Wednesday, May 18, 2022
Homeदेश-समाजसफल हुआ कोरोना से निपटने का 'गोवा मॉडल': राज्य में अब एक भी मरीज...

सफल हुआ कोरोना से निपटने का ‘गोवा मॉडल’: राज्य में अब एक भी मरीज नहीं, 16 दिनों से एक भी नया केस नहीं

वामपंथियों द्वारा केरल मॉडल की खूब चर्चा होती थी, जबकि जनसंख्या और मरीजों के अनुपात को देखें तो उत्तर प्रदेश कोरोना से निपटने में बेहतर कर रहा है। लेकिन, महाराष्ट्र और केरल की सरकारों की वाहवाही के लिए दोनों राज्यों का मॉडल रचा गया, जिसमें सेलेब्रिटीज से ट्वीट करवाए गए।

गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने ऐलान किया है कि राज्य अब कोरोना से मुक्त हो गया है क्योंकि वहाँ एक भी नेगेटिव मामला नहीं है। अर्थात, गोवा में अब कोरोना वायरस से संक्रमण का कोई भी सक्रिय केस नहीं है। मुख्यमंत्री डॉक्टर सावंत ने कहा कि ये गोवा के लिए संतुष्टि और राहत की बात है। उन्होंने जानकारी दी कि सभी कोरोना पॉजिटिव मरीज का टेस्ट नेगेटिव आया है। उन्होंने सभी डॉक्टरों, मेडिकल और पैरा मेडिकल कर्मचारियों को बधाई देते हुए कहा कि वो इन सभी का धन्यवाद करते हैं।

गोवा में पिछले 16 दिनों से कोरोना वायरस का कोई भी नया मामला नहीं आया है। सीएम सावंत ने बताया कि 3 अप्रैल से लेकर अब तक गोवा में कोरोना का कोई केस नहीं निकला है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी टैग कर के इस बात की जानकारी दी और ‘गोवा फाइट्स कोरोना’ का नारा दिया। कई लोगों ने भी डॉक्टर सावंत को धन्यवाद दिया और कहा कि उन्होंने राज्य के रक्षक की तरह 24 घंटे लग कर राज्य को ये उपलब्धि दिलाई है। कइयों ने लिखा कि इन परिस्थितियों में ये काफ़ी अच्छी ख़बर है।

बता दें कि अब तक वामपंथियों द्वारा केरल मॉडल की खूब चर्चा होती थी, जबकि जनसंख्या और मरीजों के अनुपात को देखें तो उत्तर प्रदेश कोरोना से निपटने में बेहतर कर रहा है। लेकिन, महाराष्ट्र और केरल की सरकारों की वाहवाही के लिए दोनों राज्यों का मॉडल रचा गया, जिसमें सेलेब्रिटीज से ट्वीट करवाए गए। अनजाने में अभिनेत्री उर्वशी रौतेला के खुलासे के बाद महाराष्ट्र की पोल खुल गई क्योंकि ये साबित हो गया कि सभी ट्वीट्स ठाकरे सरकार ने करवाए थे। केरल सरकार का गुणगान शुरू कर दिया गया, ताकि योगी सरकार के कामकाज की चर्चा न हो।

गोवा के स्वास्थ्य मंत्री विश्वजीत राणे ने भी डॉक्टरों और सभी कोरोना वारियर्स की प्रशंसा करते हुए राज्य के कोरोना फ्री होने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि शून्य की भी अपनी ही महत्ता होती है, गोवा में कोरोना के सक्रिय मरीजों की संख्या शून्य पर है। हालाँकि, उन्होंने कहा कि कोरोना का एक भी मामला होने का मतलब ये नहीं कि लॉकडाउन का फिर सोशल डिस्टेन्सिंग का ख्याल नहीं रखा जाएगा। ये सब चलता रहेगा। यानी, राज्य व केंद्र सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों का पालन यूँ ही जारी रहेगा।

बता दें कि गोवा में कोरोना वायरस के कुल 7 मामले आए थे। राहत की बात ये है कि इनमें से किसी की भी मौत नहीं हुई और अब होकर घर जा चुके हैं। केरल में कोरोना वायरस के अब तक 400 मामले आए हैं, जिनमें से 2 की मौत हो गई। हालाँकि, वहाँ 257 लोग ठीक हो चुके हैं, जो कि काफी राहत की बात है। 140 सक्रिय मामले भी भी बचे हुए हैं, जिनका इलाज जारी है। महारष्ट्र अभी भी टॉप पर बना हुआ है, जो गोवा के पड़ोस में ही है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सबा नकवी ने एटॉमिक रिएक्टर को बता दिया शिवलिंग, विरोध होने पर डिलीट कर माँगी माफ़ी: लोग बोल रहे – FIR करो

सबा नकवी ने मजाक उड़ाते हुए कहा कि भाभा एटॉमिक रिसर्च सेंटर में सबसे बड़े शिवलिंग की खोज हुई। व्हाट्सएप्प फॉरवर्ड बता कर किया शेयर।

गुजरात में बुरी तरह फेल हुई AAP की ‘परिवर्तन यात्रा’, पंजाब से बुलाई गाड़ियाँ और लोग: खाली जगह की ओर हाथ हिलाते रहे नेता

AAP नेता और पूर्व पत्रकार इसुदान गढ़वी रैली में हाथ दिखाकर थक चुके थे लेकिन सामने कोई उनकी बात का जवाब नहीं दे रहा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
186,677FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe