Monday, June 17, 2024
Homeदेश-समाजपाकिस्तान की सीमा के बाद अब बांग्लादेश से बच्चा लेकर आई सोनिया अख्तर, नोएडा...

पाकिस्तान की सीमा के बाद अब बांग्लादेश से बच्चा लेकर आई सोनिया अख्तर, नोएडा पुलिस से कहा- सौरव के साथ रहना चाहती हूँ, शादी कर छोड़ आया

सोनिया के अनुसार शादी के कुछ समय बाद सौरव उसे छोड़कर भारत लौट आया। सोमवार को उसने इस संबंध में नोएडा पुलिस को शिकायत दी। इस मामले की जाँच एसीपी महिला सुरक्षा को सौंपी गई है।

पाकिस्तान की सीमा हैदर की तरह ही अब बांग्लादेश की सोनिया अख्तर नोएडा आई है। वह सौरव कांत तिवारी की तलाश में है, जिसने कथित तौर पर ढाका में उससे शादी की थी। फिर उसे छोड़कर भारत आ गया।

वैसे सीमा हैदर से उलट सोनिया वैध कागजातों के साथ भारत आई है। गोद में एक साल बेटे को लेकर नोएडा पहुँची सोनिया का कहना है कि वह अपने पति के साथ रहना चाहती है। उसके अनुसार नोएडा के सूरजपुर के रहने वाले सौरव कांत तिवारी ने तीन साल पहले उससे ढाका में शादी की थी।

सोनिया के अनुसार शादी के कुछ समय बाद सौरव उसे छोड़कर भारत लौट आया। सोमवार (21 अगस्त 2023) को उसने इस संबंध में नोएडा पुलिस को शिकायत दी। इस मामले की जाँच एसीपी महिला सुरक्षा को सौंपी गई है।

रिपोर्ट के मुताबिक, ढाका की रहने वाली सोनिया नोएडा के महिला थाने पहुँची थी। उसका दावा है कि 14 अप्रैल 2021 को उसकी सौरव से शादी हुई थी।

पुलिस को महिला ने ये भी बताया कि सौरव जनवरी 2017 से दिसंबर 2021 तक ढाका के कल्टी मैक्स एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड में ज़ॉब करता था। सोनिया ने पुलिस को अपने और बेटे के पासपोर्ट, वीजा और सिटिजन कार्ड भी दिए हैं।

गौरतलब है कि चार बच्चों के साथ भारत आई सीमा हैदर का मामला काफी चर्चित रहा है। कथित तौर पर नोएडा के रबूपूरा के सचिन के साथ उसे पबजी पर प्यार हुआ था। इसके बाद अपने शौहर को छोड़कर वह बच्चों के साथ नोएडा आ गई थी। वह अवैध तरीके से भारत में दाखिल हुई थी। सीमा ने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को अर्जी भेज भारत की नागरिकता देने की गुहार भी लगाई थी। उसने कहा था कि वह जेल में जिंदगी गुजार देगी, लेकिन पाकिस्तान नहीं जाएगी। उसने सचिन को अपनी जिंदगी बताते हुए कहा था कि उसका एक ही गुनाह है कि वह नेपाल के रास्ते भारत में घुसी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ऋषिकेश AIIMS में भर्ती अपनी माँ से मिलने पहुँचे CM योगी आदित्यनाथ, रुद्रप्रयाग हादसे के पीड़ितों को भी नहीं भूले

उत्तराखंड के ऋषिकेश से करीब 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित यमकेश्वर प्रखंड का पंचूर गाँव में ही योगी आदित्यनाथ का जन्म हुआ था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -