Wednesday, July 28, 2021
Homeदेश-समाजमहाराष्ट्र पुलिस नहीं RSS से क्यों माँगनी पड़ रही बॉलीवुड हीरो को मदद?

महाराष्ट्र पुलिस नहीं RSS से क्यों माँगनी पड़ रही बॉलीवुड हीरो को मदद?

अभिनेता का कहना है कि उन्होंने इस मामले में पुलिस के पास शिकायत भी दर्ज नहीं की क्योंकि वो जानते हैं कि तुली शिवसेना को बीच में ले आएँगे और पुलिस उसके खिलाफ कोई एक्शन नहीं लेगी।

‘बिग बॉस 8’ के फाइनलिस्ट रह चुके आरजे प्रीतम सिंह ने ट्विटर अकाउंट पर आरएसएस से लेकर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से मदद माँगी है। अभिनेता ने आरोप लगाया है कि उन्हें कुछ मोहल्ले के गुंडों द्वारा धमकाया और परेशान किया जा रहा है। गौरतलब है कि प्रीतम सिंह पर मार्च के माह भी कुछ गुंडों द्वारा हमला किया गया था।

प्रीतम सिंह ने एक ट्वीट में लिखा है, “माननीय मोहन भागवत जी, मुझे मदद की ज़रूरत है। मैं नागपुर से हूँ। मैंने हाल ही में नागपुर में अपने छोटे टेक-अवे फ़ूड बिजनेस की शुरुआत की है। करन तुली नाम के एक लोकल गुंडे ने मुझ पर शारीरिक रूप से हमला किया। मुझे और मेरे माता-पिता को सबके सामने गालियाँ दीं। मदद चाहिए सर 🙏।”

एक अन्य ट्वीट में प्रीतम सिंह ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को टैग करते हुए लिखा है, “प्रिय उद्धव ठाकरे जी, आप हमारे सीएम हैं और नागपुर के आपने लोकल कार्यकर्ता, जिसका नाम करन तुली है, ने मेरी दुकान को तोड़ दिया, मुझे मेरी माँ के सामने बुरे शब्द कहे क्योंकि उसे शिवसेना का संरक्षण हासिल है। यह सिर्फ इस वजह से किया गया क्योंकि मैंने कंगना रनौत के ट्वीट का समर्थन किया।”

प्रीतम सिंह ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री को टैग करते हुए लिखा है कि उन्हें ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए जो उनकी पार्टी का नाम ख़राब करते हैं। उन्होंने लिखा है कि उनके पिता दिल के मरीज हैं और माँ कैंसर से जूझ रही हैं। प्रीतम सिंह ने लिखा है कि करन तुली का इतिहास नागपुर में अच्छा नहीं रहा है।

अभिनेता का कहना है कि उन्होंने इस मामले में पुलिस के पास शिकायत भी दर्ज नहीं की क्योंकि वो जानते हैं कि तुली शिवसेना को बीच में ले आएँगे और पुलिस उसके खिलाफ कोई एक्शन नहीं लेगी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

साँवरें के रंग में रंगी हरियाणा की तेजतर्रार महिला IPS भारती अरोड़ा, श्रीकृष्‍ण भक्ति के लिए माँगी 10 साल पहले स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति

हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज ने इस खबर की पुष्टि की है। उन्होंने बताया है कि अंबाला रेंज की आइजी भारती अरोड़ा ने वीआरएस के लिए आवेदन किया है।

‘मोदी सिर्फ हिंदुओं की सुनते हैं, पाकिस्तान से लड़ते हैं’: दिल्ली HC में हर्ष मंदर के बाल गृह को लेकर NCPCR ने किए चौंकाने...

एनसीपीसीआर ने यह भी पाया कि बड़े लड़कों को भी विरोध स्थलों पर भेजा गया था। बच्चों को विरोध के लिए भेजना किशोर न्याय अधिनियम, 2015 की धारा 83(2) का उल्लंघन है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,660FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe