपों पर चिंता जताई है और इसे कानून प्रक्रिया का दुरुपयोग माना है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -