Wednesday, July 6, 2022
Homeदेश-समाजकोरोना से जंग में राष्ट्रपति की पत्नी सविता कोविंद भी आईं सामने, शक्ति हाट...

कोरोना से जंग में राष्ट्रपति की पत्नी सविता कोविंद भी आईं सामने, शक्ति हाट में खुद बना रहीं मास्क

देश की प्रथम महिला सविता कोविंद ने बुधवार को राष्ट्रपति भवन के शक्ति हाट में सिलाई मशीन पर बैठकर खुद मास्क सिले। इस दौरान उन्होंने अपने मुँह पर भी लाल रंग का मास्क लगा रखा था। उनके द्वारा बनाए गए मास्क दिल्ली के अलग-अलग शेल्टर होम में भिजवाए जाएँगे।

देश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों से हर कोई चिंतित है। देश का हर नागरिक लॉकडाउन का पालन करते हुए इस जंग में अपना योगदान दे रहा। इसी कड़ी में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की पत्नी सविता कोविंद शक्ति हाट में खुद मास्क सिल रही हैं।

देश की प्रथम महिला सविता कोविंद ने बुधवार को राष्ट्रपति भवन के शक्ति हाट में सिलाई मशीन पर बैठकर खुद मास्क सिले। इस दौरान उन्होंने अपने मुँह पर भी लाल रंग का मास्क लगा रखा था। उनके द्वारा बनाए गए मास्क दिल्ली के अलग-अलग शेल्टर होम में भिजवाए जाएँगे।

इससे पहले हिमाचल प्रदेश के भोरंज विधानसभा से विधायक कमलेश कुमारी को लॉकडाउन के बीच अपने घर पर ही सिलाई मशीन से लोगों के लिए मास्क बनाते हुए देखा गया था। उन्होंने कहा था कि लॉकडाउन की घोषणा के बाद हर कोई घर में सेनेटाइजर लाने के लिए और मुँह पर मास्क लगाने के लिए बाजारों में भीड़ लगाए हुए था। इसे देखकर वह घर पर मास्क बनाने में जुट गईं।

गौरतलब है कि कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी की गई गाइडलाइन में सभी को मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया गया है। इस वक्त बाजार में तीन लेयर वाले सर्जिकल मास्क, N-95 मास्क और कपड़े के बने मास्क मिल रहे हैं। वहीं स्वास्थ्य विभाग के विशेषज्ञों का मानना है कि कोरोना से बचने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग के साथ घरों से बाहर निकलने पर मास्क लगाना बेहद जरूरी है।

आपको बता दें कि इससे पहले राष्ट्र को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लोगों से आह्वान करते हुए कहा था कि लोग कपड़ों से बने मास्क का इस्तेमाल करें। इतना ही नहीं प्रधानमंत्री कई बार अपने गमछे को मास्क के रूप में प्रयोग कर लोगों को यह भी संदेश दे चुके हैं कि कोरोना से बचने के लिए मास्क ही नहीं, बल्कि गमछा भी कारगर हो सकता है।

पिछले दिनों पीएम मोदी ने अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के बीजेपी जिलाध्यक्ष से फोन पर बात करते हुए कहा था कि वह ज्यादा से ज्यादा लोगों को मास्क के बदले गमछे का इस्तेमाल करने के लिए प्रेरित करें।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बोल देना नशे में था…’: राजस्थान पुलिस का Video वायरल; अजमेर दरगाह के जिस खादिम ने माँगी नूपुर शर्मा की गर्दन, उसे बताया ‘बचाव...

खादिम सलमान चिश्ती कह रहा है कि वो नशा नहीं करता, लेकिन इसके बावजूद राजस्थान पुलिस उससे कहती है, "बोल देना नशे में था, ताकि बचाया जा सके।"

सिगरेट वाली ‘काली’, लक्ष्मी बम, गाड़ी को धक्का लगाते भगवान शंकर… मनोरंजन के नाम पर देवी-देवताओं का मजाक, इस हिंदू घृणा का इलाज क्या

भले 'काली' के पोस्टर पर विवाद ताजा हो, लेकिन मनोरंजन इंडस्ट्री की हिंदूफोबिया पुरानी है। आखिर इसका इलाज क्या है?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
204,046FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe