Wednesday, June 19, 2024
Homeदेश-समाजपिज्जा खिलाया, सुलाया, मर्सिडीज से आए परिजनों को अंदर बुलाया… इंजीनियरों को कुचलने वाले...

पिज्जा खिलाया, सुलाया, मर्सिडीज से आए परिजनों को अंदर बुलाया… इंजीनियरों को कुचलने वाले रईसजादे को पुणे पुलिस ने भी दिया VIP ट्रीटमेंट, गवाहों को भी धमकाया

वडगाँव विधायक सुनील टिंगरे ने कहा कि लड़के के पिता के साथ उनके व्यापारिक रिश्ते हैं और वो परिवार उनके ही विधानसभा क्षेत्र में रहता है। उन्होंने कहा कि इसी कारण उनसे मदद माँगी गई थी और वो पुलिस थाने पहुँचे थे, लेकिन उन्होंने इस केस में कोई हस्तक्षेप नहीं किया।

पुणे में एक बिल्डर के नाबालिग बेटे ने पब में दारू पार्टी करने के बाद पोर्शे की करोड़ों की कार लेकर एक युवक और एक युवती को कुचल कर मार डाला। इसके बाद इस मामले में कुछ ऐसी घटनाएँ हुईं जिनसे पुलिस और न्यायपालिका में लोगों का भरोसा डिग रहा है। आरोपित को इस घटना पर लेख लिखने के लिए कह कर जमानत दे दी गई। पुलिस ने कमजोर धारा लगाई। अब गवाहों को ही उलटा धमकाए जाने की बात सामने आई है जो व्यवस्था पर सवाल खड़े कर रही है।

‘Punekar News’ ने अपनी खबर में बताया है कि जहाँ आरोपित के साथ VIP अतिथि जैसा व्यवहार किया गया, वहीं मृतकों की तरफ से जो लोग आए थे उन्हें पुलिस के सहयोग के लिए भी तरसना पड़ा। मृतक IT इंजीनियरों अश्विनी कोस्टा और अनीस अवधिया की उम्र मात्र 24 वर्ष थी। उन्हें शास्त्रीनगर के सह्याद्रि हॉस्पिटल ले जाया गया, जहाँ पता चला कि मौके पर ही उनकी मौत हो गई थी। वहाँ मौजूद लोगों ने ड्राइवर की सीट से नाबालिग को निकाला और उसकी पिटाई की।

यरवदा पुलिस थाने ले जाए जाने के बाद पता चला कि वो नाबालिग है। केशवनगर में सॉफ्टवेयर इंजीनियर और अनीस अवधिया के कजन भाई पारस सोनी ने बताया कि तड़के सुबह फोन कॉल पाने के बाद वो पुलिस थाने की तरफ भागे, जहाँ उन्होंने देखा कि गिरफ्तार नाबालिग को VIP ट्रीटमेंट मिल रहा है। उसे पिज्जा खिलाया जा रहा था, साथ ही आराम से सुलाया भी गया था। उन्होंने इस मामले में एक स्थानीय विधायक के शामिल होने के आरोप लगाए।

पारस सोनी ने बताया कि जब उन्होंने इस मामले में FIR दर्ज कर के संदिग्धों का मेडिकल परीक्षण की माँग की, पुलिस वाले बिना ज़रूरत के गुस्सा हो गए और उलटा मृतकों के परिजनों पर ही केस की धमकी देने लगे। जब मृतकों के दोस्त बतौर गवाह सामने आए तो पुलिस ने उन सबको हिरासत में लेने की धमकी देते हुए कहा कि जाँच कराई जाएगी कि उन्होंने शराब पी रखी थी या नहीं। पारस सोनी का कहना है कि आरोपित लड़के की रसूखदार पृष्ठभूमि से पुलिस प्रभावित दिखी।

उन्होंने कहा, “संयोग से भीड़ ने लड़के को पकड़ लिया। गवाहों ने उसकी पहचान की पुष्टि की। इसके बावजूद पुलिस ने स्थानीय MLA के साथ मिल कर किसी और को ड्राइवर बताने की साजिश रची ताकि मामले को कवर-अप किया जा सके। हमने मीडिया और अपने संपर्कों को सब कुछ बताने की चेतावनी दी। चूँकि लड़के को पीटा गया था, हमने उसे तुरंत पहचान लिया। हमारे पास वीडियो भी था। अंततः हम मीडिया के पास मदद के लिए पहुँचे। आखिरकार सुबह के 11 बजे पुलिस लड़के को मेडिकल परीक्षण के लिए ले गई।”

पारस सोनी ने बताया कि इस दौरान वो लोग परिजनों को ढाँढस बँधाने, मृतकों के शवों को प्राप्त करने और एम्बुलेंस की व्यवस्था वगैरह जैसे कार्यों में व्यस्त थे। मराठी न आने के कारण परिजनों को परेशानी हुई सो अलग। आरोपित को पुलिस अर्टिगा कार से नाबालिगों वाले कोर्ट में लेकर गई, साथ में 2 मर्सिडीज कार में 3 वकील थे, जिनमें एक महिला वकील थे। वहीं जिस विधायक के बारे में पारस सोनी बता रहे थे, वो NCP (अजीत पवार गुट) का हिस्सा हैं।

वडगाँव विधायक सुनील टिंगरे ने कहा कि लड़के के पिता के साथ उनके व्यापारिक रिश्ते हैं और वो परिवार उनके ही विधानसभा क्षेत्र में रहता है। उन्होंने कहा कि इसी कारण उनसे मदद माँगी गई थी और वो मदद करने पुलिस थाने पहुँचे थे, लेकिन उन्होंने इस केस में कोई हस्तक्षेप नहीं किया। जहाँ मृतकों के परिजन थाने के बाहर बयान देने के लिए इंतजार कर रहे थे, मर्सिडीज से आए 17 वर्षीय आरोपित के परिजनों को पुलिस थाने के अंदर लेकर गई।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NEET पर जिस आयुषी पटेल के दावों को प्रियंका गाँधी ने दी हवा, उसके खुद के दस्तावेज फर्जी: कहा था- NTA ने रिजल्ट नहीं...

इलाहाबाद हाई कोर्ट में झूठी साबित होने के बाद आयुषी पटेल ने अपनी याचिका भी वापस लेने का अनुरोध किया। कोर्ट ने NTA को छूट दी है कि वह आयुषी पटेल के खिलाफ नियमानुसार एक्शन ले।

‘अच्छा! तो आपने मुझे हराया है’: विधानसभा में नवीन पटनायक को देखते ही हाथ जोड़ कर खड़े हो गए उन्हें हराने वाले BJP के...

विधानसभा में लक्ष्मण बाग ने हाथ जोड़ कर वयोवृद्ध नेता का अभिवादन भी किया। पूर्व CM नवीन पटनायक ने कहा, "अच्छा! तो आपने मुझे हराया है?"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -