Wednesday, June 26, 2024
Homeदेश-समाजपटाखों पर पाकिस्तानी क्रिकेटर की फोटो, दुकानदार और BJYM कार्यकर्ताओं में विवाद... तमिलनाडु से...

पटाखों पर पाकिस्तानी क्रिकेटर की फोटो, दुकानदार और BJYM कार्यकर्ताओं में विवाद… तमिलनाडु से आए थे पटाखे

तमिलनाडु के शिवकाशी से थोक भाव में पटाखे मँगाए गए थे। उन पटाखों पर कई देशों के क्रिकेट खिलाडियों की तस्वीरें छपी थीं। इन्हीं में से एक पाकिस्तानी क्रिकेटर भी था।

उत्तर प्रदेश के जिला मथुरा में पटाखों के एक बक्से पर पाकिस्तान के क्रिकेटर का फोटो होने के बाद विवाद हो गया। यह विवाद हाईवे थानाक्षेत्र के मंडी समिति इलाके का है। घटना 30 अक्टूबर 2021 (शनिवार) की बताई जा रही है। विवाद बढ़ता देख कर पुलिस को हस्तक्षेप करना पड़ा है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार व्यापारी दिनेश कुमार मथुरा में पटाखों के थोक विक्रेता हैं। उन्होंने तमिलनाडु के शिवकाशी से थोक भाव में पटाखे मँगाए थे। उन पटाखों पर कई देशों के क्रिकेट खिलाडियों की तस्वीरें छपी थीं। इन्हीं में से एक पाकिस्तानी क्रिकेटर भी था। इस बात की जानकारी भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा के पदाधिकारियों को हुई तो वो दुकान पर पहुँच गए।

दुकानदार और भाजपा नेताओं में बहस शुरू हो गई। वाद विवाद बढ़ता देख कर मौके पर पुलिस बल पहुँचा। पुलिस दुकानदार को पटाखों के डिब्बों सहित थाने ले आई। थोड़ी देर बार पुलिस दोनों पक्षों को शांतिपूर्ण ढंग से समझाने में सफल रही।

इस मामले में स्थानीय थाना प्रभारी इंस्पेक्टर अनुज कुमार ने मीडिया को जानकारी दी। उन्होंने बताया कि दुकानदार ने थोक भाव में तमिलनाडु से पटाखे मँगवाए थे। उन्हें ये नहीं पता था कि डिब्बों पर पाकिस्तानी खिलाड़ी का नाम छपा होगा। इन डिब्बों में अन्य देशों के खिलाड़ियों के भी नाम छपे हैं। इस मामले में कोई केस भी दर्ज नहीं किया गया है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बड़ी संख्या में OBC ने दलितों से किया भेदभाव’: जिस वकील के दिमाग की उपज है राहुल गाँधी वाला ‘छोटा संविधान’, वो SC-ST आरक्षण...

अधिवक्ता गोपाल शंकरनारायणन SC-ST आरक्षण में क्रीमीलेयर लाने के पक्ष में हैं, क्योंकि उनका मानना है कि इस वर्ग का छोटा का अभिजात्य समूह जो वास्तव में पिछड़े व वंचित हैं उन तक लाभ नहीं पहुँचने दे रहा है।

क्या है भारत और बांग्लादेश के बीच का तीस्ता समझौता, क्यों अनदेखी का आरोप लगा रहीं ममता बनर्जी: जानिए केंद्र ने पश्चिम बंगाल की...

इससे पहले यूपीए सरकार के दौरान भारत और बांग्लादेश के बीच तीस्ता के पानी को लेकर लगभग सहमति बन गई थी। इसके अंतर्गत बांग्लादेश को तीस्ता का 37.5% पानी और भारत को 42.5% पानी दिसम्बर से मार्च के बीच मिलना था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -