Tuesday, August 9, 2022
Homeदेश-समाज112 दिन बाद पकड़ा गया खरगोन का मुख्य दंगाई समीर उल्ला, गैंग में हैं...

112 दिन बाद पकड़ा गया खरगोन का मुख्य दंगाई समीर उल्ला, गैंग में हैं 150 अपराधी: मांस का कारोबार, सरकार को चूना लगा कर चलाते हैं अवैध वाहन

समीर उल्ला की मिम गैंग में लगभग 150 अपराधी शामिल थे। ये सभी मांस के अवैध कारोबार के साथ रोडवेज को चूना लगा कर अवैध रूप से वाहन भी चलवाते थे। पुलिस ने आरोपित को इंदौर जेल भेजा है।

मध्य प्रदेश पुलिस ने के खरगोन जिले में 10 अप्रैल 2022 की रामनवमी पर हुए दंगे के मुख्य आरोपित समीर उल्ला और उसके भाई वली उल्ला को 112 दिनों के बाद गिरफ्तार कर लिया है। आरोपित समीर उल्ला पर रासुका (NSA) के तहत कार्रवाई की गई है। समीर उल्ला पर प्रशासन की तरफ से 10 हजार रुपए का इनाम भी घोषित था। वह पेशेवर अपराधी था जो साल 2016 से अपराध में सक्रिय था। यह गिरफ्तारी रविवार (31 जुलाई 2022) को हुई है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक समीर उल्ला ने रामनवमी पर मुस्लिमों की भीड़ को जमा किया था। इसी के साथ उसी ने पथराव की शुरुआत की भी थी। वह खरगोन के मोहन टाकीज क्षेत्र का रहने वाला है। साल 2016 से वह लगातार अपनी गैंग बना कर साम्प्रदायिक तनाव फैलाने की फिराक में रहता था। आरोपित पर कुल 11 केस पहले से दर्ज बताए जा रहे हैं। खरगोन थाने की गुंडा लिस्ट में भी उसका नाम है और 13 अक्टूबर, 2021 में उसको प्रशासन द्वारा जिला बदर भी किया गया था।

एक अन्य रिपोर्ट के मुताबिक आरोपित समीर उल्ला की गिरफ्तारी आगरा मुंबई नेशनल हाईवे पर खलटाका बालसमुद के बीच में हुई है। उसका इलाके में नाम भाई साहब था। उसकी गैंग का नाम ‘मिम’ था जिसमें उसका भाई वसी उल्ला भी शामिल था। उसकी भी गिरफ्तारी रविवार को ही की गई है। वली उल्ला को शरण देने वाले इंदौर निवासी सादिक शेख नाम के व्यक्ति की भी गिरफ्तारी हुई है।

समीर उल्ला की मिम गैंग में लगभग 150 अपराधी शामिल थे। ये सभी मांस के अवैध कारोबार के साथ रोडवेज को चूना लगा कर अवैध रूप से वाहन भी चलवाते थे। पुलिस ने आरोपित को इंदौर जेल भेजा है। पुलिस के मुताबिक उसका रिमांड ले कर उसके बाकी काले धंधों की जानकारी जुटाई जाएगी। पुलिस के मुताबिक रामनवमी हिंसा में नामजद किए गए कुल 450 नामजद आरोपितों में से अब तक 300 की गिरफ्तारी की जा चुकी है। बाकी फरार आरोपितों की तलाश में टीमें काम कर रही हैं।

गौरतलब है कि 10 अप्रैल 2022 को खरगोन में रामनवमी के दिन हिंसा भड़क गई थी। इस हिंसा में न सिर्फ हिन्दुओं की शोभा यात्रा पर पथराव हुआ था बल्कि कई हिन्दुओं के घरों में आगजनी और लूटपाट की गई थी। मामले को नियंत्रित कर रहे जिले के पुलिस अधीक्षक के पैर में भी दंगाइयों ने गोली मार दी थी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘पहली कैबिनेट बैठक में ही देंगे 10 लाख नौकरियाँ’: तेजस्वी यादव को याद दिलाया वादा तो किया टाल-मटोल, बेरोजगारी पर नीतीश कुमार को घेरते...

तेजस्वी यादव ने सत्ता में आने पर 10 लाख नौकरियों का वादा किया था, लेकिन अब इस सम्बन्ध में पूछे गए सवाल पर उन्होंने स्पष्ट जवाब नहीं दिया।

सपा नेता स्वामी प्रसाद मौर्य ने श्रीकांत त्यागी को दिया था विधायक वाला VVIP स्टीकर, कार पर लगा कर बनाता था भय का माहौल:...

यूपी के पूर्व मंत्री स्‍वामी प्रसाद मौर्य का खास रहा श्रीकांत त्‍यागी पुराना हिस्‍ट्रीशीटर है। नोएडा के दो थानों में उस पर 9 मुक़दमे दर्ज हैं। महिला से की थी बदसलूकी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
212,606FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe