Friday, July 19, 2024
Homeविविध विषयअन्य5000 ग्राम सोना देने का किया वादा... फिर धोखाधड़ी की: शिल्पा शेट्टी और पति...

5000 ग्राम सोना देने का किया वादा… फिर धोखाधड़ी की: शिल्पा शेट्टी और पति राज कुंद्रा ‘गोल्ड स्कैम’ में फँसे, कोर्ट ने पुलिस को दिए जाँच के आदेश

अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश एन पी मेहता ने अपने आदेश में कहा कि कुंद्रा दंपती, उनके द्वारा स्थापित कंपनी सतयुग गोल्ड प्राइवेट लिमिटेड तथा कंपनी के दो और निदेशकों एवं एक कर्मचारी के खिलाफ प्रथम दृष्टया संज्ञेय अपराध बनता है।

बॉलीवुड अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी और उनके पति राज कुंद्रा की मुश्किलें एक बार फिर बढ़ गई हैं। इस दफा उनके ऊपर गोल्ड स्कीम में निवेशकों के साथ धोखाधड़ी करने का आरोप लगा है। ये आरोप ‘ऋद्धि सिद्धि बुलियंस’ के मैनेजिंग डायरेक्टर पृथ्वीराज कोठारी ने लगाया है। उन्होंने इस संबंध में बीकेसी थाने में शिकायत दी थी।

उनकी शिकायत पर संज्ञान लेते हुए मुंबई की एक कोर्ट ने पुलिस को जाँच करने के निर्देश दे दिए हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक, अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश एन पी मेहता ने अपने आदेश में कहा कि कुंद्रा दंपती, उनके द्वारा स्थापित कंपनी सतयुग गोल्ड प्राइवेट लिमिटेड तथा कंपनी के दो और निदेशकों एवं एक कर्मचारी के खिलाफ प्रथम दृष्टया संज्ञेय अपराध बनता है।

इसके साथ ही कोर्ट ने पुलिस को निर्देश दिए कि मामले की जाँच के बाद अगर आरोप सही पाए जाते हैं तो धोखाधड़ी, क्राइम और भरोसा तोड़ने के लिए भारतीय दंड संहिता की संबंधित धाराओं के तहत उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की जाए।

बता दें कि शिल्पा शेट्टी और राज कुंद्रा समेत अन्य लोगों के खिलाफ कोठारी ने अपनी शिकायत में कहा कि इन लोगों ने साल 2014 में एक योजना को शुरू किया था। इसमें निवेश करने वालों के लिए स्कीम थी कि उन्हें आवेदन करते समय डिस्काउंट रेट पर सोने का एडवांस पेमेंट करने की बात कही गई थी और फिर स्कीम की मैच्योरिटी पर उन्हें तय अमाउंट में सोना दिया जाना था।

कोठारी के मुताबिक उन्होंने इस योजना में 90,38,600 रुपए का निवेश किया कि उन्हें 2 अप्रैल 2019 को 5000 ग्राम 24 कैरेट सोना दिया जाएगा। हालाँकि कंपनी ने अपना वादा पूरा नहीं किया। ऐसे में उन्होंने शिकायत दर्ज कराई और अब इस मामले में कोर्ट ने आदेश के लि

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -