Friday, December 3, 2021
Homeदेश-समाजमहाराणा प्रताप की प्रतिमा तोड़ने से उबला क्षत्रिय समाज, 7 दिन का दिया अल्टीमेटम

महाराणा प्रताप की प्रतिमा तोड़ने से उबला क्षत्रिय समाज, 7 दिन का दिया अल्टीमेटम

राजस्थान के बांसवाड़ा में एक युवक चिल्लाते हुए लाठी लेकर प्रतिमा पर चढ़ गया। इससे पहले कि कोई कुछ समझ पाता उसने प्रतिमा का भाला तोड़ दिया।

राजस्थान के बांसवाड़ा में महाराणा प्रताप सर्कल स्थित महाराणा प्रताप की मूर्ति तोड़े जाने पर क्षत्रिय समाज ने गहरी नाराजगी जताई है। जानकारी के मुताबिक, शुक्रवार (जुलाई 5, 2019) दोपहर एक युवक चिल्लाते हुए लाठी लेकर प्रतिमा पर चढ़ गया। इससे पहले कि कोई कुछ समझ पाता युवक ने प्रतिमा का भाला तोड़ दिया। उसकी इस हरकत ने लोगों को चौंका दिया।

इसके बाद कुछ लोग प्रतिमा की तरफ दौड़े और युवक को नीचे उतारने की कोशिश करने लगे। लेकिन, युवक उन्हें लाठी दिखाकर डराने लगा। इससे पहले कि युवक और उत्पात मचाता बड़ी मुश्किल से कुछ लोगों ने उसे नीचे उतारा और थाने ले गए।

जैसे ही घटना का वीडियो वायरल हुआ, क्षत्रिय समाज के लोग भड़क उठे। राजपूत करणी सेना के कार्यकर्ताओं ने विरोध जताते हुए प्रदर्शन किया। करणी सेना ने कहा है कि इस घटना से क्षत्रिय समाज आहत है। ऐसा लगता है कि युवक को मोहरा बनाकर साजिशन महाराणा प्रताप की प्रतिमा के साथ तोडफोड़ की गई है। उन्होंने एसपी तेजस्विनी गौतम से दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की माँग की गई है।

करणी सेना ने नई प्रतिमा स्थापित करवाने की भी माँग की है। 7 दिनों में नई प्रतिमा स्थापित नहीं होने पर जन आंदोलन की चेतावनी दी है। इस दौरान क्षत्रिय समाज के जगमाल सिंह, राजपूत समाज के अध्यक्ष राजेंद्र सिंह आनंदपुरी और अन्य लोग भी थे। आरोपित के खिलाफ सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुँचाने का मामला दर्ज किया गया है। पुलिस का कहना है कि आरोपित की मानसिक हालत ठीक नहीं लगती। इसलिए, उसे मेडिकल परीक्षण के लिए भेजा गया है। आरोपित ने पहले सागर और फिर बाद में गंगासागर का निवासी होने का दावा किया। राजेंद्र सिंह आनंदपुरी ने इस घटना के पीछे किसी  साजिश की आशंका जताते हुए प्रशासन से मामले की गहराई से जाँच करने का आग्रह किया।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सियासत होय जब ‘हिंसा’ की, उद्योग-धंधा कहाँ से होय: क्या अडानी-ममता मुलाकात से ही बदल जाएगा बंगाल में निवेश का माहौल

एक उद्योगपति और मुख्यमंत्री की मुलाकात आम बात है। पर जब मुख्यमंत्री ममता बनर्जी हों और उद्योगपति गौतम अडानी तो उसे आम कैसे कहा जा सकता?

पाकिस्तानी मूल की ऑस्ट्रेलियाई सीनेटर मेहरीन फारुकी से मिलिए, सुनिए उनकी हिंदू घृणा- जानिए PM मोदी से उनको कितनी नफरत

मेहरीन फारूकी ने ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन के अच्छे दोस्त PM नरेंद्र मोदी को घेरने के बहाने संघीय सीनेट में घृणा के स्तर तक उतर आईं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
141,299FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe