Monday, November 29, 2021
Homeदेश-समाजदोस्त विवेक की रिश्तेदार से ही अवैध सम्बन्ध बनाने लगा था राशिद, समझाने पर...

दोस्त विवेक की रिश्तेदार से ही अवैध सम्बन्ध बनाने लगा था राशिद, समझाने पर नहीं माना तो की हत्या: दो साथियों समेत गिरफ्तार

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार मृतक राशिद अली की उम्र लगभग 20 वर्ष थी। वह प्रयागराज के थाना घूरपुर के जसरा गाँव का रहने वाला था। राशिद चेन्नई की एक प्राइवेट कंपनी में नौकरी करता था। वही पर विवेक पाल भी उसका सहकर्मी था।

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में राशिद अली की हत्या में पुलिस ने विवेक पाल, अखिलेश उर्फ़ अभिषेक और रामबाबू पाल को गिरफ्तार किया है। पुलिस के अनुसार राशिद आरोपितों के रिश्ते में आने वाली एक लड़की के साथ आपत्तिजनक हालत में पकड़ा गया था। राशिद की लाश 15 नवंबर 2021 (सोमवार) को लालापुर थाना क्षेत्र बसहरा गाँव के पास बारिया झगड़ा नाले में मिली थी। यह गिरफ्तारी 21 नवम्बर 2021 (रविवार) को की गई है। प्रयागराज पुलिस ने इस कार्रवाई की पुष्टि की है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार मृतक राशिद अली की उम्र लगभग 20 वर्ष थी। वह प्रयागराज के थाना घूरपुर के जसरा गाँव का रहने वाला था। राशिद चेन्नई की एक प्राइवेट कम्पनी में नौकरी करता था। वही पर विवेक पाल भी उसका सहकर्मी था। विवेक पाल का घर बेलमुंडी प्रयागराज में है। साथ काम करते हुए दोनों में दोस्ती हो गई। दीपावली की छुट्टियों में दोनों वापस गाँव आए थे। इसी दोस्ती के बहाने राशिद विवेक के घर आने जाने लगा। इसी दौरान राशिद उसी गाँव की एक लड़की से संबंध बनाने लगा जो विवेक के रिश्ते में और तीसरे आरोपित अखिलेश की चचेरी बहन थी।

घटना के दिन रविवार को राशिद अपने घर पर विवेक के घर जाने की बात कह कर निकला। लेकिन वो दुबारा वापस नहीं आया। पुलिस को शव के पास से ही कुछ सबूत मिले थे। इसी के आधार पर जाँच करते हुए पुलिस तीनों आरोपितों तक पहुँच गई। पुलिस ने तीनों को हवेलिया तिराहे से पकड़ा है। पूछताछ में आरोपितों ने बताया कि घटना वाले दिन वह युवती के साथ खेत में आपत्तिजनक स्थिति में था, उसी समय सरिया से पीट-पीटकर उसकी हत्या कर दी गई।

राशिद की हत्या कर के तीनों उसकी लाश को घटनास्थल से लगभग आठ किलोमीटर दूर ले गए। इसके बाद उन्होंने शव को एक नाले में फेंक दिया था। पुलिस ने लोहे की वो रॉड भी बरामद कर ली है जिस से तीनों ने राशिद की हत्या की थी। आरोपितों पर अपराध संख्या – 117 / 2021 के तहत धारा 302, 201, 147, 120 बी / 34 के तहत कार्रवाई की गई है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जिनके घर शीशे के होते हैं, वे दूसरों पर पत्थर नहीं फेंका करते’: केजरीवाल के चुनावी वादों पर बरसे सिद्धू, दागे कई सवाल

''अपने 2015 के घोषणापत्र में 'आप' ने दिल्ली में 8 लाख नई नौकरियों और 20 नए कॉलेजों का वादा किया था। नौकरियाँ और कॉलेज कहाँ हैं?"

‘शरजील इमाम ने किसी को भी हथियार उठाने या हिंसा करने के लिए नहीं कहा, वो पहले ही 14 महीने से जेल में’: इलाहाबाद...

इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने अपनी टिप्पणी में कहा कि शरजील इमाम ने किसी को भी हथियार उठाने या हिंसा करने के लिए नहीं कहा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
140,506FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe