Saturday, June 15, 2024
Homeदेश-समाजसुशांत को ड्रग्स के लिए 'पागल' बनाया, गांजा देती थी रिया चकवर्ती: NCB ने...

सुशांत को ड्रग्स के लिए ‘पागल’ बनाया, गांजा देती थी रिया चकवर्ती: NCB ने बताया- पूजा सामग्री के नाम पर खरीदे गए ड्रग्स

सुशांत के दोस्त सिद्धार्थ पिठानी पर एनसीबी ने आरोप लगाए हैं कि वो ड्रग की लेन-देन करने वालों यानी कि रिया, शौविक, दीपेश के सीधे संपर्क में था। उसने कोटक बैंक के अकॉउंट से ड्रग खरीदे और उन्हें ट्रांजैक्शन में पूजा सामग्री के तौर पर दिखाया।

सुशांत सिंह राजपूत केस में नार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने चार्जशीट का ड्राफ्ट दाखिल कर दिया है। इसमें रिया चक्रवर्ती और उनके भाई शौविक समेत 35 लोगों पर 38 आरोप लगाए गए हैं। रिया के ऊपर सुशांत को ड्रग्स मुहैया कराने का, उन्हें ड्रग के लिए पागल बनाने का और ड्रग्स खरीदने के लिए उनके (सुशांत के) बैंक अकॉउंट का प्रयोग करने का आरोप लगा है।

एनसीबी ने पाया है कि रिया ने अपने भाई शौविक, सैमुअल मिरांडा और दीपेश सावंत समेत कुछ और लोगों से सुशांत के गांजा खरीदकर उन्हें पेमेंट दी। ये भुगतान मार्च 2020 से सितंबर 2020 में हुआ। अब उनके विरुद्ध एनडीपीएस अधिनियम 1985 की धारा 8 (सी)के साथ 20 (ब) (2), 27 ए, 28, 29 और 30 लगी है।

इतना ही नहीं, ये भी कहा गया है कि सारे आरोपित मार्च 2020 से दिसंबर 2020 के दौरान आपराधिक साजिश में शामिल हुए जिसका मकसद एक दूसरे से नशीले पदार्थ खरीदकर उनकी बिक्री बॉलीवुड समेत अन्य हाई सोसायटी में करना था।

रिया के भाई पर आरोप लगा है कि वो ड्रग तस्करों के साथ संपर्क में था और गांजा, चरस की डिलीवरी के लिए ऑर्डर देता था। उसने अब्देल बासित, कैजान इब्राहिम, कर्मजीत सिंह आनंद और सूर्यादीप मल्होत्रा समेत अन्य लोगों से गांजा की डिलीवरी लेकर उसे सुशांत को सौंपा था।

इसके बाद सुशांत के दोस्त सिद्धार्थ पिठानी पर भी एनसीबी ने आरोप लगाए हैं कि वो ड्रग की लेन-देन करने वालों यानी कि रिया, शौविक, दीपेश के सीधे संपर्क में था। उसने कोटक बैंक के अकॉउंट से ड्रग खरीदे और उन्हें ट्रांजैक्शन में पूजा सामग्री के तौर पर दिखाया।

गौरतलब है कि साल 2020 में सुशांत सिंह राजपूत अपने अपार्टमेंट में मृत पाए गए थे। कहा गया था कि उन्होंने आत्महत्या की। हालाँकि उनके फैन्स ने इस पर सवाल खड़े किए और ड्रग एंगल पर पड़ताल होना शुरू हुई। धीरे-धीरे सुशांत के दोस्त से लेकर गर्लफ्रेंड सबका नाम एनसीबी ने नोट किया और कई बॉलीवुड हस्तियों से भी ड्रग्स को लेकर पूछताछ हुई। इसके बाद रिया को 8 सितंबर 2020 को गिरफ्तार किया गया और उन्हें जमानत 7 अक्टूबर को मिली थी। ये जमानच 1 लाख रुपए के निजी मुचलके पर दी गई थी। साथ ही शर्त रखी गई थी कि अगर रिया कहीं बाहर गईं तो उन्हें मंजूरी लेनी होगी और जब भी उन्हें पूछताछ के लिए बुलाया जाएगा तो हाजिर होना होगा।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NSA, तीनों सेनाओं के प्रमुख, अर्धसैनिक बलों के निदेशक, LG, IB, R&AW – अमित शाह ने सबको बुलाया: कश्मीर में ‘एक्शन’ की तैयारी में...

NSA अजीत डोभाल के अलावा उप-राज्यपाल मनोज सिन्हा, तीनों सेनाओं के प्रमुख के अलावा IB-R&AW के मुखिया व अर्धसैनिक बलों के निदेशक भी मौजूद रहेंगे।

अब तक की सबसे अधिक ऊँचाई पर पहुँचा भारत का विदेशी मुद्रा भंडार, उधर कंगाली की ओर बढ़ा पाकिस्तान: सिर्फ 2 महीने का बचा...

एक तरफ पाकिस्तान लगातार बर्बादी की कगार पर पहुँच रहा है, तो दूसरी तरफ भारत का विदेशी मुद्रा भंडार लगातार बढ़ता जा रहा है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -