Tuesday, January 25, 2022
Homeदेश-समाज'लव जिहाद' कानून के खिलाफ SC में 2 याचिकाएँ दाखिल, कहा- किसी को फँसाने...

‘लव जिहाद’ कानून के खिलाफ SC में 2 याचिकाएँ दाखिल, कहा- किसी को फँसाने के लिए ये बनेगा शक्तिशाली उपकरण

इन याचिकाओं में कहा गया है कि ये उत्तर प्रदेश का लव जिहाद कानून और उत्तराखंड का कानून आर्टिकल 21 के तहत मिलने वाले निजता के अधिकार और आर्टिकल 25 के तहत मिलने वाले धार्मिक स्वतंत्रता के अधिकार का उल्लंघन करते हैं।

उत्तर प्रदेश में ग्रूमिंग जिहाद (लव जिहाद) के बढ़ते मामलों पर अंकुश लगाने के लिए लाए गए धर्मांतरण अध्यादेश को सुप्रीम कोर्ट में 2 याचिका दाखिल करके चुनौती दी गई है। इन याचिकाओं में माँग की गई है कि अध्यादेश को असंवैधानिक घोषित करके इसे लागू न करने का निर्देश दिया जाए।

गौरतलब है कि पिछले दिनों ग्रूमिंग जिहाद को रोकने के लिए योगी सरकार ने ऐतिहासिक कदम उठाते हुए कैबिनेट की बैठक में उत्तर प्रदेश विधि विरुद्ध धर्म संपरिवर्तन प्रतिषेध अध्यादेश-2020 को मंजूरी दी थी।

ऐसे में इसके ख़िलाफ कई लोगों ने आवाज उठाई और इसको संविधान के ख़िलाफ़ बताया। अब सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिकाओं में एक याचिका दिल्ली के एक वकील की है और दूसरी दिल्ली व प्रयागराज में वकालत पढ़ रहे छात्रों की है।

इन याचिकाओं में कहा गया है कि ये उत्तर प्रदेश का लव जिहाद कानून और उत्तराखंड का कानून आर्टिकल 21 के तहत मिलने वाले निजता के अधिकार और आर्टिकल 25 के तहत मिलने वाले धार्मिक स्वतंत्रता के अधिकार का उल्लंघन करते हैं।

याचिकाकर्ताओं ने दलील दी है कि संसद के पास मौलिक अधिकारों में संशोधन करने की कोई शक्ति नहीं है और यदि यह अध्यादेश लागू किया जाता है तो यह बड़े पैमाने पर जनता को नुकसान पहुँचाएगा और समाज में अराजक स्थिति पैदा करेगा।

इस याचिका में यह भी कहा गया है कि यह कानून स्पेशन मैरेज एक्ट के प्रावधानों का उल्लंघन करता है और समाज में डर पैदा करता है। इसके अलावा, इस बात का भी उल्लेख है कि इस अध्यादेश के जरिए किसी भी व्यक्ति को गलत तरीके से फँसाने का काम भी होगा और यह अध्यादेश ऐसे बुरे तत्वों के लिए शक्तिशाली उपकरण बनेगा।

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में धर्मांतरण अध्यादेश आने के बाद बरेली के एक लव जिहाद केस में आज उवैश खान नामक लड़के की पहली गिरफ्तारी हुई। उवैश पर आरोप है कि वह शादीशुदा महिला पर धर्म परिवर्तन करके शादी का दबाव बना रहा था।

एफआईआर के मुताबिक, वह लड़की को पिछले तीन साल से प्रताड़ित कर रहा था और उसकी शादी के बाद उसके घर में घुसकर धमकी दे आया था कि वो उसकी शादी तुड़वाकर खुद निकाह करेगा। आज गिरफ्तारी के बाद उवैश को अदालत में पेश किया गया था। जहाँ से उसे जेल भेज दिया गया।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

5 भाषाओं में गाने वाले धृतिश्मन से लेकर PM Cares के लिए म्यूजिकल चैरिटी करने वाली साक्षी तक: PM मोदी ने बच्चों को किया...

"5 वर्षीय धृतिश्मन ने इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स 2021 हासिल कर सबसे कम उम्र के बहुभाषी गायक के रूप में मिसाल कायम की है।

‘आतंकियों से भी ज्यादा खतरनाक है ये, चंदा खा जाती है’: राना अयूब को सऊदी वाले लगातार दे रहे डोज पर डोज, कहा –...

आतंकवादियों के समर्थन का आरोप लगा कर सऊदी अरब वाले राना अयूब पर निशाना साध रहे हैं, लेकिन इसके लिए भी वो पीएम मोदी को ही दोषी ठहरा रही हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
153,340FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe