Friday, June 14, 2024
Homeदेश-समाजतिलक लगाता और भगवा पहनता था मोहम्मद आसिफ, दलित लड़की को लेकर हुआ फरार:...

तिलक लगाता और भगवा पहनता था मोहम्मद आसिफ, दलित लड़की को लेकर हुआ फरार: गिरिराज सिंह ने बिहार के प्रशासन को चेताया, सड़क पर उतरे केंद्रीय मंत्री

ग्रामीणों का कहना है कि मुकदमा दर्ज होने के 3 बाद भी पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। दलित लड़की के अगवा होने को लेकर ग्रामीणों ने इकट्ठा होकर पंचायत का आयोजन किया था।

बिहार के बेगूसराय में ‘लव जिहाद’ का मामला सामने आया है। आरोप है कि मोहम्मद आसिफ नामक युवक तिलक और भगवा गमछा डालकर रहता था। उसने शादी का झाँसा देकर दलित लड़की को अगवा किया है। मामले में केंद्रीय मंत्री और स्थानीय सांसद गिरिराज सिंह ने पुलिस प्रशासन को लड़की वापस नहीं लाने पर विरोध प्रदर्शन करने की चेतावनी दी है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, मामला बेगूसराय जिले के बीरपुर थाना क्षेत्र के सरौंजा गाँव का है। यहाँ रहने वाली दलित लड़की गत 5 अक्टूबर, 2023 से लापता है। परिजनों ने गाँव के ही मोहम्मद आसिफ पर उनकी बेटी को अगवा करने का आरोप लगाया है। कहा जा रहा है कि आसिफ ने साधु का भेष धारण कर लड़की को अपने प्यार के जाल में फँसाया था। इसके बाद उसे अगवा कर लिया। (कुछ रिपोर्ट में आरोपित का नाम अशरफ भी लिखा जा रहा है।)

पीड़िता के परिजनों ने मोहम्मद आसिफ के खिलाफ बीरपुर थाने में मुकदमा दर्ज कराया है। ग्रामीणों का कहना है कि मुकदमा दर्ज होने के 3 बाद भी पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। दलित लड़की के अगवा होने को लेकर ग्रामीणों ने इकट्ठा होकर पंचायत का आयोजन किया था। इसमें केंद्रीय मंत्री और बेगूसराय सांसद गिरिराज सिंह भी शामिल हुए।

इस दौरान गिरिराज सिंह ने कहा, “लव जिहाद की घटना बेगूसराय में रोज घट रही है। मैंने आज भी डीएम और एसपी से कहा है कि मुझे न्याय दो। यदि न्याय नहीं दिया तो कह दो कि हम बेगूसराय छोड़ दें। हम चले जाएँ किसी दूसरे देश में। किसी दूसरे राज्य में, योगी के राज में चले जाएँ।”

उन्होंने यह भी कहा, “यह लव जिहाद का मामला है। मैंने लोगों को थाने जाने से रोक दिया है, क्योंकि मैं देखता हूँ कि ये सरकार हिंदुओं को ही फँसा देती है। अगर मेरी बेटी नहीं आई तो मैं पूरे जिले में इन लोगों को घुमाकर हिंदुओं को इकट्ठा करूँगा और विरोध प्रदर्शन करूँगा।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कश्मीर समस्या का इजरायल जैसा समाधान’ वाले आनंद रंगनाथन का JNU में पुतला दहन प्लान: कश्मीरी हिंदू संगठन ने JNUSU को भेजा कानूनी नोटिस

जेएनयू के प्रोफेसर और राजनीतिक विश्लेषक आनंद रंगनाथन ने कश्मीर समस्या को सुलझाने के लिए 'इजरायल जैसे समाधान' की बात कही थी, जिसके बाद से वो लगातार इस्लामिक कट्टरपंथियों के निशाने पर हैं।

शादीशुदा महिला ने ‘यादव’ बता गैर-मर्द से 5 साल तक बनाए शारीरिक संबंध, फिर SC/ST एक्ट और रेप का किया केस: हाई कोर्ट ने...

इलाहाबाद हाई कोर्ट में जस्टिस राहुल चतुर्वेदी और जस्टिस नंद प्रभा शुक्ला की बेंच ने इस मामले की सुनवाई करते हुए कहा कि सबूत पेश करने की जिम्मेदारी सिर्फ आरोपित का ही नहीं है, बल्कि शिकायतकर्ता का भी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -