Thursday, July 29, 2021
Homeदेश-समाजभाई जीशान ने साजिद, अमजद और वाजिद के साथ मिलकर 10 साल की बहन...

भाई जीशान ने साजिद, अमजद और वाजिद के साथ मिलकर 10 साल की बहन के साथ किया गैंगरेप फिर हत्या, गिरफ्तार

पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार आरोपितों के नाम जीशान अली, साजिद अली, अमजद अली और वाजिद अली है। इनमें जीशान अली मुख्य आरोपित है, जो मृतक बच्ची का बड़ा भाई है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुलेश चौधरी ने बताया कि आरोपितों ने पूछताछ के दौरान गुनाह कबूला।

राजस्थान के जयपुर में एक भाई द्वारा तीन दोस्‍तों के साथ मिलकर अपनी सगी 10 साल की मंदबुद्धि बहन से गैंगरेप कर उसे मौत के घाट उतारने का शर्मनाक मामला सामने आया है। मनोहरपुर थाना पुलिस ने वारदात का पर्दाफाश करते हुए मामले में लिप्त चारों आरोपितों को शनिवार (मई 23, 2020) को गिरफ्तार कर लिया।

17 मई की शाम को हुई वारदात में भाई ने छोटी बहन का अपहरण करने के बाद सुनसान जगह पर अपने तीन दोस्तों के साथ बारी-बारी से गैंगरेप किया। इसके बाद गला दबाकर बहन की हत्या कर दी।

चारों ने लाश को पहाड़ी वन क्षेत्र में एक नाले में फेंक दिया। बच्ची के शरीर से उसके कपड़े और चप्पल उतारकर आस-पास बबूल के पेड़ों पर फेंक दिया। वारदात में मुख्य अभियुक्त शातिर भाई व उसके दोस्तों ने पुलिस को गुमराह करने के लिए पुलिस के साथ लापता बहन को तलाश करने में मदद का नाटक करते हुए गुमराह करने का प्रयास भी किया। मगर सीसीटीवी फुटेज, मोबाइल कॉल डिटेल्स के आधार पर हुई जाँच में पुलिस की गिरफ्त में आ गए। 

पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार आरोपितों के नाम जीशान अली, साजिद अली, अमजद अली और वाजिद अली है। इनमें जीशान अली मुख्य आरोपित है, जो मृतक बच्ची का बड़ा भाई है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुलेश चौधरी ने बताया कि आरोपितों ने पूछताछ के दौरान गुनाह कबूला।

आरोपितों ने बताया कि मंदबुद्धि होने के कारण पीड़िता कपड़ों में शौच करती थी। वो बोझ थी, इसलिए उनलोगों ने उसकी हत्या की सोची। इसके बाद 17 मई की शाम को जीशान अली अपने तीनों आरोपित दोस्तों के साथ अपनी मंदबुद्धि बहन को घर से बहाना कर टोडी गाँव के पहाड़ी जंगलों में ले गया। वहाँ भाई जीशान और उसके तीनों दोस्तों ने मासूम बच्ची से बारी-बारी से दुष्कर्म किया। इसके बाद गला दबाकर हत्या कर शव को नाले में फेंक दिया। 

पुलिस ने बताया कि मृतक बच्ची के पिता ने 18 मई को मनोहरपुर थाने में एक रिपोर्ट दर्ज करवाई थी। जिसमें बताया कि उनकी 10 साल की बेटी मानसिक विक्षिप्त है। वह 17 मई शाम 4 बजे अचानक घर से लापता हो गई है।

इसके बाद पुलिस ने अपहरण का केस दर्ज कर जाँच शुरु किया। इसके बाद 21 मई को लापता हुई बच्ची का शव मनोहरपुर के कुंभावास में वन क्षेत्र में क्षत-विक्षत हालत में मिला। पुलिस ने एफएसएल टीम से मौका मुआयना करवाया। इसके बाद शव का निम्स हॉस्पिटल, चंदवाजी में पोस्टमार्टम करवाया। जिसमें बच्ची की हत्या व दुष्कर्म का मामला सामने आया।

जयपुर ग्रामीण पुलिस अधीक्षक शंकर दत्त शर्मा ने बताया कि इस मामले में परिवार के बाकी सदस्यों की भूमिका की भी जाँच की जा रही है। मामले की जाँच अतिरिक्त्त पुलिस अधीक्षक सलेश चैधरी को सौंपी गई है। 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘पूरे देश में खेला होबे’: सभी विपक्षियों से मिलकर ममता बनर्जी का ऐलान, 2024 को बताया- ‘मोदी बनाम पूरे देश का चुनाव’

टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी ने विपक्ष एकजुटता पर बात करते हुए कहा, "हम 'सच्चे दिन' देखना चाहते हैं, 'अच्छे दिन' काफी देख लिए।"

कराहते केरल में बकरीद के बाद विकराल कोरोना लेकिन लिबरलों की लिस्ट में न ईद हुई सुपर स्प्रेडर, न फेल हुआ P विजयन मॉडल!

काँवड़ यात्रा के लिए जल लेने वालों की गिरफ्तारी न्यायालय के आदेश के प्रति उत्तराखंड सरकार के जिम्मेदारी पूर्ण आचरण को दर्शाती है। प्रश्न यह है कि हम ऐसे जिम्मेदारी पूर्ण आचरण की अपेक्षा केरल सरकार से किस सदी में कर सकते हैं?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,743FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe