Saturday, October 23, 2021
Homeदेश-समाज'इस्लाम कबूल कर नहीं तो मार कर फेंक दूँगा': हाई कोर्ट पहुँचा केस तब...

‘इस्लाम कबूल कर नहीं तो मार कर फेंक दूँगा’: हाई कोर्ट पहुँचा केस तब अब्दुल के चंगुल से छुड़ाई गई हिंदू लड़की

मौका पाकर लड़की ने अपनी माँ को फोन किया। बताया कि अब्दुल उस पर धर्म परिवर्तन का दबाव बना रहा है। उसका शोषण कर रहा है। उसे पुरी के किसी होटल में रखा गया है और निकाह के लिए कटक के किसी मस्जिद में ले जाया जाएगा।

ओडिशा के जयपुर जिले के धर्मशाला से किडनैप हुई 21 साल की हिंदू युवती को पुलिस ने आखिरकार 13 दिन बाद खोज निकाला। अपहरणकर्ता की मंशा युवती का धर्मांतरण करवाकर उससे जबरन निकाह करने की थी।

पुलिस के रवैए से आजिज होकर 15 दिसंबर को लड़की के पिता ने ओडिशा हाई कोर्ट में दरख्वास्त लगाई थी। उन्होंने आरोप लगाया था कि लगातार शिकायतें करने के बाद भी पुलिस उनकी बेटी को खोजने में असफल रही है।

कथित तौर पर युवती का अपहरण 5 दिसंबर 2020 को जयपुर जिले के वीएन कॉलेज से हुआ था। वह उस समय अपना माइग्रेशन सर्टिफिकेट लेने गई थी। रिपोर्ट के अनुसार, लड़की के घरवालों ने उसकी तलाश के लिए पुलिस से कई बार संपर्क किया। लेकिन उन्हें नजरअंदाज किया जाता रहा।

परिवार वालों ने बताया कि अब्दुल सहमत खान उर्फ बॉबी नाम का एक लड़का उनकी बेटी का पीछा करता था और उस पर निकाह का दबाव बनाता था। मगर तब भी पुलिस ने सुनवाई नहीं की। ऐसे में उन्होंने जयपुर के एसपी को भी संपर्क किया और उनसे हस्तक्षेप की माँग की।

इसके बाद, एक दिन अचानक लड़की ने अपनी माँ को कॉल किया और फोन पर बताया कि सहमत खान ने उसका अपहरण किया हुआ है और उससे इस्लाम कबूल करवाना चाहता है। लड़की ने यह भी बताया कि सहमत खान उसे धमकियाँ देकर उसका शोषण भी करता है। 

उसने कहा कि अब्दुल ने उससे कहा है कि अगर उसने धर्म परिवर्तन करने से मना किया तो वह उसे मार कर उसका शव फेंक देगा। लड़की ने फोन पर अपनी माँ को यह भी जानकारी दी कि उसे पुरी के किसी होटल में रखा गया है और यहाँ से उसे निकाह के लिए कटक के किसी मस्जिद में ले जाया जाएगा। 

यह ऑडियो रिकॉर्डिंग इस समय सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। इसमें सुन सकते हैं कि लड़की अपनी माँ से मदद माँग रही है।

पुलिस की निष्क्रियता देखने के बाद लड़की के पिता ने 15 दिसंबर को ओडिशा हाईकोर्ट को संपर्क किया और अपील की कि वह पुलिस को इस संबंध में निर्देश दें। अपनी याचिका में पिता ने बताया कि लगातार शिकायत, निवेदन पत्र, एफआईआर और कई बार थाने जाने के बाद भी उनके मामले पर सुनवाई नहीं हुई और न उनकी बेटी को बचाने का प्रयास हुआ।

याचिका में पिता ने आरोप लगाया कि सहमत खान लड़की का धर्म परिवर्तन करवाकर उससे निकाह करना चाहता था। जब लड़की ने मना किया तो उसका अपहऱण कर लिया।

हाई कोर्ट में याचिका डाले जाने के बाद लड़की को बचाया गया

पिता के हाईकोर्ट पहुँचने के बाद पुलिस ने मामले पर गंभीरता से संज्ञान लिया। उन्होंने सहमत खान के पिता शेख अब्दुल हामिद खान को पकड़ा और उसे कोर्ट में पेश करके 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा। 17 दिसंबर को आखिरकार लड़की ढूँढ ली गई। पुलिस छापेमारी में युवती कटक शहर के जगतपुर इलाके से बरामद हुई। बाद में पुलिस ने सहमत खान को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘हिन्दुओ, औकात में रहो! तुम्हारी महिलाएँ हमारी हरम का हिस्सा थीं, दासी थीं’: यूपी पुलिस के हत्थे चढ़ा सपा नेता अदनान खान, हो रही...

ये फेसबुक पोस्ट आंबेडकर नगर के टांडा विधानसभा क्षेत्र में सपा यूथ विंग के विधानसभा अध्यक्ष अदनान खान का है, जिसमें हिन्दुओं को धमकी दी गई है।

जहाँ दकियानूसी ईसाई चला रहे टीके के खिलाफ अभियान, उन्हीं की मीडिया को करारा जवाब है भारत का 100+ करोड़

100 करोड़ का ये आँकड़ा भारत/भारतीयों के बारे में सदियों से फैलाए झूठ (अनपढ़, अनुशासनहीन, अराजक, स्वास्थ्य सुविधाहीन आदि) की बखियाँ उधेड़ रहा है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
131,033FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe