Tuesday, May 21, 2024
Homeदेश-समाजनाम शाकिब लेकिन फेसबुक पर सागर, दलित नाबालिग लड़की से की दोस्ती... पोल खुलने...

नाम शाकिब लेकिन फेसबुक पर सागर, दलित नाबालिग लड़की से की दोस्ती… पोल खुलने पर घर में घुस कर रेप की कोशिश, पूरे परिवार को खत्म करने की दी धमकी

शाकिब पीड़िता के घर पर अपने 4 साथियों के साथ आ धमका। लड़की घर पर अकेली थी। शाकिब ने पीड़िता से रेप का प्रयास किया, प्राइवेट पार्ट के साथ छेड़छाड़ की। लड़की ने जान बचाने के लिए शोर मचाया तो शाकिब ने साथियों सहित उसकी बेरहमी से पिटाई कर दी।

उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले से लव जिहाद का मामला सामने आया है। यहाँ शाकिब नाम के युवक ने फेसबुक पर हिन्दू नाम से ID बना कर नाबालिग दलित समुदाय की एक लड़की के साथ दोस्ती की। शाकिब की असलियत जानने के बाद नाबालिग पीड़िता उससे दूरी बनाने लगी। इससे नाराज आरोपित ने 3 मई 2024 को साथियों सहित पीड़िता के घर में घुस कर रेप करने का प्रयास किया। विरोध करने पर लड़की की पिटाई भी की गई। सोमवार (6 मई 2024) को मामले की शिकायत थाने में की गई। पुलिस ने FIR दर्ज करके मामले की जाँच शुरू कर दी है।

यह मामला सहारनपुर जिले के थानाक्षेत्र सदर बाजार का है। 6 मई को नाबालिग पीड़िता अपनी माँ और हिन्दू संगठन के सदस्यों के साथ शिकायत करने थाने पहुँची। पीड़िता ने बताया कि काफी समय पहले उसे सागर नाम की फेसबुक ID से फ्रेंड रिक्वेस्ट आई। कुछ ही दिनों में दोनों में बातचीत होने लगी। सागर पीड़िता को मिलने के लिए भी बुलाने लगा। एक दिन लड़की ने शाकिब की फेसबुक प्रोफ़ाइल ठीक से चेक की तो वो मुस्लिम निकला। पीड़िता को अब पता चल चुका था कि जिसे वो सागर समझ रही थी, वो असल में शाकिब था।

शाकिब की पोल खुलने के बाद पीड़िता ने उससे दूरी बनानी शुरू कर दी। कुछ दिनों तक शाकिब ने पीड़िता का पीछा किया लेकिन उसकी दाल नहीं गली। इसके अलावे वो अलग-अलग मोबाइल नंबरों से नाबालिग को कॉल करके परेशान भी करने लगा था।

एक दिन तबियत खराब होने पर नाबालिग पीड़िता दवा लेने जा रही थी। तब रास्ते में रोक कर शाकिब ने उसकी पिटाई की थी। फिर 6 मई को शाकिब पीड़िता के घर पर अपने 4 साथियों के साथ आ धमका। लड़की घर पर अकेली थी। शाकिब ने पीड़िता से रेप का प्रयास किया, प्राइवेट पार्ट के साथ छेड़छाड़ की। लड़की ने जान बचाने के लिए शोर मचाया तो शाकिब ने साथियों सहित उसकी बेरहमी से पिटाई कर दी।

नाबालिग पीड़िता की चीख-पुकार सेन लोगों को जमा होते देख शाकिब साथियों सहित भाग कर छिप गया। इसके बाद लड़की अपनी जान बचाने के लिए पड़ोस में रहने वाली एक महिला के घर पहुँची। यहाँ भी शाकिब पहुँच गया और फिर से पीड़िता की पिटाई की। पिटाई के बाद आरोपित ने लड़की और उसके परिवार वालों को जान से मार डालने की भी धमकी दी।

पिटाई, धमकाने और गालियाँ देने में शाकिब के चारों साथी भी शामिल बताए जा रहे हैं। पीड़िता ने आगे बताया कि आरोपित वीडियो रिकॉर्डिंग होने की बात कह कर उसे ब्लैकमेल करता था। वह लड़की के साथ उसकी माँ को भी गंदी-गंदी गालियाँ देता था।

पीड़िता बेहद गरीब परिवार से है। उसकी माँ लोगों के घर में झाड़ू-पोछा और खाना बना कर परिवार चलाती है। 6 मई की दोपहर जब वो काम से घर लौटीं तो पीड़िता नीचे बैठी थी और घर का सामान बिखरा पड़ा था। लड़की अपनी माँ को पकड़ कर रोने लगी और सारी घटना बताई।

नाबालिग पीड़िता की माँ का दावा है कि उन्हें अभी भी शाकिब की तरफ से धमकियाँ मिल रही हैं। महिला के सिर पर वार करने की धमकी दी जा रही है। पीड़ित परिवार डर से न खा पा रहा है और न ही ठीक से सो पा रहा।

पीड़िता की माँ का कहना है कि सहारनपुर के हिन्दू संगठनों ने उनकी बहुत मदद की। इन सभी ने न सिर्फ पीड़ित परिवार को सुरक्षा का भरोसा दिया बल्कि खाने-पीने के सामान भी मुहैया करवाए। लड़की की माँ ने खुद को हिन्दू संगठनों का आभारी बताया।

ऑपइंडिया से बात करते हुए सहारनपुर के हिंदू योद्धा परिवार की महिला मोर्चा पदाधिकारी वर्षा पराशर ने बताया कि उन्हें पुलिस द्वारा पीड़िता की शिकायत पर कड़ी कार्रवाई न करने की जानकारी हुई थी। वर्षा अपने सहयोगियों के साथ थाने पहुँचीं और आरोपित के खिलाफ केस दर्ज करवाया। सहारनपुर पुलिस FIR दर्ज करके जाँच कर रही है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जहाँ से लड़ रही लालू की बेटी, वहाँ यूँ ही नहीं हुई हिंसा: रामचरितमानस को गाली और ‘ठाकुर का कुआँ’ से ही शुरू हो...

रामचरितमानस विवाद और 'ठाकुर का कुआँ' विवाद से उपजी जातीय घृणा ने लालू यादव की बेटी के क्षेत्र में जंगलराज की यादों को ताज़ा कर दिया है।

निजी प्रतिशोध के लिए हो रहा SC/ST एक्ट का इस्तेमाल: जानिए इलाहाबाद हाई कोर्ट को क्यों करनी पड़ी ये टिप्पणी, रद्द किया केस

इलाहाबाद हाई कोर्ट ने एक मामले की सुनवाई करते हुए SC/ST Act के झूठे आरोपों पर चिंता जताई है और इसे कानून प्रक्रिया का दुरुपयोग माना है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -