Tuesday, June 18, 2024
Homeदेश-समाजUP सरकार से सैलरी लेने वाला क्लर्क निजामुद्दीन गिरफ्तार, CM योगी पर की थी...

UP सरकार से सैलरी लेने वाला क्लर्क निजामुद्दीन गिरफ्तार, CM योगी पर की थी अभद्र टिप्पणी

28 अगस्त को मुख्यमंत्री योगी के खिलाफ अपनी फेसबुक आईडी से अभद्र टिप्पणी करने वाले आरोपित निजामुद्दीन सिद्दीकी को गिरफ्तार कर लिया गया है। निजामुद्दीन उत्तर प्रदेश सरकार में ही क्लर्क के तौर पर काम करता है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर अभद्र टिप्पणी करने वाले PWD क्लर्क को पुलिस ने ​गिरफ्तार कर लिया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, बाँदा जिले में लोक निर्माण विभाग (PWD) में क्लर्क के पद पर तैनात निजामुद्दीन सिद्दीकी ने फेसबुक पर सीएम योगी पर कथित रूप से अभद्र टिप्पणी की थी।

जिस राज्य में नौकरी, वहीं के मुख्यमंत्री के खिलाफ अपशब्द! इसे लेकर क्लर्क निजामुद्दीन सिद्दीकी को लेकर लोगों में खासा रोष देखने को मिला था। उन्होंने सोशल मीडिया पर सीएम योगी को अपमानित करने वाले निजामुद्दीन सिद्दीकी के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई करने की माँग की थी।

जब पुलिस की नजर इस पर पड़ी, तब वे आरोपित का पता लगाने में जुट गए। छानबीन के बाद पुलिस ने केस दर्ज कर निजामुद्दीन को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने बताया कि 28 अगस्त को पुलिस द्वारा सोशल मीडिया पर मुख्यमंत्री के खिलाफ अपनी फेसबुक आईडी से अभद्र टिप्पणी करने वाले अभियुक्त निजामुद्दीन सिद्दीकी को गिरफ्तार कर लिया गया है।

आरोपित निजामुद्दीन सिद्दीकी लोक निर्माण विभाग (PWD) में क्लर्क के पद पर कार्यरत है। उसके खिलाफ मामला दर्ज कर कानूनी कार्रवाई की जा रही है।

बता दें कि दो दिन पहले (27 अगस्त) मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ मोबाइल पर कथित रूप से अपमानजनक भाषा का इस्तेमाल करने पर यूपी पुलिस ने बलिया के रहने वाले अंकित यादव नाम के एक युवक को भी गिरफ्तार किया था।

इस मामले में बलिया पुलिस अधीक्षक रामकरन नैय्यर ने बताया था कि नगरा थाना में गुरुवार (26 अगस्त) रात को हिंदू युवा वाहिनी के जिला मंत्री राजीव सिंह चंदेल की शिकायत पर एक अज्ञात के खिलाफ भारतीय दंड संहिता और सूचना प्रौद्यागिकी अधिनियम से संबंधित धाराओं में मामला दर्ज किया गया। छानबीन के बाद आरोपित अंकित यादव को शुक्रवार (27 अगस्त) को गिरफ्तार कर लिया गया।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

दलितों का गाँव सूना, भगवा झंडा लगाने पर महिला का घर तोड़ा… पूर्व DGP ने दिखाया ममता बनर्जी के भतीजे के क्षेत्र का हाल,...

दलित महिला की दुकान को तोड़ दिया गया, क्योंकि उसके बेटे ने पंचायत चुनाव में भाजपा की तरफ से चुनाव लड़ा था। पश्चिम बंगाल में भयावह हालात।

खालिस्तानी चरमपंथ के खतरे को किया नजरअंदाज, भारत-ऑस्ट्रेलिया संबंधों को बिगाड़ने की कोशिश, हिंदुस्तान से नफरत: मोदी सरकार के खिलाफ दुष्प्रचार में जुटी ABC...

एबीसी न्यूज ने भारत पर एक और हमला किया और मोदी सरकार पर ऑस्ट्रेलिया में रहने वाले खालिस्तानियों की हत्या की योजना बनाने का आरोप लगाया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -