Friday, June 21, 2024
Homeदेश-समाजअंबे माता का मंदिर, शाहरुख पठान ने बना दिया कहकशां मस्जिद: रतलाम पुलिस ने...

अंबे माता का मंदिर, शाहरुख पठान ने बना दिया कहकशां मस्जिद: रतलाम पुलिस ने 3 को पकड़ा, 1 नाबालिग

"इस बदलाव की जानकारी 6 जुलाई को मिली। पड़ताल करने पर शाहरुख पठान नाम के लड़के की ID दिखाई दी। शाहरुख ने ये हरकत जान-बूझकर हिन्दुओं की धार्मिक भावनाओं को आहत पहुँचाने के लिए की है।"

मध्य प्रदेश के रतलाम में गूगल मैप पर एक मंदिर को मस्जिद के रूप में दिखाने के बाद तनाव फैल गया। यह मंदिर अंबे माता का है। आक्रोशित ग्रामीणों ने कड़ी कार्रवाई की माँग करते हुए पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई। पुलिस ने IPC 295A के तहत FIR दर्ज कर शाहरुख, आमीन व एक अन्य नाबालिग को हिरासत में लिया है। मामले की जाँच की जा रही है। घटना 7 जुलाई 2022 (गुरुवार) की है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मामला गाँव भदवासा का है जो रतलाम के नामली थाना क्षेत्र में आता है। यहाँ अंबेमाता मंदिर गाँव वालों और आस-पास के लोगों के लिए श्रद्धा का केंद्र है। इसी मंदिर को गाँव के ही एक शाहरुख नाम के आरोपित ने कहकशां मस्जिद के रूप एडिट कर दिया। शाहरुख ने इस बदलाव का स्क्रीनशॉट सोशल मीडिया में वायरल भी कर दिया। शाहरुख उसी गाँव का रहने वाला है।

इस बात की जानकारी ग्रामीणों को हुई तो उन्होंने शाहरुख से ऐसा करने को ले कर सवाल किया। इस बीच सूचना पर पुलिस भी गाँव में पहुँच गई और शाहरुख को हिरासत में ले लिया। आरोपित शाहरुख की उम्र 27 साल, आमीन की उम्र 29 साल और नाबालिग की उम्र 17 साल है। इस मामले में शिकायत राजेश पाटीदार ने दर्ज करवाई है।

राजेश के मुताबिक, “मुझे इस बदलाव की जानकारी बुधवार (6 जुलाई) को हुई। इसकी पड़ताल करने पर मुझे शाहरुख पठान नाम के लड़के की ID दिखाई दी। शाहरुख ने ये हरकत जान-बूझकर हिन्दुओं की धार्मिक भावनाओं को आहत पहुँचाने के लिए की है।” पुलिस ने आमीन को धारा 151 IPC के तहत कार्रवाई कर जेल भेजा है। शाहरुख और नाबालिग आरोपित से पूछताछ की जा रही है। शाहरुख का मोबाइल भी जब्त कर लिया गया है।

रतलाम के SP अभिषेक तिवारी के मुताबिक, “इस मामले में पुलिस ने गूगल को पत्र लिखा है। पत्र में आरोपित द्वारा किए गए बदलाव के प्रमाण माँगे गए हैं। इन सबूतों को अदालत में टेक्निकल साक्ष्यों के तौर पर पेश किया जाएगा।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कर्नाटक की कॉन्ग्रेस सरकार की हाउस टैक्स और शराब-बीयर पर टैक्स बढ़ाने की तैयारी, ₹9.5 करोड़ खर्च करके अमेरिकी फर्म से लिया ‘आइडिया’

जनता से किस तरह से पैसे उगाहा जाए, उसका 'आइडिया' देने के लिए एक अमेरिकी कंपनी को भी काम पर लगाया गया है

दिल्ली की अदालत ने ED के दस्तावेज पढ़े बिना ही CM केजरीवाल को दे दी थी जमानत, कहा- हजारों पन्ने पढ़ने का समय नहीं:...

निचली अदालत ने ED द्वारा केजरीवाल की गिरफ्तारी को 'दुर्भावनापूर्ण' बताया और दोनों पक्षों के दस्तावेजों को पढ़े बिना ही जमानत दे दी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -