Sunday, October 2, 2022
Homeदेश-समाजNSUI महासचिव अखलाक अहमद को ग्रामीणों ने जूते-चप्पल से पीटा, ठगी कर खाते से...

NSUI महासचिव अखलाक अहमद को ग्रामीणों ने जूते-चप्पल से पीटा, ठगी कर खाते से निकालता था पैसे

पिटाई के बाद ग्रामीणों ने उन्हें शंकरगढ़ थाने पुलिस को सुपुर्द कर दिया। महिला में थाने ने दोनों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करवाई। पूछताछ के दौरान एनएसयूआई कार्यकर्ताओं ने ठगी की बात स्वीकार कर ली।

छत्तीसगढ़ के बलरामपुर जिले में कॉन्ग्रेस की छात्र इकाई NSUI के महासचिव की जूते और चप्पलों से जमकर पिटाई की खबर सामने आई है। आरोप है एनएसयूआई महासचिव अखलाक अहमद ने गाँव की महिला को बेवकूफ बनाते हुए उसके खाते से 10 हजार रुपए निकल लिए थे। घटना के दौरान एनएसयूआई का एक और सदस्य गुड्डू भी उसके साथ था।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, एनएसयूआई महासचिव अपने एक कार्यकर्ता के साथ 22 जनवरी को गाँव की एक महिला के घर पहुँचा था। जहाँ उसने महिला से कहा कि वे बिना कमीशन लिए बैंक खाते से रुपए निकालते हैं। उसकी बातों पर विश्वास कर महिला अपना आधार कार्ड लेकर आई और बायोमैट्रिक मशीन में अँगूठा लगाकर दे दिया।

साभार: सुदर्शन न्यूज़

महिला के अँगूठा लगाने के बाद NSUI कार्यकर्ताओं ने कहा कि सर्वर फेल हो गया है और पैसा नहीं निकला है, हालाँकि जब महिला बैंक पहुँची तो उसे उसे इस ठगी का पता चला कि उसके बैंक से 10,000 निकाले जा चुके हैं। जिसके बाद महिला ने रोते हुए इस घटना की खबर पूरे गाँव को बताई।

घटना के 6 दिन बाद 28 जनवरी को दोनों आरोपित फिर उसी गाँव पहुँचे। इस बार उन्होंने पीएम आवास का बहाना बनाया। गाँव पहुँच कर उन्होंने एक महिला से कहा कि वे यह चेक करने आए हैं कि उसका पीएम आवास एलॉट हुआ है या नहीं। इसके बाद उन्होंने महिला का अँगूठा लगवाया और उसके खाते से 500 रुपए गबन कर लिया। अन्य महिलाओं को भी उन्होंने अपने इसी जाल में फँसाया।

इसी दौरान उस महिला ने उन्हें पहचान लिया जिसके खाते से दस हजार रुपए निकाले गए थे। पीड़ित महिला ने गाँववालों को इसकी सूचना दे दी। इसके बाद गाँव वालों ने उन्हें जमकर लात-मुक्के, जूते-चप्पलों से पीटा।

पिटाई के बाद ग्रामीणों ने उन्हें शंकरगढ़ थाने पुलिस को सुपुर्द कर दिया। महिला में थाने ने दोनों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करवाई। पूछताछ के दौरान एनएसयूआई कार्यकर्ताओं ने ठगी की बात स्वीकार कर ली।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मार दिया है, लाश उठा लो’ : दिल्ली में सरेआम फैजान, बिलाल और आलम ने मनीष को 60 बार चाकू घोंपा, लोग देखते रहे;...

फैजान, बिलाल और आलम ने दिल्ली के सुंदर नगरी में मनीष की चाकुओं से गोद कर हत्या कर दी। पूरी घटना सीसीटीवी में कैद हो गई है।

‘हेलो की जगह अब से बोलें वंदे मातरम’: महाराष्ट्र में शिंदे सरकार ने जारी किया सर्कुलर, सरकारी अधिकारियों और स्कूल-कॉलेजों पर लागू होगा

महाराष्ट्र सरकार ने प्रदेश के सभी कर्मचारियों को हेलो के बजाए वंदे मातरम कहकर अभिवादन करने का निर्देश दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
225,776FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe