Sunday, July 25, 2021
Homeदेश-समाजराजस्थान में मंदिर में दीपक जलाने पर दो समुदायों में विवाद: सद्दाम, शाहरुख, जावेद,...

राजस्थान में मंदिर में दीपक जलाने पर दो समुदायों में विवाद: सद्दाम, शाहरुख, जावेद, अरशद, एजाज और जाबिर ने की पत्थरबाजी

बताया जा रहा है कि मंदिर पर की गई पत्थरबाजी के दौरान शीशे की कई वस्तुएँ भी टूट गई है। पुलिस ने मामले में एक युवक को हिरासत में ले लिया है बाकी अन्य आरोपितों की तलाश की जा रही है। इस घटना के बाद से गाँव में सांप्रदायिक तनाव पैदा हो गया है।

कोरोना वायरस के विरुद्ध लड़ाई में पूरा देश एक बार फिर एकजुट हो गया। इस महामारी के अंधकार को चुनौती देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील पर देश के 130 करोड़ लोग रात नौ बजे नौ मिनट के लिए दीये जलाए। दिल्ली एनसीआर से लेकर देश के कोने-कोने से लोगों ने घरों के बाहर दीये और मोमबत्ती जलाकर ये संदेश दिया कि वो कोरोना के खिलाफ लड़ाई में एकजुट हैं। हालाँकि, इस दौरान राजस्थान में दीया जलाने पर विवाद की घटना सामने आ रही है।

राजस्थान के सीकर के हेतमसर गाँव में कुछ ग्रामीण दीपक जला रहे थे, तो दूसरे समुदाय के कुछ लोगों ने जान बूझकर उनके ऊपर पत्थरबाजी करनी शुरू कर दी। जिसमें दीपक जलाने वाले लोग बुरी तरह घायल हो गए। थानाधिकारी उमाशंकर शर्मा ने इस बात की जानकारी देते हुए बताया कि हेतमसर के प्रवेश पर माली समाज के पाँच-छह घरों की ढाणी है, जहाँ स्थित बालाजी मंदिर में प्रधानमंत्री के आह्वान पर रूकमानंद सैनी, मनोज सैनी, जीनकूदेवी, कैलाश, सुशील कुमार तथा भागूराम द्वारा दीपक जलाए जा रहे थे। तभी अचानक सद्दाम, शाहरुख, जावेद, अरशद, एजाज, जाबिर ने आकर उनसे दीपक जलाने से मना किया। इस पर विवाद शुरू हो गया। जिसके बाद उन लोगों ने दीपक जलाने से मना करते हुए उन पर पथराव करना शुरू कर दिया।

अचानक पत्थरबाजी की घटना से रूकमानंद सहित सैनी परिवार बुरी तरह से डर गया तथा चिल्लाने लगा। उनकी आवाज सुनकर ग्रामीण इकट्ठा हो गए। ग्रामीणों को इकट्ठा होता देख आरोपित फरार हो गए। मामले की जानकारी मिलने पर फतेहपुर डीएसपी ओमप्रकाश किलानियां के नेतृत्व में रामगढ़ व फतेहपुर से पुलिस दस्ता पहुँचा और आरोपितों की तलाश शुरू की। 

बताया जा रहा है कि मंदिर पर की गई पत्थरबाजी के दौरान शीशे की कई वस्तुएँ भी टूट गई है। पुलिस ने मामले में एक युवक को हिरासत में ले लिया है बाकी अन्य आरोपितों की तलाश की जा रही है। इस घटना के बाद से गाँव में सांप्रदायिक तनाव पैदा हो गया है।

गौरतलब है कि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 5 मार्च की रात 9 बजे 9 मिनट के लिए देशवासियों से एक खास अपील की थी। कोरोना वायरस के खिलाफ देश की एकजुटना प्रदर्शित करने के लिए पीएम ने सुझाव दिया था कि इस वक्‍त 9 मिनट के लिए घरों की बत्तियाँ बुझा दी जाएँ। उसकी जगह दीयें, मोमबत्‍ती, टॉर्च, मोबाइल की फ्लैश लाइट जलाएँ।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मणिपुर के सेब, आदिवसियों की बेर और ‘बनाना फाइबर’ से महिलाओं की कमाई: Mann Ki Baat में महिला शक्ति की कहानी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार (25 जुलाई, 2021) को 'मन की बात' के 79वें एपिसोड के जरिए देश की जनता को सम्बोधित किया।

हेमंत सोरेन की सरकार गिराने वाले 3 ‘बदमाश’: सब्जी विक्रेता, मजदूर और दुकानदार… ₹2 लाख में खरीदते विधायकों को?

अब सामने आया है कि झारखंड सरकार गिराने की कोशिश के आरोपितों में एक मजदूर है और एक ठेला लगा सब्जी/फल बेचता है। एक इंजिनियर है, जो अपने पिता की दुकान चलाता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,111FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe