Thursday, April 22, 2021
Home देश-समाज हिन्दू नाम के सहारे मुस्लिम युवक ने की मस्जिद में 'फर्जी निकाह': एक्ट्रेस प्रीति...

हिन्दू नाम के सहारे मुस्लिम युवक ने की मस्जिद में ‘फर्जी निकाह’: एक्ट्रेस प्रीति तलरेजा ने लगाया मारपीट का आरोप, देखें Video

महिला ने बताया कि उनका पति मुस्लिम है लेकिन वो अपने लीगल डॉक्यूमेंट पर अपना नाम अभिजीत पेटकर इस्तेमाल करता है। प्रीति ने अपने ट्विटर पर उनके साथ हुई मारपीट की वीडियो भी शेयर की है। उनका दावा है कि सबूत दिखाने के बावजूद मुंबई पुलिस उनकी शिकायत दर्ज नहीं कर रही है।

महाराष्ट्र में प्रीति तलरेजा नाम की कथित एक्ट्रेस ने सोशल मीडिया के जरिए अपने साथ हो रही घरेलू हिंसा के मामले को उजागर किया है। एक्स्ट्रेस ने अपने (मुस्लिम) पति पर उससे मारपीट करने के अलावा, धर्मांतरण, शारीरिक और मानसिक शोषण आदि का आरोप लगाया है। 

महिला का कहना है कि उसके द्वारा कई सबूत पेश किए जाने के बाद भी उसके पति ‘अभिजीत पेटकर’ के ख़िलाफ़ मामला दर्ज नहीं किया जा रहा और उसे एनसी देकर कहा जा रहा है कि ये पारिवारिक मामला है।

सोशल मीडिया पर प्रीति तलरेजा ने 29 दिसंबर 2020 से इस संबंध में अपने पोस्ट डालने शुरू किए थे। पहले उन्होंने जानकारी दी कि उन्होंने खड़कपड़ा थाने (khadakpada police station) में शिकायत दर्ज करवाई है, लेकिन वहाँ से उन्हें कोई जवाब नहीं दिया गया। उनकी एफआईआर तक नहीं लिखी गई।

इसके बाद उन्होंने राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को टैग करके कहा कि उन्होंने अपने पति के ख़िलाफ़ शिकायत लिखवाई है जिसने प्रेम के नाम पर उनसे धोखा किया, उनका इस्तेमाल किया और एक फर्जी मुस्लिम निकाह करके ये यकीन दिलाया कि उनकी आधिकारिक तौर पर शादी हो गई है। एक्ट्रेस ने बताया कि एक ओर उनकी शिकायत को थाने में दर्ज तक नहीं होने दे रहे। वहीं दूसरी ओर मस्जिद में निकाह होने के कारण उन्हें सर्टिफिकेट देने से मना किया जा रहा है।

महिला ने बताया कि उनका पति मुस्लिम है और उसके पास धर्म परिवर्तन के कोई सबूत भी नहीं है, फिर भी वो अपने लीगल डॉक्यूमेंट पर अपना नाम अभिजीत पेटकर इस्तेमाल करता है। प्रीति ने अपने ट्विटर पर उनके साथ हुई मारपीट की वीडियो भी शेयर की है। उनका दावा है कि सबूत दिखाने के बावजूद कल्याण खड़पड़ा थाने में शिकायत दर्ज नहीं हो रही।

वह तंग होकर 4 जनवरी को कहती हैं कि भारत में महिला यदि आत्महत्या कर ले तो मासूम को भी सजा दे दी जाती है लेकिन यदि कोई जिंदा महिला संघर्ष करे तो उसका सिर्फ़ शोषण होता है, यही सच्चाई है। महिला के मुताबिक, उसका पति उसकी पहली बेटी को पसंद नहीं करता और नहीं चाहता कि वो उन लोगों के साथ रहे। 

वह त्रस्त होकर अपने अकॉउंट पर लिखती हैं, “…मैं हिन्दू जन्मी हूँ और हिंदू ही मरूँगी। मेरी अपील है अपनी बेटी को अकेला न छोड़ें। मेरा परिवार मेरे साथ है इसलिए हिम्मत करके मैं यहाँ तक पहुँची हूँ। लोगों को जो कहना है कहने दो। लेकिन इसे एक अपनी बेटी, बहन, बीवी और अन्य महिलाओं के लिए अच्छे उदाहरण की तरह लो।”

बता दें कि प्रीति तलरेजा ने अपने यूट्यूब चैनल पर एक वीडियो अपलोड की है। इसके डिस्क्रिप्शन में उन्होंने आप बीती के रूप में एक नोट लिखा है। वह लिखती हैं:

मैंने इस आदमी से शादी की क्योंकि इसने मुझे अपना मासूम चेहरा दिखाया कि इसे इसकी पुरानी पत्नी ने बहुत प्रताड़ित किया है और इसके माता-पिता भी नहीं हैं। इस बीच मैं इसकी तरफ आकर्षित हुई क्योंकि मेरे पति से मेरी कुछ लड़ाइयाँ हो रही थीं। इसने मुझे बेहतर जीवन का वादा किया और मेरे पति को तालाक देने के लिए मुझे मना लिया। इसने मुझ पर मुस्लिम कानून के हिसाब से शादी का दबाव बनाया जो वास्तविकता में फर्जी शादी थी, जिसे इसके दोस्तों ने ही अरेंज किया था। ये मुझे सोशल मीडिया यूज करने पर गाली गलौच करता और मेरी बड़ी बेटी के साथ रहने पर भी गुस्सा होता। मेरे घरवालों और मैंने कई बार इसे इसकी छात्राओं के साथ डेट करते देखा है। लेकिन पूछने पर कहता कि वो 4 बीवियों से ज्यादा रख सकता है। इसकी पुलिस विभाग में और कुछ गुंडों से जान पहचान है, ये हमेशा अपनी और मेरी तस्वीरें शेयर करने की धमकी देता और मुझे व मेरे परिवार वालों को नुकसान पहुँचाने की धमकी देता। इसने मुझे राक्षस की तरह पीटा। मेरी बेटी को लात मारी। यह हड्डियाँ तोड़ना अच्छे से जानता है, उसने मेरी माँ को भी विश्वास और प्यार के बदले मारा। मैंने इस घटिया आदमी के लिए सबकुछ छोड़ दिया और बदले में मुझे 3 साल से सिर्फ़ बेवकूफ बनाया गया। कभी जाति धर्म के नाम पर कभी भावनात्मक रूप से ब्लैकमेल करके। मैं न्याय के लिए गुहार लगा रही हूँ। लेकिन भारतीय कानून बहुत सुस्त है कि वो एक जिंदा इंसान को न्याय दिलवा सके। लेकिन यहाँ यदि कोई व्यक्ति सुसाइड करले तो किसी मासूम को भी सूली पर चढ़ा दिया जाएगा।”

बता दें कि सोशल मीडिया पर अभिजीत पेटकर नाम के इस युवक की कई फोटोज यूजर शेयर कर रहे हैं। इनमें से एक मे यह एक उलेमा के साथ खड़ा है। वहीं ज्यादातर पोस्ट में ‘अल्हम्दुलिल्लाह’ भी लिखता है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मतुआ समुदाय, चिकेन्स नेक और बांग्लादेश से लगे इलाके: छठे चरण में कौन से फैक्टर करेंगे काम, BJP से लोगों को हैं उम्मीदें

पश्चिम बंगाल की जनता उद्योग चाहती है, जो उसके हिसाब से सिर्फ भाजपा ही दे सकती है। बेरोजगारी मुद्दा है। घुसपैठ और मुस्लिम तुष्टिकरण पर TMC कोई जवाब नहीं दे पाई है।

अंबानी-अडानी के बाद अब अदार पूनावाला के पीछे पड़े राहुल गाँधी, कहा-‘आपदा में मोदी ने दिया अपने मित्रों को अवसर’

राहुल गाँधी पीएम मोदी पर देश को उद्योगपतियों को बेचने का आरोप लगाते ही रहते हैं। बस इस बार अंबानी-अडानी की लिस्ट में अदार पूनावाला का नाम जोड़ दिया है।

‘सरकार ने संकट में भी किया ऑक्सीजन निर्यात’- NDTV समेत मीडिया गिरोह ने फैलाई फेक न्यूज: पोल खुलने पर किया डिलीट

हालाँकि सरकार के सूत्रों ने इन मीडिया रिपोर्ट्स को भ्रांतिपूर्ण बताया क्योंकि इन रिपोर्ट्स में जिस ऑक्सीजन की बात की गई है वह औद्योगिक ऑक्सीजन है जो कि मेडिकल ऑक्सीजन से कहीं अलग होती है।

देश के 3 सबसे बड़े डॉक्टर की 35 बातें: कोरोना में Remdesivir रामबाण नहीं, अस्पताल एक विकल्प… एकमात्र नहीं

देश में कोरोना वायरस तेजी से फैल रहा है। 2.95 लाख नए मामले सामने आने के बाद देश में कुल संक्रमितों की संख्या बढ़ कर...

‘गैर मुस्लिम नहीं कर सकते अल्लाह शब्द का इस्तेमाल, किसी अन्य ईश्वर से तुलना गुनाह’: इस्लामी संस्था ने कहा- फतवे के हिसाब से चलें

मलेशिया की एक इस्लामी संस्था ने कहा है कि 'अल्लाह' एक बेहद ही पवित्र शब्द है और इसका इस्तेमाल सिर्फ इस्लाम के लिए और मुस्लिमों द्वारा ही होना चाहिए।

आज वैक्सीन का शोर, फरवरी में था बेकारः कोरोना टीके पर छत्तीसगढ़ में कॉन्ग्रेसी सरकार ने ही रचा प्रोपेगेंडा

आज छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री इस बात से नाखुश हैं कि पीएम ने राज्यों को कोरोना वैक्सीन देने की बात नहीं की। लेकिन, फरवरी में वही इसके असर पर सवाल उठा रहे थे।

प्रचलित ख़बरें

रेप में नाकाम रहने पर शकील ने बेटी को कर दिया गंजा, जैसे ही बीवी पढ़ने लगती नमाज शुरू कर देता था गंदी हरकतें

मेरठ पुलिस ने शकील को गिरफ्तार किया है। उस पर अपनी ही बेटी ने रेप करने की कोशिश का आरोप लगाया है।

मधुबनी: धरोहर नाथ मंदिर में सोए दो साधुओं का गला कुदाल से काटा, ‘लव जिहाद’ का विरोध करने वाले महंत के आश्रम पर हमला

बिहार के मधुबनी जिला स्थित खिरहर गाँव में 2 साधुओं की गला काट हत्या कर दी गई है। इससे पहले पास के ही बिसौली कुटी के महंत के आश्रम पर रात के वक्त हमला हुआ था।

रेमडेसिविर खेप को लेकर महाराष्ट्र के FDA मंत्री ने किया उद्धव सरकार को शर्मिंदा, कहा- ‘हमने दी थी बीजेपी को परमीशन’

महाविकास अघाड़ी को और शर्मिंदा करते हुए राजेंद्र शिंगणे ने पुष्टि की कि ये इंजेक्शन किसी अन्य उद्देश्य के लिए इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है। उन्हें भाजपा नेताओं ने भी इसके बारे में आश्वासन दिया था।

‘सुअर के बच्चे BJP, सुअर के बच्चे CISF’: TMC नेता फिरहाद हाकिम ने समर्थकों को हिंसा के लिए उकसाया, Video वायरल

TMC नेता फिरहाद हाकिम का एक वीडियो सोशल मीडिया में वायरल है। इसमें वह बीजेपी और केंद्रीय सुरक्षा बलों को 'सुअर' बता रहे हैं।

हाँ, हम मंदिर के लिए लड़े… क्योंकि वहाँ लाउडस्पीकर से ऐलान कर भीड़ नहीं बुलाई जाती, पेट्रोल बम नहीं बाँधे जाते

हिंदुओं को तीन बातें याद रखनी चाहिए, और जो भी ये मंदिर-अस्पताल की घटिया बाइनरी दे, उसके मुँह पर मार फेंकनी चाहिए।

रवीश और बरखा की लाश पत्रकारिताः निशाने पर धर्म और श्मशान, ‘सर तन से जुदा’ रैलियाँ और कब्रिस्तान नदारद

अचानक लग रहा है जैसे पत्रकारों को लाश से प्यार हो गया है। बरखा दत्त श्मशान में बैठकर रिपोर्टिंग कर रही हैं। रवीश कुमार लखनऊ को लाशनऊ बता रहे हैं।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

293,787FansLike
82,850FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe