Tuesday, September 28, 2021
Homeदेश-समाज15 अगस्त से एक दिन पहले BJP विधायक उमेश मलिक पर 'किसान' आंदोलन वालों...

15 अगस्त से एक दिन पहले BJP विधायक उमेश मलिक पर ‘किसान’ आंदोलन वालों ने किया हमला, ईंट-पत्थर से तोड़े कार के शीशे

पूरी घटना की एक वीडियो भी सामने आई है। इसमें देख सकते हैं कि बीजेपी नेता की कार पर कैसे भीड़ ने हमला किया और तब तक पीछे दौड़ती रही जब तक गाड़ी आगे नहीं चली गई।

स्वतंत्रता दिवस (15 अगस्त) से ठीक एक दिन पहले किसान प्रदर्शनकारियों का उपद्रवी चेहरा एक बार फिर सामने आया है। खबर है कि उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले के सिसौली गाँव में भाजपा विधायक उमेश मलिक की कार पर भारतीय किसान यूनियन के कार्यकर्ताओं ने भीड़ के साथ हमला बोला। इस दौरान भाजपा नेता की गाड़ी पर ईंट-पत्थर फेंक कर उसके शीशे तोड़ दिए गए।

बता दें कि सिसौली, भाकियू नेता राकेश टिकैत का ही गाँव है। जहाँ से भाजपा नेता आज जन कल्याण समिति से जुड़े एक कार्यक्रम को अटेंड करके वापस लौट रहे थे। लेकिन, इसी दौरान काफी संख्या में लोग इकट्ठा हुए और मुर्दाबाद के नारे लगाते हुए उनकी गाड़ी पर हमला बोल दिया।

पूरी घटना की एक वीडियो भी सामने आई है। इसमें देख सकते हैं कि बीजेपी नेता की कार पर कैसे भीड़ ने हमला किया और तब तक पीछे दौड़ती रही जब तक गाड़ी आगे नहीं चली गई। इस हमले के बाद गनीमत बस यही रही कि गाड़ी में बैठे भाजपा नेता को कोई चोट नहीं आई। वह बाल बाल बचे। हमले में ग्रामीणों ने भाजपा नेता की गाड़ी के शीशे तोड़े, गोबर के साथ काला तेल फेंका और ईंट-पत्थर मारे।

कहा जा रहा है कि पूरे विरोध प्रदर्शन के दौरान किसान नेता सरदार वीएम सिंह और पुलिस कर्मी भी मौजूद थे। मगर, भीड़ को किसी ने नहीं रोका, विधायक किसी तरह वहाँ से अपनी गाड़ी लेकर चले गए। इस हमले की जानकारी जब केंद्रीय राज्यमंत्री डॉ संजीव बालियान को हुई तो वह मामले की नामजद एफआईआर दर्ज कराने के लिए सीधे भौरा कलां थाने पहुँचे। हालात को देखते हुए एहतियातन सिसौली गाँव में भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। दूसरी ओर BKU राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत ने पंचायत बुलाई।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

महंत नरेंद्र गिरि के मौत के दिन बंद थे कमरे के सामने लगे 15 CCTV कैमरे, सुबूत मिटाने की आशंका: रिपोर्ट्स

पूरा मठ सीसीटीवी की निगरानी में है। यहाँ 43 कैमरे लगाए गए हैं। इनमें से 15 सीसीटीवी कैमरे पहली मंजिल पर महंत नरेंद्र गिरि के कमरे के सामने लगाए गए हैं।

अवैध कब्जे हटाने के लिए नैतिक बल जुटाना सरकारों और उनके नेतृत्व के लिए चुनौती: CM योगी और हिमंता ने पेश की मिसाल

तुष्टिकरण का परिणाम यह है कि देश के बहुत बड़े हिस्से पर अवैध कब्जा हो गया है और उसे हटाना केवल सरकारों के लिए कानून व्यवस्था की चुनौती नहीं बल्कि राष्ट्रीय सभ्यता के लिए भी चुनौती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
124,823FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe