Tuesday, July 23, 2024
Homeदेश-समाजमहाराष्ट्र सरकार से सचिन तेंदुलकर का समझौता, बने 'स्माइल एंबेसडर': जानिए क्या है स्वच्छ...

महाराष्ट्र सरकार से सचिन तेंदुलकर का समझौता, बने ‘स्माइल एंबेसडर’: जानिए क्या है स्वच्छ मुख अभियान

"चिकित्सा शिक्षा विभाग के माध्यम से 'ओरल हेल्थ मिशन' के तहत स्वच्छ मुख अभियान चलाया जाता है। इस मिशन के ब्रांड एंबेसडर के रूप में सचिन तेंदुलकर ने अपनी स्वीकृति दी है। अगले 5 वर्षों के लिए सचिन तेंदुलकर ब्रांड एंबेसडर के रूप में ओरल हेल्थ मिशन को प्रमोट करेंगे।"

सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) को महाराष्ट्र सरकार ने ‘स्माइल एंबेसडर’ बनाया है। वे स्वच्छ मुख अभियान को प्रमोट करेंगे। इस संबंध में महाराष्ट्र सरकार और दिग्गज क्रिकेटर के बीच मंगलवार (30 मई 2023) को समझौता ज्ञापन (एमओयू) हुआ। इस दौरान उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस भी मौजूद थे।

सचिन तेंदुलकर अगले 5 वर्षों के लिए इस अभियान के लिए ‘स्माइल एंबेसडर’ रहेंगे। उन्होंने लोगों से गुटखा और तंबाकू जैसी चीजों से दूर रहने की अपील की है। उनका मानना है कि स्वच्छ मुख अभियान दूर-दूर तक फैलेगा और इसे लोगों की अच्छी प्रतिक्रिया मिलेगी।

एमओयू साइन होने से पहले डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस (Deputy CM Devendra Fadnavis) ने मीडियाकर्मियों से कहा, “चिकित्सा शिक्षा विभाग के माध्यम से ‘ओरल हेल्थ मिशन’ के तहत स्वच्छ मुख अभियान चलाया जाता है। इस मिशन के ब्रांड एंबेसडर के रूप में सचिन तेंदुलकर ने अपनी स्वीकृति दी है। अगले 5 वर्षों के लिए सचिन तेंदुलकर ब्रांड एंबेसडर के रूप में ओरल हेल्थ मिशन को प्रमोट करेंगे। आज जब कई बड़े सेलिब्रिटीज कैंसर पैदा करने वाले तंबाकू, गुटखा और सुपारी का प्रचार कर रहे हैं, सचिन कभी भी ऐसे किसी विज्ञापन में नहीं दिखते। उन्होंने युवाओं में जागरूकता पैदा करने का यह अहम फैसला लिया है।”

स्वच्छ मुख अभियान (SMA) इंडियन डेंटल एसोसिएशन (आईडीए) का एक राष्ट्रीय अभियान है, जो भारतीयों को ओरल हेल्थ और ओरल स्वच्छता के महत्व के बारे में जागरूक करता है। यह अभियान न केवल महाराष्ट्र, बल्कि पूरे भारत में लागू किया जाएगा। दरअसल, पिछले कुछ समय से प्रदेश में मुँह के रोग काफी बढ़ रहे हैं। इसे रोकने के लिए सरकार ने नेशनल ओरल हेल्थ कार्यक्रम के तहत स्वास्थ्य संबंधी योजनाओं को लागू करने के लिए ‘महाराष्ट्र मौखिक स्वास्थ्य अभियान’ यानी ‘स्वच्छ मुख अभियान’ लागू करने का निर्णय लिया है।

बता दें कि यह अभियान राज्य सरकार की ओर से जनवरी 2023 से शुरू किया गया है। शिविर के माध्यम से समाज में ओरल हेल्थ के प्रति जागरूकता पैदा करने के लिए बड़े पैमाने पर यह अभियान चलाया जा रहा है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एंजेल टैक्स’ खत्म होने का श्रेय लूट रहे P चिदंबरम, भूल गए कौन लेकर आया था: जानिए क्या है ये, कैसे 1.27 लाख StartUps...

P चिदंबरम ने इसके खत्म होने का श्रेय तो ले लिया, लेकिन वो इस दौरान ये बताना भूल गए कि आखिर ये 'एंजेल टैक्स' लेकर कौन आया था। चलिए 12 साल पीछे।

पत्रकार प्रदीप भंडारी बने BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता: ‘जन की बात’ के जरिए दिखा चुके हैं राजनीतिक समझ, रिपोर्टिंग से हिला दी थी उद्धव...

उन्होंने कर्नाटक स्थित 'मणिपाल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी' (MIT) से इलेक्ट्रॉनिक एवं कम्युनिकेशंस में इंजीनियरिंग कर रखा है। स्कूल में पढ़ाया भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -