Tuesday, December 7, 2021
Homeदेश-समाज'कोवीशील्ड' बनाने वाली कंपनी के दूसरे हिस्से में भी आग, जलकर मरे लोगों को...

‘कोवीशील्ड’ बनाने वाली कंपनी के दूसरे हिस्से में भी आग, जलकर मरे लोगों को सीरम देगी ₹25 लाख

"आज SII में हम सभी के लिए एक अत्यंत दुखद दिन है। हमें गहरा दुख हुआ है और दिवंगत परिवारों के प्रति हमारी संवेदना है। हम मानदंडों के अनुसार अनिवार्य राशि के अलावा, प्रत्येक परिवार को 25 लाख रुपए का मुआवजा देंगे।"

पुणे के मंजरी में स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) के प्लांट में दोबारा आग लगने की खबर है। इस बार बिल्डिंग के दूसरे हिस्से में आग लगी है। यहीं से पुलिस को आज (जनवरी 21, 2021) दोपहर में हुई दुर्घटना के बाद 5 मजदूरों के जले हुए शव मिले थे। मृतकों में कोई ठेका मजदूर था तो कोई बिजली का काम करने के लिए घटनास्थल पर मौजूद था। सर्च ऑपरेशन में 6 लोगों की जान भी बचाई गई है।

दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के अनुसार, पुणे के मेयर मुरलीधर मोहोल ने बताया कि मजदूरों की लाश इमारत की ऊपरी मंजिल पर मिली हैं। उन्होंने कहा कि आग लगने की वजह अभी साफ नहीं है। जिस इमारत में आग लगी, वहाँ वेल्डिंग का काम चल रहा था और हादसे की वजह यह भी हो सकती है।

सीरम इंस्टीट्यूट ने दुर्घटना का शिकार हुए मजदूरों के परिजनों को 25 लाख रुपए देने का ऐलान किया है। SII के अध्यक्ष साइरस पूनावाला ने कहा, “आज SII में हम सभी के लिए एक अत्यंत दुखद दिन है। हमें गहरा दुख हुआ है और दिवंगत परिवारों के प्रति हमारी संवेदना है। हम मानदंडों के अनुसार अनिवार्य राशि के अलावा, प्रत्येक परिवार को 25 लाख रुपए का मुआवजा देंगे।”

बता दें कि पुणे के इस प्लांट में लाखों वैक्सीन का निर्माण किया जाता है। इसी इंस्टीट्यूट में कोवीशील्ड वैक्सीन बनाई गई है। संस्थान के सीईओ अदार पूनावाला का कहना है कि इस दुर्घटना में कोरोना वैक्सीन को नुकसान नहीं हुआ है। आग मंजरी प्लांट में लगी है। यहाँ वैक्सीन का उत्पादन नहीं हो रहा था।

उन्होंने कहा, “मैं सरकार और लोगों को भरोसा दिलाना चाहता हूं कि कोवीशील्ड के प्रोडक्शन को इस हादसे से कोई नुकसान नहीं हुआ है। ऐसी स्थिति से निपटने के लिए हमने कई प्रोडक्शन बिल्डिंग तैयार कर रखी है।”

गौरतलब हो कि सीरम इंस्टीट्यूट में लगी इस आग ने अचानक लोगों के मन में संदेह पैदा कर दिया है। दूसरी बार संस्थान की इमारत में लगी आग पर लोग आशंका जाहिर कर रहे हैं कि भारत को बदनाम करने के लिए कोई किसी हद तक भी जा सकता है। इस पर जाँच होनी चाहिए।

वहीं राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा है कि प्राथमिक दृष्टि से यह दुर्घटना इलेक्ट्रिक फॉल्ट के कारण हुई लग रही है। उनका कहना है कि कोविड वैक्सीन बिलकुल सुरक्षित हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी इंस्टीट्यूट में आग लगने से हुए जानमाल के नुकसान पर अपना दुख व्यक्त किया है। पीएम मोदी ने ट्वीट किया, “सीरम इंस्टीट्यूट में आग की वजह से जानमाल के नुकसान से दुखी हूँ। दुख की इस घड़ी में मेरी संवेदना मृतकों के परिजनों के साथ हैं। मैं प्रार्थना करता हूँ कि हादसे में जो लोग घायल हुए वो जल्द से जल्द ठीक हो जाएँ।”

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फेसबुक से रोहिंग्या मुस्लिमों ने माँगे ₹11 लाख करोड़, ‘म्यांमार में नरसंहार’ के लिए कंपनी पर ठोका केस

UK और अमेरिका में रह रहे रोहिंग्या शरणार्थियों ने हेट स्पीच फैलाने का आरोप लगाकर फेसबुक के ख़िलाफ़ ये केस किया है।

600 एकड़ में खाद कारखाना, 750 बेड्स वाला AIIMS: गोरखपुर को PM मोदी की ₹10,000 Cr की सौगात, हर साल 12.7 लाख मीट्रिक टन...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गोरखपुर को AIIMS और खाद कारखाना समेत ₹10,000 करोड़ के परियोजनाओं की सौगात दी। सीए योगी ने भेंट की गणेश प्रतिमा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
142,120FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe