Saturday, July 20, 2024
Homeदेश-समाजजावेद हबीब सैलून में गई हिन्दू नाबालिग, शाहरुख ने फेशियल के बहाने इधर-उधर छुआ:...

जावेद हबीब सैलून में गई हिन्दू नाबालिग, शाहरुख ने फेशियल के बहाने इधर-उधर छुआ: शिकायत के बाद गिरफ्तार, पीड़िता बोली- विरोध के बाद भी लगा रहा था हाथ

जावेद हबीब सैलून में काम करने वाला शाहरुख हिन्दू नाबालिग लड़की को फेशियल के नाम पर अलग कमरे में ले गया और वहाँ उसने उसके साथ छेड़छाड़ की। लड़की ने जब इस संबंध में अपनी माँ को बताया तो फिर उसके ऊपर केस करके उसे पकड़ा गया।

गुजरात के सूरत में जावेद हबीब सैलून में काम करने वाले शाहरुख शाह ने एक हिन्दू नाबालिग से छेड़छाड़ की। शिकायत करने पर वह इसे गलती से हुआ काम बताने लगा, अब उसे गुजरात पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

जानकारी के अनुसार, रविवार शाम (5 नवम्बर 2023) को एक 17 वर्षीय नाबालिग अपनी माँ के साथ जावेद हबीब सैलून में गई थी। यह सैलून सूरत के VIP रोड पर शिव कार्तिक एन्क्लेव में स्थित है। बाल कटवाने के बाद उसने अपनी माँ से इच्छा जाहिर की कि उसे फेशियल भी करवाना है।

नाबालिग के यह कहने पर आरोपित शाहरुख शाह उसे माँ से अलग एक अन्य कमरे में ले गया। कमरे में अकेला पा कर शाहरुख ने हिन्दू नाबालिग के साथ छेड़छाड़ चालू कर दी और उसे इधर उधर छूने लगा। नाबालिग के विरोध करने पर उसने कहा कि गलती से हाथ लगा है।

हालाँकि, वह इसके बाद भी नहीं रुका और नाबालिग से लगातार छेड़छाड़ करता रहा। नाबालिग ने यह घटना बाहर आकर माँ को बताई जिसके बाद उसके घर वालों ने शाहरुख के खिलाफ सूरत के वेसू थाने में मुकदमा दर्ज करवाया।

शाहरुख की पहचान के लिए पुलिस ने उसे उसके साथ काम करने वाले दो अन्य व्यक्तियों को भी गिरफ्तार किया। जिनमें से शारुख की पहचान पीड़िता ने मैजिस्ट्रेट के सामने कर ली। पुलिस ने अब उसे गिरफ्तार करके कोर्ट में पेश किया है।

समाचार वेबसाइट देश गुजरात ने बताया है कि शाहरुख का असली नाम रियाज हस्मातुल्लाह खान है और वह उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद जिले का रहने वाला है। वह सूरत में जावेद हबीब के सैलून में मैनेजर की हैसियत से काम करता था है। शाहरुख पर पॉक्सो एक्ट और धारा 354 (1)(1) के तहत मामला दर्ज किया गया है।

पुलिस अधिकारियों ने नाबालिग के हिम्मत दिखा कर शाहरुख की सच्चाई सामने लाने के लिए प्रशंसा की है और आरोपित के ऊपर कड़ी कार्रवाई करने का आश्वासन दिया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

दिल्ली हाईकोर्ट ने शिव मंदिर के ध्वस्तीकरण को ठहराया जायज, बॉम्बे HC ने विशालगढ़ में बुलडोजर पर लगाया ब्रेक: मंदिर की याचिका रद्द, मुस्लिमों...

बॉम्बे हाईकोर्ट ने मकबूल अहमद मुजवर व अन्य की याचिका पर इंस्पेक्टर तक को तलब कर लिया। कहा - एक भी संरचना नहीं गिराई जाए। याचिका में 'शिवभक्तों' पर आरोप।

आरक्षण पर बांग्लादेश में हो रही हत्याएँ, सीख भारत के लिए: परिवार और जाति-विशेष से बाहर निकले रिजर्वेशन का जिन्न

बांग्लादेश में आरक्षण के खिलाफ छात्र सड़कों पर उतर आए हैं। वहाँ सेना को तैनात किया गया है। इससे भारत को सीख लेने की जरूरत है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -