Wednesday, August 4, 2021
Homeदेश-समाजमहाराष्ट्र में भीड़ की गुंडई: तुकाराम पवार की मॉब लिंचिंग, अपराधी जमील कुरैशी की...

महाराष्ट्र में भीड़ की गुंडई: तुकाराम पवार की मॉब लिंचिंग, अपराधी जमील कुरैशी की मौत के बाद पुलिस पर हमला

पुलिस को देख कर गिरफ़्तारी से बचने के लिए कुरैशी चौथी मंजिल पर स्थित फ्लैट की खिड़की से ही कूद गया। इससे उसकी मौत हो गई। स्थानीय भीड़ ने पुलिस पर उसे धक्का देने का आरोप लगा दिया।

महाराष्ट्र में ग्रामीणों की भीड़ ने एक प्राइवेट बिजली कंपनी के गार्ड की पीट-पीट कर हत्या कर दी। बिजली बिल न जमा करने वालों के खिलाफ अभियान चलाया जा रहा था, जिससे आक्रोशित भीड़ ने मॉब लिंचिंग की इस घटना को वारदात को अंजाम दिया। वहीं रविवार (जुलाई 4, 2021) को ही पुलिस ने जानकारी दी कि अलग घटना में एक भीड़ के हमले में महाराष्ट्र के तीन पुलिसकर्मी घायल हो गए। ये दोनों ही घटना ठाणे के भिवंडी में हुई।

भिवंडी पावरलूम टाउन में ही इस घटना ने एक बार फिर से महाराष्ट्र में भीड़ अपराध को चर्चा में ला दिया है। शनिवार को बिजली कंपनी के कुछ अधिकारी तुकाराम पवार नामक सिक्योरिटी गार्ड के साथ कनेरी गाँव के कटाई क्षेत्र में गए हुए थे। निजामपुरा थाने की पुलिस ने बताया कि ये लोग उस इलाके में बिजली बिल जमा न करने वालों के खिलाफ कार्रवाई के लिए गए थे। जो कई महीने के डिफॉलटर्स थे, उनका बिजली कनेक्शन काटा जाना था।

तभी अचानक से 12-15 ग्रामीणों की भीड़ वहाँ आ धमकी और बिजली कंपनी के कार्य में बाधा डालने लगी। ग्रामीणों ने बिजली कंपनी के कर्मचारियों की पिटाई की। उन्होंने बिजली कनेक्शन काटने से भी रोक दिया। इस हमले में गार्ड तुकाराम पवार बुरी तरह घायल हो गए। उन्हें आनन-फानन में भिवंडी के IGM अस्पताल ले जाया गया, जहाँ डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। रास्ते में ही उनकी जान जा चुकी थी।

निजामपुरा पुलिस ने शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है और ‘एक्सीडेंटल डेथ’ का मामला दर्ज किया है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी। मृतक के बेटे का कहना है कि पॉवर कंपनी की लापरवाही से ही उसके पिता की मौत हुई है। कंपनी के पब्लिक रिलेशन्स (PR) अधिकारी चेतन बिजलानी का कहना है कि डिफॉलटर्स के खिलाफ ये सामान्य अभियान था, इसीलिए पुलिस की सुरक्षा की माँग नहीं की गई।

उन्होंने बताया कि जब विशेष अभियान चलाया जाता है तब पुलिस की सुरक्षा की माँग की जाती है। वहीं दूरी घटना भिवंडी के ही कसाई वड़ा में शुक्रवार को हुई। गुजरात पुलिस और भिवंडी क्राइम ब्रांच की संयुक्त टीम सादे कपड़ों में जमील कुरैशी नाम के एक अपराधी को पकड़ने गई हुई थी। 38 वर्षीय जमील के खिलाफ वलसाड पुलिस थाने में कई आपराधिक मामले दर्ज हैं। पुलिस को देख कर गिरफ़्तारी से बचने के लिए कुरैशी चौथी मंजिल पर स्थित फ्लैट की खिड़की से ही कूद गया।

भिंवडी जोन के डिप्टी कमिश्नर ऑफ पुलिस (DCP) योगेश चव्हाण ने बताया कि खिड़की से कूदने के कारण अपराधी की मौत हो गई। इसके बाद स्थानीय लोगों ने पुलिस पर उसे धक्का देकर मार डालने का आरोप लगाया और हमला कर दिया। वायरल वीडियो में महिलाओं-पुरुषों की भीड़ को पुलिसकर्मियों को पीटते और पत्थरबाजी करते देखा जा सकता है। ये एक संवेदनशील क्षेत्र है, इसीलिए पुलिस ने मामला दर्ज कर के गश्ती बढ़ा दी है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

दिल्ली में कमाल: फ्लाईओवर बनने से पहले ही बन गई थी उसपर मजार? विरोध कर रहे लोगों के साथ बदसलूकी, देखें वीडियो

दिल्ली के इस फ्लाईओवर का संचालन 2009 में शुरू हुआ था। लेकिन मजार की देखरेख करने वाला सिकंदर कहता है कि मजार वहाँ 1982 में बनी थी।

राणा अयूब बनीं ट्रोलिंग टूल, कश्मीर पर प्रोपेगेंडा चलाने के लिए आ रहीं पाकिस्तान के काम: जानें क्या है मामला

पाकिस्तान के सूचना मंत्रालय से जुड़े लोग ऑन टीवी राणा अयूब की तारीफ करते हैं। वह उन्हें मोदी सरकार का पर्दाफाश करने वाली ;मुस्लिम पत्रकार' के तौर पर जानते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,975FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe