Saturday, July 31, 2021
Homeदेश-समाजउमेश बन सलमान ने मंदिर में रचाई शादी, अब धर्मांतरण के लिए कर रहा...

उमेश बन सलमान ने मंदिर में रचाई शादी, अब धर्मांतरण के लिए कर रहा प्रताड़ित: पीड़िता ने बताया- कमलनाथ राज में नहीं हुई कार्रवाई

पीड़िता ने बताया कि गेहूँखेरा के रहने वाले व्यक्ति से करीब एक वर्ष पहली उसकी मित्रता हुई थी। वो अपना नाम उमेश बताता था। दोनों ने मंदिर में हिन्दू रीति-रिवाज से शादी की। शादी के बाद उनका एक बच्चा भी हुआ। पीड़िता ने बताया कि शादी के कुछ दिनों बाद खुलासा हुआ कि उसके पति का नाम उमेश नहीं, बल्कि सलमान है।

मध्य प्रदेश में ‘ग्रूमिंग जिहाद (लव जिहाद) का नया मामला सामने आया है। जहाँ राज्य सरकार इसके खिलाफ कड़ा कानून बनाने की तैयारी में लगी हुई है, वहीं दूसरी तरफ शुक्रवार (नवंबर 27, 2020) को राज्य के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा के आवास पर एक महिला अपनी पीड़ा लेकर पहुँची। पीड़िता ने बताया कि उसका पति उमेश नाम से उसके साथ रह रहा था, लेकिन उसकी असलियत कुछ और ही थी, उसका असली नाम सलमान निकला।

पीड़िता ने बताया कि अब उमेश का असली चेहरा सामने आ गया है और वो उससे धर्मपरिवर्तन कर इस्लाम अपनाने के लिए कह रहा है। गृह मंत्री ने भोपाल के डीआईजी को इस मामले की जाँच करने को कहा है, साथ ही पीड़िता को आश्वासन दिया कि उसे न्याय दिलाया जाएगा। पीड़िता ने बताया कि गेहूँखेरा के रहने वाले व्यक्ति से करीब एक वर्ष पहली उसकी मित्रता हुई थी। वो अपना नाम उमेश बताता था।

दोनों ने मंदिर में हिन्दू रीति-रिवाज से शादी की। शादी के बाद उनका एक बच्चा भी हुआ। पीड़िता ने बताया कि शादी के कुछ दिनों बाद खुलासा हुआ कि उसके पति का नाम उमेश नहीं, बल्कि सलमान है। युवती ने आरोप लगाया कि सलमान पिछले कई हफ़्तों से उसे धर्म परिवर्तन करने के लिए न सिर्फ प्रताड़ित कर रहा है, बल्कि उसने बच्चे को भी जान से मार डालने की कोशिश की। इसीलिए, वो न्याय की माँग लिए राज्य सरकार के पास पहुँची है।

गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने जाँच के बाद दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की बात कही है। महिला अपने बच्चे को गोद में लेकर उनके आवास पर पहुँची थी। पीड़िता ने आरोप लगाया कि उसके परिजनों ने मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के शासनकाल में भी सलमान (उमेश) के खिलाफ डरा-धमका कर शादी करने और और धर्मांतरण के लिए प्रताड़ित किए जाने की शिकायत की थी, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। ये घटना कोलार थाना क्षेत्र की है।

मध्य प्रदेश के गृह मंत्री ने कहा कि मध्य प्रदेश में धर्म स्वातंत्र्य विधेयक की चर्चा होने पर डरे-सहमे लोग सामने आने का साहस कर रहे हैं। उमरिया में जन-जातीय गौरव सम्मान समारोह में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने लव-जिहाद के मुद्दे पर आक्रोश दिखाते हुए कड़े शब्दों में कहा था, “मैं मध्यप्रदेश की धरती पर ‘लव जिहाद’ किसी भी कीमत पर नहीं चलने दूँगा। उसके लिए हम कानून बना रहे हैं। यह देश को तोड़ने का षड्यंत्र है, इसे किसी भी कीमत पर हम कामयाब नहीं होने देंगे।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

20 से ज्यादा पत्रकारों को खालिस्तानी संगठन से कॉल, धमकी- 15 अगस्त को हिमाचल प्रदेश के CM को नहीं फहराने देंगे तिरंगा

खालिस्तान समर्थक सिख फॉर जस्टिस ने हिमाचल प्रदेश के 20 से अधिक पत्रकारों को कॉल कर धमकी दी है कि 15 अगस्त को सीएम तिरंगा नहीं फहरा सकेंगे।

‘हमारे बच्चों की वैक्सीन विदेश क्यों भेजी’: PM मोदी के खिलाफ पोस्टर पर 25 FIR, रद्द करने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार

सुप्रीम कोर्ट ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना वाले पोस्टर चिपकाने को लेकर दर्ज एफआईआर को रद्द करने से इनकार कर दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,101FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe