Tuesday, August 3, 2021
Homeदेश-समाजमहिलाओं के शरीर पर ॐ और कमल निशान, दावा मुस्लिम पुरुषों की है लालसा:...

महिलाओं के शरीर पर ॐ और कमल निशान, दावा मुस्लिम पुरुषों की है लालसा: Reddit पर चल रहा ‘सेक्स जिहाद’

अपलोड की गई तस्वीरों के साथ लिखा हुआ है कि भारत में इस्लामिक आक्रमण के दौरान हिन्दू रानियाँ अपनी इच्छा से खुद को मुस्लिम आक्रान्ताओं को सौंप देती थीं, क्योंकि वे सेक्सुअली अधिक सक्षम होते थे।

दिल्ली पुलिस ने ओपन सोर्स प्लेटफॉर्म गिटहब (GitHub) पर संचालित सुल्ली डील्स नामक एप्लीकेशन के खिलाफ गुरुवार (09 जुलाई 2021) को एफआईआर दर्ज की। इस एप्लीकेशन के माध्यम से मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरों और उनकी सोशल मीडिया जानकारियों को बिना अनुमति के इकट्ठा किया जा रहा था और इन जानकारियों को नीलामी के लिए रखा जा रहा था। सोशल मीडिया पर सुल्ली डील्स (Sulli Deals) के वायरल होने के बाद यह आरोप लगाया गया कि इसे हिंदुओं के द्वारा बनाया गया है, जबकि यह अभी तक पता नहीं चला है कि इस एप्लीकेशन को किसने बनाया है।

हालाँकि इस बीच सोशल मीडिया यूजर्स ने लेफ्ट-लिबरल प्रभुत्व वाले न्यूज और डिस्कशन प्लेटफॉर्म रेडिट (Reddit) पर कई ऐसे सब-रेडिट दिखाई दिए जहाँ पोर्नोग्राफिक और न्यूड तस्वीरें शेयर की गई थीं। इनके बारे में यह दावा किया जा रहा था कि यह तस्वीरें उन हिन्दू महिलाओं की हैं जो मुस्लिम पुरुषों की इच्छा रखती हैं।

प्लेटफॉर्म पर कई ऐसे सब-रेडिट थे जिनके नाम बेहद आपत्तिजनक हैं। इनमें हिन्दू महिलाओं की तस्वीरें साझा करने का दावा किया जा रहा है। इनमें से कुछ सब-रेडिट हैं, r/dharmikrandis, r/Hinduslutsmuclimcock, r/Muslimbullvshindusluts, r/SanskariSluts, r/hindubitchmuslimbull। इस प्लेटफॉर्म में शेयर की जा रही महिलाओं के शरीर पर हिंदुओं के पवित्र चिन्ह ‘ॐ’ और कमल के फूल को अंकित किया गया था। साथ ही मुस्लिम बताए जाने वाले पुरुषों पर इस्लामिक चिन्ह अंकित किए गए थे।

रेडिट में शेयर की गई तस्वीरों के साथ दिए गए कैप्शन

चूँकि इन सब-रेडिट में पोर्नोग्राफिक कंटेन्ट शेयर किया गया है अतः हम उन्हें यहाँ नहीं दिखा सकते हैं। इसके अलावा प्लेटफॉर्म में लॉगइन करने की जरूरत भी होती है। इन समूहों में पॉर्न साइट्स और सोशल मीडिया से उठाई गई तस्वीरों को शेयर किया जा रहा है। साथ ही कई तस्वीरों को एडिट किया गया है। कई सेलिब्रिटी की तस्वीरें भी इन सब-रेडिट में दिखाई दे रही हैं। हालाँकि इन सेलिब्रिटी के अलावा बाकी महिलाओं के बारे में यह जानकारी नहीं है कि क्या वाकई में वे महिलाएँ हिन्दू ही हैं। लेकिन दावा यही किया जा रहा है कि ये सभी हिन्दू महिलाएँ हैं जो मुस्लिम पुरुषों की लालसा में हैं। इन सब-रेडिट को देखकर यही लगता है कि ये मुस्लिम पुरुषों की हिन्दू महिलाओं के प्रति यौन उत्कंठा का परिणाम है।

इन सब-रेडिट में कई ऐसे कैप्शन दिए गए हैं जिनमें हिन्दू रानियों के विषय में अस्वीकार्य बातें कही गई हैं। अपलोड की गई तस्वीरों के साथ यह लिखा हुआ है कि भारत में इस्लामिक आक्रमण के दौरान हिन्दू रानियाँ अपनी इच्छा से खुद को मुस्लिम आक्रान्ताओं को सौंप देती थीं, क्योंकि ये आक्रांता सेक्सुअली अधिक सक्षम होते थे। इस प्लेटफॉर्म पर मुस्लिम बताए जा रहे पुरुषों की यौन उत्कंठा और कुछ नहीं बल्कि हेट सेक्स है। यह साफ है कि वो हिन्दू महिलाओं के साथ सिर्फ हिन्दू घृणा के चलते सेक्स करना चाहते हैं न कि प्रेम के चलते।

हेट सेक्स को एक ऐसे सेक्स के रूप में परिभाषित किया जा सकता है, जिसमें दो लोगों में शारीरिक संबंध तो हों लेकिन कोई संवेदनात्मक संबंध न हो और दोनों में से किसी एक के अंदर दूसरे के लिए घृणा का भाव हो। कई मामलों में इस प्रकार के संबंध बलात्कार, हत्या और एसिड अटैक के कारण बनते हैं।

ज्ञात हो कि क्लबहाउस पर कथित सोशल मीडिया इंफ्लुएंसर्स की एक चर्चा 09 जून 2021 को ट्विटर पर वायरल हुई थी। इसमें वक्ता ‘संघियों’ के साथ ‘हेट सेक्स’ को नॉर्मल बता रहा था, क्योंकि महिलाएँ ‘हॉट’ होती हैं। क्लबहाउस पर ‘सेक्स विद योर एक्स’ शीर्षक पर एक चर्चा हुई थी, जिसमें ‘डू यू ऑनली डेट हॉट पीपुल’ टॉपिक पर बोलते हुए एक वक्ता नीरज कदंबूर ने उन महिलाओं पर बेहद आपत्तिजनक बात कही, जो उसकी राजनैतिक विचारधारा से मेल नहीं रखती हैं। Squineon नाम के एक ट्विटर यूजर ने ऑडियो शेयर करते हुए इसे ‘सेक्स जिहाद’ नाम दिया था और बातचीत में शामिल लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की माँग की थी। इस मामले में विवाद उठने के बाद यह कहते हुआ हेट सेक्स का बचाव किया गया था यह भी सहमति से हो सकता है और इसमें कुछ भी बुरा नहीं है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘माँस फेंक करते हैं परेशान’: 81 हिन्दू परिवारों ने लगाए ‘मकान बिकाऊ है’ के पोस्टर, एक्शन में मुरादाबाद पुलिस

उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद स्थित कटघर थाना क्षेत्र में स्थित इस कॉलोनी में 81 हिन्दू परिवारों ने 'मकान बिकाऊ है' के पोस्टर लगा दिए हैं। वहाँ बसे मुस्लिमों पर परेशान करने के आरोप।

4 साल में 4.5 करोड़ को मरवाया, हिटलर-स्टालिन से भी बड़ा तानाशाह: ओलंपिक में चीन के खिलाड़ियों ने पहना उसका बैज

जापान की राजधानी टोक्यो में चल रहे ओलंपिक खेलों में चीन के दो खिलाड़ियों को स्वर्ण पदक जीतने के बाद माओ का बैज पहने हुए देखा गया। विरोध शुरू।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,740FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe