Saturday, July 20, 2024
Homeदेश-समाजपंचतत्व में विलीन हुईं हीराबेन, माँ को अंतिम प्रणाम कर कर्तव्य पथ पर PM...

पंचतत्व में विलीन हुईं हीराबेन, माँ को अंतिम प्रणाम कर कर्तव्य पथ पर PM मोदी: वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बंगाल से जुड़ेंगे

"शानदार शताब्दी का ईश्वर चरणों में विराम… माँ में मैंने हमेशा उस त्रिमूर्ति की अनुभूति की है, जिसमें एक तपस्वी की यात्रा, निष्काम कर्मयोगी का प्रतीक और मूल्यों के प्रति प्रतिबद्ध जीवन समाहित रहा है।"

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की माँ हीराबेन पंचतत्व में विलीन हो गईं हैं। गाँधीनगर में उनका अंतिम संस्कार हुआ। माँ के निधन की वजह से प्रधानमंत्री का पश्चिम बंगाल का दौरा रद्द हो गया है। लेकिन वे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कार्यक्रम में शिरकत करेंगे।

हीराबेन मोदी का 100 साल की उम्र में शुक्रवार (30 अक्टूबर 2022) तड़के करीब साढ़े तीन बजे निधन हुआ। माँ के निधन की जानकारी देते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने ट्विटर पर लिखा,

“शानदार शताब्दी का ईश्वर चरणों में विराम… माँ में मैंने हमेशा उस त्रिमूर्ति की अनुभूति की है, जिसमें एक तपस्वी की यात्रा, निष्काम कर्मयोगी का प्रतीक और मूल्यों के प्रति प्रतिबद्ध जीवन समाहित रहा है।

प्रधानमंत्री ने अपनी माँ के 100वें जन्मदिन के मौके पर दी उनकी अंतिम शिक्षा को भी याद किया। उन्होंने लिखा कि मैं जब उनसे 100वें जन्मदिन पर मिला तो उन्होंने एक बात कही थी, जो हमेशा याद रहती है कि કામ કરો બુદ્ધિથી, જીવન જીવો શુદ્ધિથી यानी काम करो बुद्धि से और जीवन जियो शुद्धि से।

यूएन मेहता अस्पताल में निधन के बाद हीराबेन मोदी का पार्थिव शरीर उनके छोटे बेटे पंकज मोदी के घर ले जाया गया गया। हीराबेन पंकज मोदी के साथ गाँधीनगर के रायसन गाँव की वृंदावन सोसायटी में रहती थीं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी माँ हीराबेन के अंतिम दर्शन के लिए पंकज मोदी के घर पहुँचे। अंतिम यात्रा में पीएम माँ के पार्थिव शरीर को कंधा देते हुए भी नजर आए।

माँ के निधन के कारण पीएम मोदी को भले गुजरात जाना पड़ा हो लेकिन बतौर प्रधानमंत्री उनके पूर्व निर्धारित कार्यक्रमों को रद्द नहीं किया गया है। प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्वीट कर बताया है कि वे वर्चुअली इन कार्यक्रमों में शामिल होंगे।

पश्चिम बंगाल में 7800 करोड़ रुपए से ज्यादा की विकास परियोजनाओं का शुभारंभ होना है। हावड़ा को न्यू जलपाईगुड़ी से जोड़ने वाली वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन को हरी झंडी दिखाई जाएगी। कोलकाता मेट्रो की पर्पल लाइन के नए खंड का उद्घाटन होना है। कई विकास परियोजनाओं का उद्धाटन होगा और कुछ की आधारशिला रखी जाएगी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -