Monday, May 20, 2024
Homeदेश-समाजनेहा जैसा न हो MBBS डॉक्टर का हश्र: जिसके पिता IAS अधिकारी, उसे दवा...

नेहा जैसा न हो MBBS डॉक्टर का हश्र: जिसके पिता IAS अधिकारी, उसे दवा बेचने वाले अब्दुर्रहमान ने फँसा लिया… इकलौती बेटी को बचाने की गुहार

सारंगी की पत्नी ने कहा कि कर्नाटक में नेहा नाम की लड़की की हत्या के बाद वो अपनी बेटी की सुरक्षा को लेकर बेहद डरी हुईं हैं। अधिकारी की पत्नी ने आगे कहा कि जो बेटी 'लव जिहाद' की शिकार हुई है, वो उनकी इकलौती संतान है।

कर्नाटक में फैयाज द्वारा नेहा नाम की लड़की की निर्मम हत्या के बाद देश भर में ‘लव जिहाद’ की चर्चा जोरों पर है। इसी बीच ओडिशा के एक पूर्व IAS अधिकारी ने वीडियो जारी कर के अपनी बेटी को भी ‘लव जिहाद’ के चंगुल में फँसा बताया है। उन्होंने अब्दुर्रहमान नाम के युवक पर अपनी एकलौती बेटी को धोखे से जाल में फँसाने और ब्रेनवॉश करने का आरोप लगाया है। रविवार (21 अप्रैल, 2024) को ऑपइंडिया को भेजे गए वीडियो में रिटायर्ड अधिकारी ने अपनी बेटी के साथ भी किसी अनहोनी की आशंका जताते हुए सरकार से मदद की गुहार लगाई है।

वीडियो में पूर्व IAS आर के सारंगी के साथ उनकी पत्नी भी मौजूद हैं। वीडियो की शुरुआत ‘जय जगन्नाथ’ से करने वाले पूर्व IAS रिटायरमेंट के बाद वर्तमान में उड़ीसा के भुवनेश्वर में अपनी पत्नी के साथ रह रहे हैं। उन्होंने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से गुहार लगाई है। RK सारंगी ने बताया कि उनकी बेटी को अक्टूबर 2018 से ही ‘लव जिहाद’ के जाल में फँसा लिया गया है। पूर्व अधिकारी ने बताया कि उन्होंने अपनी तरफ से खोजबीन की तो उनकी बेटी की मौजूदगी मेरठ के मवाना इलाके में पाई गई है।

आगे की बात सारंगी की पत्नी ने पूरी की। उन्होंने कहा कि कर्नाटक में नेहा नाम की लड़की की हत्या के बाद वो अपनी बेटी की सुरक्षा को लेकर बेहद डरी हुई हैं। अधिकारी की पत्नी ने आगे कहा कि जो बेटी ‘लव जिहाद’ की शिकार हुई है, वो उनकी इकलौती संतान है। उन्होंने यह भी कहा कि वो अपनी तरफ से अपनी बेटी को जिहादी के चंगुल से बचाने के लिए हर सम्भव प्रयास कर चुकी हैं लेकिन वो तमाम कोशिशें बेअसर रही हैं। अपनी कोशिशों के नाकाम होने की वजह सारंगी परिवार ने कुछ प्रशासनिक अधिकारियों का दबाव बताया है।

पीड़ित परिवार की यह भी माँग है कि सरकार बहन-बेटियों को जिहादियों के हाथों मरने से बचाने के लिए कोई ठोस कदम उठाए। सारंगी परिवार ने योगी आदित्यनाथ को ही अपनी अंतिम उम्मीद बताया है। पूर्व IAS ने बताया कि उन्होंने अपने जीवन के 35 साल देश की सेवा में समर्पित किए हैं। ऑपइंडिया से बातचीत में सारंगी दम्पति ने यह भी बताया कि अगर उनकी इकलौती बेटी को कुछ हो जाता है तो सम्भवतः वो भी नहीं जी पाएँगे।

यूक्रेन से की डॉक्टरी की पढ़ाई

पूर्व IAS आर के सारंगी अपनी जिस बेटी को ‘लव जिहाद’ के चंगुल में फँसा बता रहे हैं, उसका नाम वर्षा (बदला हुआ नाम, पहचान उजागर होने से संभावित खतरा) है। वर्षा मूलतः ओडिशा की हैं, जिन्होंने प्रारंभिक शिक्षा भारत के अलग-अलग स्थानों से लेने के बाद यूक्रेन से डॉक्टरी की पढ़ाई की। वर्षा को मेडिकल की डिग्री रूसी संस्थान द्वारा जारी हुई है। साल 2016 में यूक्रेन से पढ़ाई करने के बाद वर्षा भारत लौट आईं। तब उनके पिता दिल्ली में तैनात थे। इस दौरान पूरा सारंगी परिवार नोएडा में रहता था। वर्षा नोएडा के एक प्राइवेट अस्पताल में इंटर्नशिप करने लगीं।

नोएडा के अस्पताल में मिला अब्दुर्रहमान

RK सारंगी हमें आगे बताते हैं कि नोएडा के एक अस्पताल में इंटर्नशिप करने के दौरान वर्षा को अब्दुर्रहमान मिला था। वह उसी अस्पताल में यूनानी दवाओं का कोई काम करता था। शुरुआत में वर्षा ने अपने माता-पिता से शिकायत की थी कि अब्दुर्रहमान जबरन उससे बातचीत की कोशिश करता है। इस शिकायत के बाद वर्षा को दूसरे अस्पताल में काम करने के लिए भेजा गया था। बाद में आर के सारंगी का ट्रांसफर गुजरात के राजकोट हो गया था। इसके बाद वर्षा ने अपनी डॉक्टरी का इंटर्नशिप जारी रखने की माँग की और नोएडा में ही कुछ और समय रहने की मोहलत माँगी।

घर में मिली थी जली हालत में

आर के सारंगी ऑपइंडिया को आगे बताते हैं कि एक दिन उन्हें राजकोट में कॉल आई कि उनकी बेटी नोएडा के अपने घर में जल गई है। आनन-फानन में वो नोएडा पहुँचे तो वर्षा एक अस्पताल में जली हालत में भर्ती मिलीं। यहाँ पर अब्दुर्रहमान भी मौजूद मिला, जिसने वर्षा के जलने के सवाल पर गोलमोल जवाब दिया। पुलिस जाँच में वर्षा ने बताया कि उन्हें बेहोशी की हालात में सम्भवतः जलाया गया। जब होश आया तो वो शॉवर के नीचे नग्न हालत में पड़ी थीं। RK सारंगी को अब्दुर्रहमान पर शक हुआ लेकिन उन्होंने पहले बेटी के स्वास्थ्य की चिंता की। इसके बाद वो वर्षा को लेकर राजकोट चले गए।

राजकोट में हुआ इलाज

सारंगी दम्पति हमें आगे बताते हैं कि राजकोट के अस्पताल में इलाज के दौरान पाया गया कि वर्षा के चेहरे पर और सीने पर जले के निशान थे। उन्होंने अपनी बेटी का महँगे से महँगा इलाज करवाया। थोड़ा ठीक होने के बाद वर्षा फिर से इंटर्नशिप पूरा करने के नाम पर नोएडा जाने की जिद करने लगीं। सारंगी दम्पति को आशंका है कि अब्दुर्रहमान छिप कर राजकोट आया था। उसने घायल अवस्था में नग्न पड़ी वर्षा की कई आपत्तिजनक तस्वीरें खींच ली थी, जिसके सहारे पीड़िता को ब्लैकमेल किया गया।

गाजियाबाद में हिन्दू बन कर फर्जी शादी की साजिश

आर के सारंगी ने हमें बताया कि उनकी बेटी को राजकोट से नोएडा लाकर अब्दुर्रहमान गाजियाबाद ले गया। आरोप है कि अप्रैल 2022 में यहाँ एक ‘आर्य समाज सेवा ट्रस्ट’ नाम से बनी संस्था में उसने वर्षा से शादी का नाटक किया। उक्त संस्था पहले से ही विवादित रही है और दयानद सरस्वती वाला ‘आर्य समाज’ से इसका कोई संबंध नहीं है। मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय भी उक्त संस्था पर टिप्पणी करते हुए फटकार लगा चुका है। आरोप है कि अब्दुर्रहमान ने इस शादी में खुद के हिन्दू धर्म में ‘घर वापसी’ का दावा किया था।

हालाँकि, गाजियाबाद पुलिस ने इस केस में IPC की धारा 420 के तहत FIR दर्ज कर ली थी। पूर्व अधिकारी की पत्नी का दावा है कि जिस शादी के नाम पर अब्दुर्रहमान उनकी बेटी को अपनी बीवी बताने का दावा करता है, वो कानूनन अवैध है।

बना रहा है केस वापसी का दबाव

हमसे बातचीत में आर के सारंगी की पत्नी ने बताया कि अब्दुर्रहमान उनकी बेटी को तनाव देकर उन सभी पर केस वापसी का दबाव बना रहा है। केस वापसी से इनकार करने पर लम्बे समय तक वर्षा से बात नहीं करवाई जाती है। बकौल पीड़ित दम्पति, उन्हें यह भी बताया गया कि अब्दुर्रहमान ने कई बार वर्षा की निर्ममता से पिटाई की है। अब वर्षा एक बच्चे की माँ है। आरोप है कि अक्सर अब्दुर्रहमान बच्चे की फोटो स्टेटस पर डाल कर सारंगी दम्पति को चिढ़ाने का भी काम करता है।

सम्पत्ति पर है नजर और ‘लव जिहाद’ का टास्क

सारंगी दम्पति ने आशंका जताई है कि अब्दुर्रहमान की नजर उनकी सम्पत्ति पर है। उन्होंने बताया कि अब्दुर्रहमान यह जानता है कि वर्षा अपने परिवार की इकलौती संतान है। हमें यह भी बताया गया कि मानसिक तनाव के चलते अक्सर आर के सारंगी की तबीयत खराब ही रहने लगी है। सारंगी की पत्नी ने बताया कि उनके परिवार को बर्बाद कर के अब्दुर्रहमान ने न सिर्फ अपने ‘लव जिहाद’ का टास्क पूरा किया है बल्कि सारी चल-अचल सम्पत्ति का मालिक भी बनना चाह रहा है।

‘नहीं मिला साथ तो मार डाली जाएगी बेटी’

सारंगी परिवार ने हमें आगे बताया कि केस वापसी का दबाव सिर्फ इसलिए बनाया जा रहा है, जिससे अब्दुर्रहमान उनकी बेटी को बाद में मार भी डाले तो कोई कानूनी अड़चन न आए। अपनी बेटी को पूरी तरह से ब्रेनवॉश बताते हुए सारंगी परिवार मामले की जाँच CBI या NIA से करवाने की माँग कर हैं। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि किसी अधिकारी के आगे बयान दिलाने से पहले अब्दुर्रहमान उनकी बेटी को ड्रग्स देता है और साथ ही मुँह खोलने पर बेटे को मार डालने के लिए धमकाता है।

पीड़ित परिवार ने कम से कम 1 महीने वर्षा को अपने साथ रखने की गुहार लगाई है। प्रशासन के अलावा सारंगी परिवार ने हिन्दू संगठनों से भी मदद की अपील की है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

राहुल पाण्डेय
राहुल पाण्डेयhttp://www.opindia.com
धर्म और राष्ट्र की रक्षा को जीवन की प्राथमिकता मानते हुए पत्रकारिता के पथ पर अग्रसर एक प्रशिक्षु। सैनिक व किसान परिवार से संबंधित।

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

भारत पर हमले के लिए 44 ड्रोन, मुंबई के बगल में ISIS का अड्डा: गाँव को अल-शाम घोषित चला रहे थे शरिया, जिहाद की...

साकिब नाचन जिन भी युवाओं को अपनी टीम में भर्ती करता था उनको जिहाद की कसम दिलाई जाती थी। इस पूरी आतंकी टीम को विदेशी आकाओं से निर्देश मिला करते थे।

कनाडा, अमेरिका, अरब… AAP ने करोड़ों का लिया चंदा, लेकिन देने वालों की पहचान छिपा ली: ED का खुलासा, खालिस्तानी आतंकी पन्नू ने भी...

ED की एक रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि AAP ने ₹7.08 करोड़ की विदेशी फंडिंग में गड़बड़ियाँ की हैं। इस रिपोर्ट को गृह मंत्रालय को भेजा गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -