Sunday, December 5, 2021
Homeदेश-समाजUP पुलिस का सिपाही जहीन सप्लाई करता था कारतूस, मेरठ पुलिस ने सदरुद्दीन के...

UP पुलिस का सिपाही जहीन सप्लाई करता था कारतूस, मेरठ पुलिस ने सदरुद्दीन के घर से पकड़ा हथियारों का जखीरा

इस मामले में दो फरार सगे भाइयों शमी और वशी को पुलिस तलाश कर रही है। इनमें से तीन आरोपितों की पत्नियाँ शबनम, रुबीना और शादाब भी फरार हैं। इसी केस में प्रकाश में आए कॉन्स्टेबल जहीन के साथ मिनाज और शमीम भी फरार हैं। इन सभी की तलाश पुलिस कर रही है।

उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले के गाँव रुहासा में पुलिस की छापेमारी के दौरान हथियारों का जखीरा बरामद हुआ है। ये हथियार गाँव के पूर्व उप-प्रधान सदरुद्दीन के घर से बरामद किए गए हैं। हथियारों को बिस्तर के नीचे छुपा कर रखा गया था। इस पूरे मामले में उत्तर प्रदेश पुलिस का एक कॉन्स्टेबल भी शामिल पाया गया, जिसका नाम जहीन है। उस पर पुलिस के कारतूसों को आरोपितों को बेचने का आरोप है। यह छापेमारी 24 नवम्बर 2021 (बुधवार) को की गई है।

इस मामले में मेरठ के SSP प्रभाकर चौधरी ने बताया कि उनके पास व्हॉट्सएप पर हथियारों की सूचना मिली थी। एसपी सिटी विनीत भटनागर के नेतृत्व में पुलिस टीम ने छापेमारी की, जिसमें भारी संख्या में हथियार बरामद किए गए। बरामद हथियारों में एक फैक्ट्री मेड राइफल, 1 देशी बंदूक, 2 तमंचा, 236 ज़िंदा कारतूस, 156 खोखे बरामद किए गए हैं। इसके अलावा, गोलियाँ बनाने के छर्रे, हथौड़ी, पेचकस, प्लास और रेती बरामद की गई हैं। इन औजारों का उपयोग हथियारों को बनाने में किया जाता था। एसपी सिटी का कहना है कि इस मामले को गाँव में वर्चस्व, आगामी विधानसभा चुनाव और हथियारों की सप्लाई से घटनाक्रम को जोड़कर देखा जा रहा है। 

प्रेसनोट मेरठ पुलिस

पुलिस ने मौके से शवी अख्तर और रज़ी अख्तर नाम के दो लोगों को गिरफ्तार किया है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, सदरुद्दीन के बेटे शवी और रजी गाँव में अक्सर हथियारों की नुमाइश कर के अपना दबदबा बनाने के प्रयास में रहते थे। एक आरोपित शवी अख्तर पहले भी डबल मर्डर में जेल काट चुका है और 3 मुकदमों में नामज़द है, जबकि उसके भाई रज़ी अख्तर पर पहले से 1 केस दर्ज है। गिरफ्तार शवी ने MA और रज़ी कक्षा 10 तक पढ़ाई की है।

इस मामले में दो फरार सगे भाइयों शमी और वशी को पुलिस तलाश कर रही है। इनमें से तीन आरोपितों की पत्नियाँ शबनम, रुबीना और शादाब भी फरार हैं। इसी केस में प्रकाश में आए कॉन्स्टेबल जहीन के साथ मिनाज और शमीम भी फरार हैं। इन सभी की तलाश पुलिस कर रही है। एसपी सिटी भटनागर के मुताबिक, पुलिस हर बिंदु पर जाँच कर रही है। फरार आरोपितों की तलाश की जा रही है। गौरतबल है कि इस परिवार से दुश्मनी रखने वाले अफ़ज़ाल के घर पर भी पुलिस ने पहले छापा मारा था, तब सबने पुलिस पर हमला कर दिया था।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘किसानों की तरह बलिदान देने के लिए तैयार रहें’: फारूक अब्दुल्ला ने 370 की वापसी के लिए लोगों को भड़काया, कहा – पर्यटन बढ़ना...

नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला ने लोगों को भड़काते हुए कहा कि अनुच्छेद 370 के लिए वो भी किसानों की तरह बलिदान दें।

जिस श्रीलंका से पाकिस्तान को मिली 35,000 आँखें, उसी के नागरिक को ज़िंदा जलाया: श्रीलंका का 40% कॉर्निया डोनेशन Pak को ही मिला

1967 से अब तक श्रीलंका द्वारा दान में दिए गए 35,000 कॉर्निया पाकिस्तानियों को मिले। श्रीलंका अब तक दुनिया को 83,200 कॉर्निया दान में दे चुका।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
141,733FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe