राम मंदिर के लिए मोदी सरकार की प्रतिबद्धता पर नहीं है शंका, बोले RSS के भैय्या जी जोशी

भैय्या जी जोशी ने केंद्र सरकार पर भरोसा जताते हुए कहा कि अभी भी सरकार की निष्ठा पर हमें कोई संदेह नहीं है। उन्होंने कहा कि वे मानते हैं कि सत्ता में बैठे हुए लोगों में अभी राम मंदिर का विरोध नहीं है

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के सरकार्यवाह भैय्या जी जोशी ने राम मंदिर मामले पर कहा है कि 1980-90 से जो आंदोलन चल रहा है वो तब तक जारी रहेगा जब तक मंदिर बन नहीं जाता। साथ ही यह भी लिखा कि हम न्यायालय से यह अपेक्षा करते हैं कि वो शीघ्रता से इस संदर्भ में फ़ैसला दे। आपको बता दें कि कोर्ट ने 8 सप्ताह का समय मध्यस्थता के लिए तय किया था। कोर्ट की तरफ से आध्यात्मिक गुरु श्रीश्री रविशंकर, मध्यस्थता कानूनों के विशेषज्ञ श्रीराम पंचू और सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज जस्टिस इब्राहिम कलीफुल्लाह को मध्यस्थता पैनल के लिए नामित किया गया है।

न्यूज़ एजेंसी ANI के अनुसार भैय्या जी जोशी ने केंद्र सरकार पर भरोसा जताते हुए कहा कि अभी भी सरकार की निष्ठा पर हमें कोई संदेह नहीं है। उन्होंने कहा “हम मानते हैं कि सत्ता में बैठे हुए लोगों में अभी राम मंदिर का विरोध नहीं है। उनकी प्रतिबद्धता को लेकर हमारे मन में कोई शंका नहीं है।”

इससे पहले गुरुवार (मार्च 10, 2019) को सर्वोच्च न्यायालय ने अयोध्या स्थित रामजन्मभूमि मामले पर सुनवाई करते हुए मामले को मध्यस्थता के लिए भेज दिया। न्यायालय के इस निर्णय पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने तीखी प्रतिक्रिया जताई थी। संघ ने अयोध्या मामले को मध्यस्थता के लिए भेजने के निर्णय को ‘आश्चर्यजनक’ बताया था।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा की तीन दिवसीय वार्षिक बैठक की रिपोर्ट में यह कहा गया था कि अयोध्या मामले में न्यायिक प्रक्रिया में तेज़ी लाने के विपरीत उच्चतम न्यायालय ने एक आश्चर्यजनक फैसला लिया है। रिपोर्ट में आगे कहा गया कि न्यायालय का हिन्दू धर्म के संवेदनशील विषयों को प्राथमिकता न देना समझ के बाहर है।


शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by paying for content

बड़ी ख़बर

SC और अयोध्या मामला
"1985 में राम जन्मभूमि न्यास बना और 1989 में केस दाखिल किया गया। इसके बाद सोची समझी नीति के तहत कार सेवकों का आंदोलन चला। विश्व हिंदू परिषद ने माहौल बनाया जिसके कारण 1992 में बाबरी मस्जिद गिरा दी गई।"

ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

91,623फैंसलाइक करें
15,413फॉलोवर्सफॉलो करें
98,200सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: