Friday, July 30, 2021
Homeदेश-समाज'माँ हूँ, महान नहीं बनना चाहती, 7 साल पहले बेटी की जान गई, अब...

‘माँ हूँ, महान नहीं बनना चाहती, 7 साल पहले बेटी की जान गई, अब मैं इंसाफ़ चाहती हूँ’

"मैं कंगना रनौत के बयान से सहमत हूँ और मैं उनका धन्यवाद करती हूँ। मैं किसी की तरह महान नहीं बनना चाहती। मैं एक माँ हूँ और सात साल पहले मेरी बेटी की जान गई है और मैं इंसाफ़ चाहती हूँ।"

निर्भया के दोषियों पर बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत ने चौराहे पर फाँसी देने की माँग की है। उनके इस बयान के बाद निर्भया की माँ आशा देवी ने भी अपनी प्रतिक्रिया दर्ज की है। कंगना के बयान पर सहमति जताते हुए उन्होंने कहा कि वह अपनी बेटी के इंसाफ़ के लिए लड़ रहे हैं। उन्होंने कंगना से मिले समर्थन पर आभार भी व्यक्त किया। कंगना रनौत ने फाँसी की सज़ा का समर्थन करते हुए सुप्रीम कोर्ट की वकील इंदिरा जयसिंह की भी कड़े शब्दों में आलोचना की थी।

कंगना रनौत ने निर्भया के दोषी के नाबालिग होने वाली बात पर कहा था,

“इस घटना में एक दोषी नाबालिग था, जो रेप करता है। जो रेप करने के काबिल है उसे किस हिसाब से नाबालिग बताया जा सकता है। ऐसे लोगों को चौराहे पर फाँसी दे देनी चाहिए। ऐसे दोषियों को पता होना चाहिए कि रेप क्या होता है और इसकी सज़ा क्या होती है।”

निर्भया की माँ ने कंगना का आभार जताते हुए कहा, “मैं कंगना रनौत के बयान से सहमत हूँ और मैं उनका धन्यवाद करती हूँ। मैं किसी की तरह महान नहीं बनना चाहती। मैं एक माँ हूँ और सात साल पहले मेरी बेटी की जान गई है और मैं इंसाफ़ चाहती हूँ।” 

इसके अलावा, उन्होंने कहा, “वरिष्ठ अधिवक्ता इंदिरा जयसिंह ने जिस तरह से मुझसे सवाल किया। ये मानव अधिकारों के नाम पर समाज को धोखा देना है। बच्चियों के साथ हो रहे अपराधों का मज़ाक बनाना है। ये मानव अधिकारों के नाम पर बिज़नेस चलाते हैं और सिर्फ़ और सिर्फ़ मुजरिमों को सपोर्ट करते हैं।”

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट की वरिष्ठ वकील इंदिरा जयसिंह ने निर्भया की माँ से दोषियों को माफ़ करने का अनुरोध किया था। उन्होंने कहा था,

“मैं आशा देवी के दर्द को अच्छी तरह से समझती हूँ, मैं उनसे आग्रह करती हूँ कि वह सोनिया गाँधी के उदाहरण का अनुसरण करें। उन्होंने नलिनी को माफ़ कर दिया था और कहा था कि वह उसके लिए मौत की सज़ा नहीं चाहती हैं। हम आपके साथ हैं लेकिन मौत की सज़ा के ख़िलाफ़ हैं।”

इसके जवाब में निर्भया की माँ ने अपनी प्रतिक्रिया दर्ज कराते हुए कहा था, “मुझे ऐसा सुझाव देने वाली इंदिरा जयसिंग कौन हैं? पूरा देश चाहता है कि दोषियों को फाँसी दी जाए। सिर्फ़ उनके जैसे लोगों की वजह से बलात्कार की पीड़िताओं के साथ न्याय नहीं हो पाता है।”

‘अपनी बेटी के बलात्कारियों को माफ कर दो’ – निर्भया की माँ ने SC की वरिष्ठ महिला वकील को इस सलाह पर लताड़ा

‘इन जैसी कोख से पैदा होते हैं रेपिस्ट, इन्हें 4 दिन बलात्कारियों के साथ रखो’- SC की वकील पर कंगना का गुस्सा

निर्भया गैंगरेप: नया डेथ वारंट जारी, अब 1 फरवरी को फाँसी पर लटकाए जाएँगे चारों दोषी

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सिद्धू के नाम ऑडियो, कॉन्ग्रेस कार्यकर्ता की आत्महत्या: कहा – ‘पार्टी को 30 साल दिए, शादी भी नहीं… कोई फायदा नहीं’

ऑडियो के मुताबिक किसी प्लॉट संबंधी एक मामले में बाजवा को फँसाने की तैयारी चल रही थी, इसी से आहत होकर उन्होंने आत्महत्या का फैसला किया।

कॉन्ग्रेसी CM, बेटी के ससुराल का मेडिकल कॉलेज और विधानसभा से बिल पास: धोखाधड़ी, ₹125 करोड़ का कर्ज – आरोप ही आरोप

छत्तीसगढ़ में 125 करोड़ के कर्ज में डूबा मेडिकल कॉलेज सीएम भूपेश बघेल की बेटी के ससुराल का है। इसके अधिग्रहण के लिए बिल पास कर...

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,956FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe