Thursday, June 20, 2024
Homeदेश-समाजनिजी सेना, बुलेटप्रूफ जैकेट और निजी फायरिंग रेंज: अमृतपाल ने 'खालिस्तानी डॉलर' का बना...

निजी सेना, बुलेटप्रूफ जैकेट और निजी फायरिंग रेंज: अमृतपाल ने ‘खालिस्तानी डॉलर’ का बना रखा था डिजाइन, नशेड़ियों और पूर्व सैनिकों को AKF में कर रहा था भर्ती

IGP गिल ने कहा कि परिस्थितियों को देखते हुए ऐसा लगता है कि इसमें पाकिस्तान की आईएसआई भी शामिल है और विदेशी फंडिंग भी। बता दें कि पंजाब पुलिस ने इसके पहले कहा था कि अमृतपाल AKF बनाने की कोशिश कर रहा था। इसके लिए उसने 35 बुलेटप्रूफ जैकेट, गाड़ियाँ और हथियार खरीदे थे। इन जैकेटों और राइफलों पर उसने इस संगठन का नाम तक छाप दिया था।

पाकिस्तान से लगते सीमावर्ती राज्य पंजाब में अस्थिरता फैलाने के लिए खालिस्तानी अमृतपाल सिंह किस तरह लगा हुआ था, इसका अब खुलासा हो रहा है। दुबई से भारत आकर ‘वारिस पंजाब दे’ संगठन पर कब्जा करने के बाद अमृतपाल ने एक निजी फौज तैयार कर रहा था। उसके सदस्यों को वह गाँव के फायरिंग रेंज में गोली चलाने की ट्रेनिंग भी देता था।

अमृतपाल ने ‘आनंदपुर खालसा फौज (AKF)’ के नाम से एक निजी सेना तैयार कर रहा था। इसमें वह युवकों का माइंडवॉश करके भर्ती करता था। इसके साथ ही उन्हें हथियार चलाने की ट्रेनिंग भी देता था। इसके लिए उसने गाँव जल्लूपुर खेड़ा में नदी के किनारे स्थाई फायरिंग रेंज भी बनाया था। फायरिंग की ट्रेनिंग देते हुए उसका एक वीडियो भी सामने आया है।

यह बात भी सामने आई है कि वह ड्रग्स एडिक्ट और बदमाश बने सुरक्षाबल के पूर्व लोगों को विशेष तौर पर अपने साथ जोड़ रहा था। अमृतपाल अपने लोगों को उन पूर्व सैनिकों की तलाश शुरू करने के लिए कहा था कि जिन्हें बुरे आचरण की वजह सेना से जबरन सेवानिवृत्त कर दिया गया था। वह इन का इस्तेमाल हथियारों के प्रशिक्षण देने के लिए करना चाहता था।

पंजाब पुलिस का कहना है कि इस अस्थायी रेंज में युवाओं को हाईटेक हथियारों को पकड़ने, उसे लोड करने और चलाने का प्रशिक्षण दिया गया था। पुलिस ने बुधवार (22 मार्च 2023) को अमृतपाल के गनमैन तेजिंदर सिंह गिल उर्फ गोरखा बाबा को गिरफ्तार किया था। उसके मोबाइल फोन में इससे संबंधित कई तस्वीर और वीडियो मिले हैं।

इन तस्वीरों और वीडियो से अमृतपाल की देशद्रोही गतिविधियों में से एक और साजिश का खुलासा हुआ। पुलिस को गोरखा बाबा की मोबाइल से आनंदपुर खालसा फौज के होलोग्राम भी मिले हैं। इसके अलावा, ‘खालिस्तानी डॉलर’ का प्रारूप और डिजाइन भी मिले हैं। इसके साथ ही कई अन्य तरह के वीडियो भी मिले हैं।

पुलिस महानिरीक्षक (आईजीपी-मुख्यालय) सुखचैन सिंह गिल ने कहा कि बाबा के फोन से बरामद तस्वीरें और वीडियो अमृतपाल और उसके समूह की सीमावर्ती राज्य में भयावह गड़बड़ी की ओर इशारा करने के लिए पर्याप्त हैं। वीडियो यह दिखाने के लिए काफी हैं कि वे राष्ट्रीय सुरक्षा और पंजाब की शांति और सद्भाव के लिए कितना बड़ा खतरा बन रहे थे।

उन्होंने कहा कि परिस्थितियों को देखते हुए ऐसा लगता है कि इसमें पाकिस्तान की आईएसआई भी शामिल है और विदेशी फंडिंग भी। बता दें कि पंजाब पुलिस ने इसके पहले कहा था कि अमृतपाल AKF बनाने की कोशिश कर रहा था। इसके लिए उसने 35 बुलेटप्रूफ जैकेट, गाड़ियाँ और हथियार खरीदे थे। इन जैकेटों और राइफलों पर उसने इस संगठन का नाम तक छाप दिया था।

IGP गिल ने कहा कि बाबा के खिलाफ खन्ना पुलिस ने भारतीय दंड संहिता (IPC) की धारा 188 (लोक सेवक द्वारा विधिवत आदेश देने की अवज्ञा) और 336 (दूसरों की निजी सुरक्षा को खतरे में डालने वाला कार्य) और शस्त्र की धारा 27 के तहत मामला दर्ज किया है। उन्होंने कहा कि अमृतपाल की योजनाओं की विस्तृत जानकारी के लिए पुलिस टीम बाबा से पूछताछ कर रही है।

आईजीपी ने कहा कि अब तक कुल 207 लोगों को हिरासत में लिया गया है, जिनमें से 30 आपराधिक गतिविधियों में शामिल हैं। उन्होंने कहा कि 177 लोगों को एहतियातन हिरासत में लिया गया है। उन्होंने कहा कि ‘कट्टर तत्वों’ के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी और ‘गुमराह और निर्दोष युवाओं’ को चेतावनी देकर छोड़ दिया जाएगा।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

14 फसलों पर MSP की बढ़ोतरी, पवन ऊर्जा परियोजना, वाराणसी एयरपोर्ट का विस्तार, पालघर का पोर्ट होगा दुनिया के टॉप 10 में: मोदी कैबिनेट...

पालघर के वधावन पोर्ट की क्षमता अब 298 मिलियन टन यूनिट की जाएगी। इससे भारत-मिडिल ईस्ट कॉरिडोर भी मजबूत होगा। 9 कंटेनर टर्मिनल होंगे।

किताब से बहती नदी, शरीर से उड़ते फूल और खून बना दूध… नालंदा की तबाही का दोष हिन्दुओं को देने वाले वामपंथी इतिहासकारों का...

बख्तियार खिजली को क्लीन-चिट देने के लिए और बौद्धों को सनातन से अलग दिखाने के लिए वामपंथी इतिहासकारों ने नालंदा विश्वविद्यालय को तबाह किए जाने का दोष हिन्दुओं पर ही मढ़ दिया। इसके लिए उन्होंने तिब्बत की एक किताब का सहारा लिया, जो इस घटना के 500 साल बाद लिखी गई थी और जिसमें चमत्कार भरे पड़े थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -