Tuesday, July 27, 2021
Homeदेश-समाजबुर्के में रह, नमाज पढ़, जबरन सेक्स: राहुल बने साहिब अली का राज खुला...

बुर्के में रह, नमाज पढ़, जबरन सेक्स: राहुल बने साहिब अली का राज खुला तो हिंदू महिला को दिखाया असली रंग, गिरफ्तार

जब साहिब अली की पहचान उजागर हो गई तो उसने वादा किया कि वह महिला पर धर्म बदलने के लिए दबाव नहीं डालेगा। लेकिन, कुछ समय बाद उसने धर्म परिवर्तन के लिए दबाव डालना और उसे प्रताड़ित करना शुरू कर दिया।

दिल्ली के सरिता विहार इलाके से सामने आए ग्रूमिंग जिहाद (लव जिहाद) का आरोपित साहिब अली गिरफ्तार कर लिया गया है। समाचार एजेंसी एएनआई ने यह जानकारी दी है। उसके खिलाफ पीड़ित हिंदू महिला ने 21 दिसंबर 2020 को शिकायत दर्ज करवाई थी। पीड़िता का आरोप था कि शादी के बाद उस पर धर्म परिवर्तन का दबाव बनाया गया। उसकी इच्छा के विरुद्ध साहिब अली ने शारीरिक संबंध बनाए। बुर्के में रहने और नमाज पढ़ने का दबाव डालने लगा।

महिला ने साहिब अली पर पीटने का भी आरोप लगाया था। अपने ससुर यानी साहिब अली के अब्बा हाजीसुन्नला (Hazisunnala) पर भी अनुचित तरीके से छुने और यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था। साथ ही बताया था कि साहिब ने राहुल बनकर उसे प्रेमजाल में फँसाया। पहले शारीरिक संबंध स्थापित किए और फिर शादी की।

यह मामला बुधवार (दिसंबर 23, 2020) को प्रकाश में आया था। पुलिस ने मीडिया को जानकारी दी थी कि शिकायत में पीड़िता ने बताया है कि साहिब अली उसके घर में किराएदार था। उसने अपनी पहचान राहुल के तौर पर बताई थी। दोनों में नजदीकियाँ इसी बीच बढ़ी थीं।

पीड़िता के अनुसार नवंबर 2019 में किराएदार के तौर पर रहने के लिए साहिब अली आया था। बाद में दोनों ने कालका मंदिर में शादी कर ली। जब साहिब अली की पहचान उजागर हो गई तो उसने वादा किया कि वह महिला पर धर्म बदलने के लिए दबाव नहीं डालेगा। लेकिन, कुछ समय बाद उसने धर्म परिवर्तन के लिए दबाव डालना और उसे प्रताड़ित करना शुरू कर दिया।

आरोपितों के ख़िलाफ़ पुलिस ने महिलामहिला की शिकायत के आधार पर आईपीसी की धारा 376,366, 354,406 और 34 के तहत मुकदमा दर्ज किया था। महिला के अनुसार जब राहुल बने साहिब ने शादी का प्रस्ताव दिया तो उसने उसके परिवार के बारे में पूछा था। उस वक्त उसने खुद का अनाथ बताया था। बाद में साहिब ने उसे अपने परिवार और रिश्तेदारों से मिलाया। उसी दिन महिला को पता चला कि जिसे वह राहुल समझ रही थी वह असल में साहिब अली है।

गौरतलब है कि इससे पहले दिल्ली के रोहिणी इलाके में रहने वाले अख्तर ने शिवा बनकर हिंदू युवती को प्रेमजाल में फँसाया। जागरण में उससे मुलाकात की और मंदिर में शादी रचाई। उसके बाद लड़की को डिमांड के नाम पर परेशान करने लगा। जब एक दिन अख्तर की झूठी पहचान उजागर हो गई तो उसने अपने भाइयों अफजल, अरशद और पिता मोहम्मद इदरीश के साथ मिलकर युवती को पीटा। 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कारगिल कमेटी’ पर कॉन्ग्रेस की कुण्डली: लोकतंत्र की सुरक्षा के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा राजनीतिक दृष्टिकोण का न हो मोहताज

हमें ध्यान में रखना होगा कि जिस लोकतंत्र पर हम गर्व करते हैं उसकी सुरक्षा तभी तक संभव है जबतक राष्ट्रीय सुरक्षा का विषय किसी राजनीतिक दृष्टिकोण का मोहताज नहीं है।

असम-मिजोरम बॉर्डर पर भड़की हिंसा, असम के 6 पुलिसकर्मियों की मौत: हस्तक्षेप के दोनों राज्‍यों के CM ने गृहमंत्री से लगाई गुहार

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने ट्वीट कर बताया कि असम-मिज़ोरम सीमा पर तनाव में असम पुलिस के 6 जवानों की जान चली गई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,363FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe