Monday, July 22, 2024
Homeदेश-समाजजनजातीय समाज की छात्राओं का यौन शोषण, शिकायत करने पर खून निकलने तक पिटाई:...

जनजातीय समाज की छात्राओं का यौन शोषण, शिकायत करने पर खून निकलने तक पिटाई: मिशनरी स्कूल का प्रिंसिपल गिरफ्तार-फादर फरार, NCPCR एक्शन में

जब पीड़िताएँ इस करतूत की शिकायत स्कूल की सिस्टर सविता से करती थीं तब उन्हें बाँस के डंडे से पीटा जाता था। यह पिटाई इतनी बेरहमी से होती थी कि छात्राओं को खून निकल आते थे।

मध्य प्रदेश के डिंडौरी में एक गाँव में चल रहे मिशनरी स्कूल की जनजातीय समाज की छात्राओं और छात्रों ने अपने प्रिंसिपल और टीचर के खिलाफ यौन उत्पीड़न की शिकायत की है। पीड़ितों का आरोप है कि उन्हें कमरे में अकेले बुला कर अश्लील हरकतें की जाती हैं। आरोपितों की बात न मानने वाले बच्चों की पिटाई की जाती है। पुलिस ने केस दर्ज कर के प्रिंसिपल को गिरफ्तार कर लिया है। इस मामले में 3 अन्य नामजद आरोपित अभी फरार चल रहे हैं। पुलिस ने इस कार्रवाई की जानकारी रविवार (5 मार्च, 2023) को साझा की है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मामला डिंडौरी के समनापुर थाना क्षेत्र का है। यहाँ के गाँव जुनवानी में रोमन कैथोलिक समुदाय की जबलपुर डायोकेसन एजुकेशन सोसाइटी (जेडीईएस) द्वारा एक स्कूल चलाया जाता है। इस स्कूल की 8 छात्राओं ने डिंडौरी के महिला थाने में शिकायत दी है। शिकायत में उन्होंने स्कूल के प्रिंसिपल नान सिंह यादव और गेस्ट टीचर पर अपने साथ छेड़छाड़ और अश्लील हरकतें करने का आरोप लगाया है।

छात्राओं का कहना है कि यह हरकत दोनों आरोपित उन्हें अकेले में अपने कमरों में बुला कर करते थे। दावा है कि आरोपितों ने क्लास 1 और क्लास 2 में भी पढ़ने वाली बच्चों को भी नहीं छोड़ा।

इसी शिकायत में आगे बताया गया है कि जब पीड़िताएँ इस करतूत की शिकायत स्कूल की सिस्टर सविता से करती थीं तब उन्हें बाँस के डंडे से पीटा जाता था। यह पिटाई इतनी बेरहमी से होती थी कि छात्राओं को खून निकल आते थे। जब छात्राएँ अपनी प्रताड़ना चर्च के फादर शनि से बताने जाती थीं तब उन पर कोई फर्क नहीं पड़ता था। फादर शनि स्कूल के संचालक भी हैं। इस मामले की जानकारी जब बाल कल्याण समिति को हुई उसके सदस्य स्कूल पहुँचे। उन्होंने मामले की पड़ताल की तो हॉस्टल में रहने वाले छात्रों ने भी आरोपितों द्वारा खुद को शारीरिक तौर पर प्रताड़ित बताया।

घटना की जानकारी मिलने पर डिंडौरी के विधायक ओमकार मरकाम को हुई तो वो स्कूल पहुँचे और सभी आरोपितों पर कड़ी कार्रवाई की माँग की। SP डिंडौरी संजय सिंह के मुताबिक पीड़ित छात्रों की शिकायत पर स्कूल संचालक फादर शनि, प्रिंसिपल नान सिंह यादव, गेस्ट टीचर खेमचन्द्र और सिस्टर सविता के खिलाफ IPC की धारा 354,354 (क)(1), 323 और 34 के साथ पास्को एक्ट में केस दर्ज कर लिया गया है। पुलिस ने प्रिंसिपल नान सिंह यादव को गिरफ्तार कर लिया है। फरार चल रहे अन्य तीन आरोपितों के लिए दबिश दी जा रही है।

NCPCR ने लिया संज्ञान

इस मामले का राष्ट्रीय बाल संरक्षण आयोग के अध्यक्ष प्रियांक कानूनगो ने संज्ञान लिया है। प्रियांक ने लिखा’ “इस मामले में राजनीतिक दबंगों ने उत्पात किया है। जाँच करने व CWC के अध्यक्ष, सदस्यों तथा बच्चों मदद के लिए आज रात मैं स्वयं डिंडौरी पहुँच रहा हूँ। बाल संरक्षण के मैदानी कर्मचारियों/कार्यकर्ताओं की रक्षा में NCPCR ढाल बनकर खड़ा है। बच्चों का शोषण करने वालों को छोड़ा नहीं जाएगा।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

काँवड़िए नहीं जान पाएँगे दुकान ‘अब्दुल’ या ‘अभिषेक’ की, सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक: कहा- बताना होगा सिर्फ मांसाहार/शाकाहार के बारे में,

सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के कांवड़ रूट पर दुकानदारों के नाम दर्शाने वाले आदेश पर अंतरिम रोक लगा दी है।

AAP विधायक की वकीलगिरी का हाई कोर्ट ने उतारा भूत: गलत-सलत लिख कर ले गया था याचिका, लग चुका है बीवी को कुत्ते से...

दिल्ली हाईकोर्ट के जज ने सोमनाथ भारती की याचिका पर कहा कि वो नोटिस जारी नहीं कर सकते, उन्हें ये समझ ही नहीं आ रहा है, वो मामला स्थगित करते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -