Saturday, May 25, 2024
Homeदेश-समाजड्रग सिंडिकेट का मेंबर है सुशांत का स्टाफ दीपेश, रिया ने कबूली ड्रग्स खरीदने...

ड्रग सिंडिकेट का मेंबर है सुशांत का स्टाफ दीपेश, रिया ने कबूली ड्रग्स खरीदने की बात

इस मामले में एनसीबी रिया के भाई शौविक और सुशांत के हाउस मैनेजर सैमुएल मिरांडा को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है। इनकी गिरफ्तारी के बाद ही रिया को तलब किया गया था। यह बात भी सामने आई है कि सुशांत का स्टाफ दीपेश सावंत एक ड्रग्स सिंडिकेट का मेंबर है।

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले ड्रग्स ऐंगल की जॉंच कर रही नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) ने रविवार को करीब छह घंटे रिया चकवर्ती से पूछताछ की। उसे सोमवार को भी ब्यूरो ने हाजिर होने को कहा है। मीडिया रिपोर्टों के अनुसार रिया ने ड्रग्स खरीदने की बात कबूल ली है।

इस मामले में एनसीबी रिया के भाई शौविक और सुशांत के हाउस मैनेजर सैमुएल मिरांडा को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है। इनकी गिरफ्तारी के बाद ही रिया को तलब किया गया था। यह बात भी सामने आई है कि सुशांत का स्टाफ दीपेश सावंत एक ड्रग्स सिंडिकेट का मेंबर है।

एनसीबी के अधिकारी संदीप वानखेड़े ने कहा, “हमने रिया चक्रवर्ती का बयान रिकॉर्ड कर लिया है। रिया चक्रवर्ती आज लेट आई थीं, इसलिए पूछताछ पूरी नहीं हो पाई। कल भी पूछताछ जारी रहेगी।”

बता दें कि एनसीबी की पूछताछ में रिया ने कई बातें कबूल की है। रविवार (सितंबर 6, 2020) को मामले की मुख्य आरोपित रिया चक्रवर्ती ने नार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) की पूछताछ के दौरान कबूल किया है कि वह अपने भाई शौविक के माध्यम से ड्रग्स खरीदती थी। 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक रिया चक्रवर्ती ने एनसीबी अधिकारियों को बताया कि वह सैमुएल मिरांडा के बारे में जानती है जो 17 मार्च को ज़ैद से ड्रग्स खरीदने गया था। उसके कबूलनामे के मुताबिक, रिया को न केवल इस सौदे के बारे में पता था, बल्कि वह अपने भाई शौविक चक्रवर्ती के साथ ड्रग रैडर जैद के साथ कॉर्डिनेशन भी कर रही थी।

साथ ही रिया ने 15 मार्च की चैट की बात कबूल की। रिया ने स्वीकार किया कि 15 मार्च की चैट सही थी, जिसमें वह और शौविक ड्रग्स के बारे में बात कर रही थीं। रिया ने बताया कि वह अपने भाई शौविक के जरिए सुशांत के लिए ड्रग्स मँगवा रही थी।

एनसीबी की पूछताछ में रिया ने कबूल करते हुए कहा कि उसे मालूम था कि उसका भाई बासित से ड्रग्स खरीदता था। बासित, रिया के घर भी आता जाता था। ड्रग्स एंगल के खुलासे के बाद कई ड्रग पैडलर्स का नाम सामने आया है। इसके लेकर एनसीबी ने गहन जाँच-पड़ताल शुरू कर दी है। कई इलाकों में छापेमारी भी की है।

NCB ने इस मामले में गिरफ्तार दीपेश सावंत को लेकर बयान जारी करते हुए कहा है, “दीपेश सावंत के बयान और NCB द्वारा एकत्र किए गए डिजिटल सबूतों से यह साफ होता है कि दीपेश हाइ सोसायटी हस्तियों और ड्रग सप्लायर्स से जुड़े ड्रग सिंडिकेट का एक एक्टिव सदस्य है।” एनसीबी ने सुशांत के स्टाफ दीपेश सावंत को शनिवार (सितंबर 5, 2020) को गिरफ्तार किया था।

बता दें कि एनसीबी को मोबाइल फोन चैट रिकॉर्ड तथा अन्य इलेक्ट्रॉनिक डेटा हासिल हुआ था जिसमें प्रतिबंधित मादक पदार्थ की खरीद में रिया, सैमुएल मिरांडा, शौविक चक्रवर्ती, दीपेश सावंत आदि की संलिप्तता सामने आई थी। एनसीबी ने दीपेश सावंत के अलावा रिया चक्रवर्ती के भाई शौविक चक्रवर्ती और सुशांत सिंह राजपूत के हाउस मैनेजर रहे सैमुएल मिरांडा को गिरफ्तार किया था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

18 साल से ईसाई मजहब का प्रचार कर रहा था पादरी, अब हिन्दू धर्म में की घर-वापसी: सतानंद महाराज ने नक्सल बेल्ट रहे इलाके...

सतानंद महाराज ने साजिश का खुलासा करते हुए बताया, "हनुमान जी की मोम की मूर्ति बनाई जाती है, उन्हें धूप में रख कर पिघला दिया जाता है और बच्चों को कहा जाता है कि जब ये खुद को नहीं बचा सके तो तुम्हें क्या बचाएँगे।""

‘घेरलू खान मार्केट की बिक्री कम हो गई है, इसीलिए अंतरराष्ट्रीय खान मार्केट मदद करने आया है’: विदेश मंत्री S जयशंकर का भारत विरोधी...

केंद्रीय विदेश मंत्री S जयशंकर ने कहा है कि ये 'खान मार्केट' बहुत बड़ा है, इसका एक वैश्विक वर्जन भी है जिसे अब 'इंटरनेशनल खान मार्केट' कह सकते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -