Thursday, May 13, 2021
Home देश-समाज छबड़ा में मुस्लिम भीड़ के सामने पुलिस भी थी बेबस: अब चारों ओर तबाही...

छबड़ा में मुस्लिम भीड़ के सामने पुलिस भी थी बेबस: अब चारों ओर तबाही का मंजर, बिजली-पानी भी ठप

50 हजार की आबादी वाले छबड़ा में अब सन्नाटा पसरा है। लोग घरों में दुबके हैं। पुलिस ने कर्फ्यू लगा दिया है। इंटरनेट बंद है। न दूध की सप्लाई चालू है, न पानी की। बिजली की अधिकतर लाइनें जलाई जा चुकी हैं, तो भरी गर्मी में बत्ती भी गुल है।

राजस्थान के बाराँ जिले के छबड़ा में सांप्रदायिक तनाव के बाद जिस तरह से मुस्लिम भीड़ का कहर बरपा, उससे इलाके के लोग काँप गए हैं। छबड़ा की सूरत बदल गई है और तबाही का मंजर साफ़ दिख रहा है। दुकानों में लगी आग को बुझाने के लिए कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। कई दुकानदारों के लाखों के माल राख हो गए। बाइक, बस, कार- जो दिखा सब जला डाला गया। एक तीन मंजिला मिनी मार्ट को भी आग के हवाले कर दिया गया।

‘दैनिक भास्कर’ की ग्राउंड रिपोर्ट के अनुसार, उस मार्ट के मालिक संदीप लुहाड़िया ने बताया कि 500 से 50,000 रुपए की कीमत वाले 600-700 मोबाइल फोन लूट लिए गए। उन्होंने बताया कि उन्हें लगातार इस वारदात को लेकर फोन आ रहा था, लेकिन वो घटनास्थल पर पहुँचे भी तो दूर से अपने कारोबार की बर्बादी का मंजर देखते रहे। मात्र 15-20 मिनट में उन्हें 35 लाख रुपए का नुकसान हो गया।

दुकान में बचे तो सिर्फ कुछ टूटे-फूटे मोबाइल फोन्स और खाली डब्बे। सभी दंगाई हथियारों से लैस थे। दरअसल, ये सब कुछ रविवार (अप्रैल 11, 2021) को शुरू हुआ था। हिन्दुओं की दुकानों को निशाना बनाया गया। पुलिस ने आँसू गैस के गोले दागे तो पुलिस को ही दौड़ा-दौड़ा कर पीटा गया। पुलिस अधिकारियों के पास जवाब नहीं था, इसलिए वो मीडिया से बचते रहे। कई शोरूम भी जला डाले गए। राज्य में गुर्जर समाज के कई नेताओं ने बैठक कर घटना की निंदा की है।

पुलिस अधिकारियों ने भाग कर अपनी जान बचाई, क्योंकि कुछ मुस्लिम युवक उनके पीछे पड़े हुए थे। दुकानों और गुमटियों के अलावा एक दर्जन से भी अधिक वाहनों में भी आग लगाई गई। कई वाहन जो उस ओर जा रहे थे, उपद्रव की सूचना मिलते ही चालकों ने वापस लौटने में ही भलाई समझी। आसपास के थानों और जिलों से पुलिस बल बुलाना पड़ा। केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने राजस्थान की कॉन्ग्रेस सरकार को घेरा है।

मोदी कैबिनेट में जल शक्ति मंत्रालय का दायित्व सँभाल रहे शेखावत ने कहा, “यह कुंभकरण की नींद में सोने वाली सरकार है जहाँ भ्रष्टाचार का दीमक तंत्र को खोखला कर रहा है और कानून-व्यवस्था की स्थिति तार-तार हो चुकी है। मुख्यमंत्री सो रहे हैं और राज्य जल रहा है। बाराँ के छाबड़ा में विचलित करते दृश्य साक्षात देखने को मिले। स्थिति चिंताजनक है। मामूली कहासुनी के बाद चाकू से हमला और फिर उस विवाद का थोड़े से समय में सांप्रदायिक हिंसा में बदल जाना राजस्थान की दुर्दशा का एक और चित्र है।”

सोमवार को भी छबड़ा में सन्नाटा पसरा रहा और 50 हजार की जनसंख्या घरों में ही दुबकी रही। पुलिस ने वहाँ कर्फ्यू लगा दिया है। इंटरनेट बंद है। न दूध की सप्लाई चालू है, न पानी की। बिजली की अधिकतर लाइनें जलाई जा चुकी हैं, तो भरी गर्मी में बत्ती भी गुल है। मेडिकल ज़रूरतों से ही लोग घर के बाहर निकल रहे हैं, लेकिन उन्हें भी कड़ी पूछताछ का सामना करना पड़ रहा है। मेडिकल दुकानें तक लूट ली गई हैं।

कई पुलिसकर्मी घायल हैं। सरकारी संपत्ति को बड़ा नुकसान हुआ है। कुछ लोगों को ही अब तक हिरासत में लिया जा सका है। फायर ब्रिग्रेड की गाड़ी भी तोड़ डाली गई थी। थाने में भी समुदाय विशेष के युवकों ने पत्थरबाजी की थी। प्रशासन ने शांति समिति की बैठक की, जिसमें व्यापारियों ने अपनी पीड़ा जाहिर की। अब तक 69 दुकानों के नष्ट होने और 15 करोड़ रुपए तक के नुकसान का अनुमान लगाया गया है।

कस्बे से होकर छबड़ा जा रहे गुर्जर समाज के नेता व कर्नल किरोड़ीसिंह बैंसला के पुत्र विजय बैंसला को कवाई पुलिस ने रोक लिया। उनके कई समर्थक रात तक बैंसला कवाई थाना परिसर में ही जमे रहे। मामले में गुर्जर समाज को भारी क्षति पहुँची है, इसलिए उन्होंने समाज के लोगों से बात कर स्थिति का जायजा लिया। भाजपा ने एक जाँच समिति बनाई है, जिसमें सांसद सुखबीर सिंह जौनपुरिया, विधायक संदीप शर्मा, विधायक चंद्रकांता मेघवाल और आनंद गर्ग शामिल हैं। भाजपा ने एकतरफा कार्रवाई का आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार एक पक्ष का समर्थन कर रही है।

बता दें कि छबड़ा कस्बे के धरनावदा चौराहे पर शनिवार शाम को नज्जीपुरा निवासी कमल गुर्जर अंगूर खरीद रहे थे, इसी दौरान फरीद, आबिद और समीर ने उनकी बाइक ठोक दी। कमल और इन युवकों के बीच कहासुनी होने लगी, जिसके बाद इन्होंने कमल को चाकू घोंप दिया। फिर दोनों पक्ष आपस में भिड़ गए। कमल को बचाने पहुँचे दुकानदार राकेश धाकड़ पर भी हमला हुआ। आरोप है कि तीनों को गिरफ्तार करने में पुलिस ने देरी की।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

12 ऐसे उदाहरण, जब वामपंथी मीडिया ने फैलाया कोविड वैक्सीन के खिलाफ प्रोपेगेंडा, लोगों में बनाया डर का माहौल

हमारे पास 12 ऐसे उदाहरण हैं, जब वामपंथी मीडिया ने कोरोना की दूसरी लहर से ठीक पहले अपने ऑनलाइन पोर्टल्स पर वैक्सीन को लेकर फैक न्यूज फैलाई और लोगों के बीच भय का माहौल पैदा किया।

इजरायल पर हमास के जिहादी हमले के बीच भारतीय ‘लिबरल’ फिलिस्तीन के समर्थन में कूदे, ट्विटर पर छिड़ा ‘युद्ध’

अब जब इजरायल राष्ट्रीय संकट का सामना कर रहा है तो जहाँ भारतीयों की तरफ से इजरायल के साथ खड़े होने के मैसेज सामने आ रहे हैं, वहीं कुछ विपक्ष और वामपंथी ने फिलिस्तीन के साथ एक अलग रास्ता चुना है।

‘सामना’ में रानी अहिल्या बाई की तुलना ममता बनर्जी से देख भड़के परिजन, CM उद्धव को पत्र लिख जताई नाराजगी

शिवसेना के मुखपत्र 'सामना' में बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की तुलना 'महान महिला शासक' रानी अहिल्या बाई होलकर से किए जाने के बाद रानी के वंशजों में गुस्सा है।

चढ़ता प्रोपेगेंडा, ढलता राजनीतिक आचरण: दिल्ली के असल सवालों को मुँह चिढ़ाती केजरीवाल की पैंतरेबाजी

ऐसे दर्जनों पैंतरे हैं जिन पर केजरीवाल से प्रश्न नहीं किए गए हैं और यही बात उनसे बार-बार ऐसे पैंतरे करवाती है।

25 साल पहले ULFA ने कर दी थी पति की हत्या, अब असम की पहली महिला वित्त मंत्री

असम में पहली बार एक महिला वित्त मंत्री चुनी गई है। नवनिर्वाचित मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने अपनी सरकार में वित्त विभाग 5 बार गोलाघाट से विधायक रह चुकी अजंता निओग को सौंपा।

UP: न्यूज एंकर समेत 4 पत्रकार ऑक्सीजन सिलेंडर की कालाबाजारी में गिरफ्तार, ₹55 हजार में कर रहे थे सौदा

उत्तर प्रदेश के कानपुर में चार पत्रकार ऑक्सीजन सिलेंडर की कालाबाजरी करते पकड़े गए हैं। इनमें से एक लोकल न्यूज चैनल का एमडी/एंकर है।

प्रचलित ख़बरें

इजरायल पर इस्लामी गुट हमास ने दागे 480 रॉकेट, केरल की सौम्या सहित 36 की मौत: 7 साल बाद ऐसा संघर्ष

फलस्तीनी इस्लामी गुट हमास ने इजरायल के कई शहरों पर ताबड़तोड़ रॉकेट दागे। गाजा पट्टी पर जवाबी हमले किए गए।

मुस्लिम वैज्ञानिक ‘मेजर जनरल पृथ्वीराज’ और PM वाजपेयी ने रचा था इतिहास, सोनिया ने दी थी संयम की सलाह

...उसके बाद कई देशों ने प्रतिबन्ध लगाए। लेकिन वाजपेयी झुके नहीं और यही कारण है कि देश आज सुपर-पावर बनने की ओर अग्रसर है।

इजरायल का आयरन डोम आसमान में ही नष्ट कर देता है आतंकी संगठन हमास का रॉकेट: देखें Video

इजरायल ने फलस्तीनी आतंकी संगठन हमास द्वारा अपने शहरों को निशाना बनाकर दागे गए रॉकेट को आयरन डोम द्वारा किया नष्ट

‘#FreePalestine’ कैम्पेन पर ट्रोल हुई स्वरा भास्कर, मोसाद के पैरोडी अकाउंट के साथ लोगों ने लिए मजे

स्वरा के ट्वीट का हवाला देते हुए @TheMossadIL ने ट्वीट किया कि अगर इस ट्वीट को स्वरा भास्कर के ट्वीट से अधिक लाइक मिलते हैं, तो वे भारतीय अभिनेत्री को एक स्पेशल ‘पॉकेट रॉकेट’ भेजेंगे।

‘इस्लाम को रियायतों से आज खतरे में फ्रांस’: सैनिकों ने राष्ट्रपति को गृहयुद्ध के खतरे से किया आगाह

फ्रांसीसी सैनिकों के एक समूह ने राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों को खुला पत्र लिखा है। इस्लाम की वजह से फ्रांस में पैदा हुए खतरों को लेकर चेताया है।

बांग्लादेश: हिंदू एक्टर की माँ के माथे पर सिंदूर देख भड़के कट्टरपंथी, सोशल मीडिया में उगला जहर

बांग्लादेश में एक हिंदू अभिनेता की धार्मिक पहचान उजागर होने के बाद इस्लामिक लोगों ने अभिनेता के खिलाफ सोशल मीडिया में उगला जहर
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,378FansLike
92,887FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe