Tuesday, May 21, 2024
Homeदेश-समाज'मुस्लिम बाबरी विध्वंस को नहीं भूलेंगे, फिर से बनेगी मस्जिद': केरल के स्कूल में...

‘मुस्लिम बाबरी विध्वंस को नहीं भूलेंगे, फिर से बनेगी मस्जिद’: केरल के स्कूल में बाँटा गया ‘मैं बाबरी हूँ’ का बैज

केरल भाजपा के अध्यक्ष के सुरेंद्रन द्वारा साझा की गई तस्वीरों में SDPI कार्यकर्ता को 'मैं बाबरी हूँ' के बैज को एक छात्र को लगाते हुए देखा जा सकता है। उसने भी अपनी शर्ट पर यही बैज लगाया हुआ है।

केरल के स्कूल में बच्चों को अपनी राजनीति में शामिल करने और उन्हें मजहब के नाम पर गुमराह करने का मामला सामने आया है। सोमवार (6 दिसंबर, 2021) को कोट्टंगल के चुंगप्पारा सेंट जॉर्ज स्कूल के बच्चों को एसडीपीआई (SDPI) का एक कथित कार्यकर्ता ‘मैं बाबरी हूँ’ का बैज बाँटता दिखा। इसकी कुछ तस्वीरें भी सामने आई हैं, जिसमें कार्यकर्ता बच्चों की शर्ट पर बैज लगाता हुआ भी दिख रहा है।

केरल बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष के सुरेंद्रन ने ट्वीट कर सवाल किया है कि क्या केरल एक और सीरिया बन रहा है। कोट्टंगल पंचायत के चुंगप्पारा सेंट जॉर्ज स्कूल के छात्रों को एसडीपीआई जबरदस्ती ‘आई एम बाबरी’ का बैज लगा रहा है। उन्होंने ट्वीट में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को टैग करते हुए इस मामले पर ध्यान दिलाने का प्रयास किया। दक्षिणी केरल के पथानामथिट्टा जिले में कोट्टंगल गाँव में चुंगप्पारा स्कूल स्थित है।

सुरेंद्रन द्वारा साझा की गई तस्वीरों में उस कार्यकर्ता को ‘मैं बाबरी हूँ’ के बैज को एक छात्र को लगाते हुए देखा जा सकता है। कथित एसडीपीआई कार्यकर्ता ने भी अपनी शर्ट पर यही बैज लगाया हुआ है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, Parent Teacher Association ने पुलिस में इसकी शिकायत दर्ज कराई है। शिकायत के आधार पर पुलिस ने इसकी जाँच शुरू कर दी गई है। यह घटना सोमवार (6 दिसंबर 2021) सुबह की है, जब बच्चे स्कूल परिसर में पहुँचे थे। रिपोर्ट के अनुसार, शिक्षकों ने जब कक्षा में बच्चों को ये बैज लगाए हुए देखा तो उन्होंने इसे हटाने के लिए कहा। वहीं, एसडीपीआई भी ट्वीट कर रहा है कि मुसलमान बाबरी विध्वंस को नहीं भूलेंगे और मस्जिद फिर से बनेगी।

बता दें कि एसडीपीआई इस्लामिक कट्टरपंथी संगठन पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) का राजनीतिक संगठन है, जिसे कई राज्यों में चरमपंथी गतिविधियों के लिए प्रतिबंधित कर दिया गया है। इसी साल नवंबर में एसडीपीआई के गुंडों ने आरएसएस के एक कार्यकर्ता ए संजीत की उसकी पत्नी के सामने ही हत्या कर दी थी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जहाँ से लड़ रही लालू की बेटी, वहाँ यूँ ही नहीं हुई हिंसा: रामचरितमानस को गाली और ‘ठाकुर का कुआँ’ से ही शुरू हो...

रामचरितमानस विवाद और 'ठाकुर का कुआँ' विवाद से उपजी जातीय घृणा ने लालू यादव की बेटी के क्षेत्र में जंगलराज की यादों को ताज़ा कर दिया है।

निजी प्रतिशोध के लिए हो रहा SC/ST एक्ट का इस्तेमाल: जानिए इलाहाबाद हाई कोर्ट को क्यों करनी पड़ी ये टिप्पणी, रद्द किया केस

इलाहाबाद हाई कोर्ट ने एक मामले की सुनवाई करते हुए SC/ST Act के झूठे आरोपों पर चिंता जताई है और इसे कानून प्रक्रिया का दुरुपयोग माना है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -