Tuesday, July 23, 2024
Homeदेश-समाजमुझे शाहरुख भाई पर गर्व है, वह मुजाहिद की तरह लड़ा, वही हमारा हीरो...

मुझे शाहरुख भाई पर गर्व है, वह मुजाहिद की तरह लड़ा, वही हमारा हीरो है: न्यूजलॉन्ड्री का शरजील उस्मानी

"मुझे शाहरुख भाई पर गर्व है। वे उस समय समुदाय के लिए लड़े, जब पूरी स्टेट मशीनरी और हिंदुत्व सेना हमारे समुदाय को मारने और लूटने में शामिल थी। वे हमारे हीरो हैं।"

दिल्ली के हिंदू विरोधी दंगों के दौरान दिनदहाड़े पुलिस पर बंदूक तानने वाला शाहरुख पठान अब न्यूजलॉन्ड्री के शरजील उस्मानी के लिए हीरो बन गया है। इस बात को उस्मानी ने खुद ट्विटर पर बताया है।

न्यूजलॉन्ड्री के लिए लिखने वाले शरजील उस्मानी ने इंडियन एक्सप्रेस की एक खबर को शेयर करते हुए लिखा, “मुझे शाहरुख भाई पर गर्व है। वे उस समय समुदाय के लिए लड़े, जब पूरी स्टेट मशीनरी और हिंदुत्व सेना हमारे समुदाय को मारने और लूटने में शामिल थी। वे हमारे हीरो हैं।”

शरजील आगे लिखता है, “जनता, इन गाँधीवादी लोगों को खुद को बेवकूफ मत बनाने दो। ये लोग आपके लिए नहीं लड़ रहे थे। शाहरुख लड़ रहा था। ये गाँधीवादी चाहते तो अपने विशेषाधिकारों का उपयोग करके आपकी जान बचा सकते थे। लेकिन इन्होंने ऐसा नहीं किया। शाहरुख एक मुजाहिद की तरह लड़ा। वही हमारा हीरो है। “

गौरतलब है कि ये पहली दफा नहीं है जब दिल्ली में दंगों के बाद शरजील उस्मानी चर्चा में आया है। इससे पहले भी वह अपने कुछ ट्वीट के कारण चर्चा में रहा था। इन ट्वीट में उसने देश के ख़िलाफ़ प्रोपेगेंडा फैलाने की बात खुलेआम कही थी।

उसने कहा था कि वह दो दोस्तों के साथ मिलकर मुस्लिमों के ख़िलाफ़ हो रहे घृणित अपराधों को सबटाइटल देगा, ताकि वे वीडियो विश्व के कोने-कोने तक जाए और लोग जान पाएँ कि भारत में क्या हो रहा है।

इसके बाद शरजील उस्मानी को आयशा रेन्ना का समर्थन मिला था। आयशा रेना वही कट्टरपंथी लड़की है, जिसे जामिया हिंसा में पोस्टर गर्ल बनाकर उभारा गया था और इसने व उस्मानी जैसे कइयों ने शरजील इमाम के समर्थन में पोस्ट लिखा था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कोई भी कार्रवाई हो तो हमारे पास आइए’: हाईकोर्ट ने 6 संपत्तियों को लेकर वक्फ बोर्ड को दी राहत, सेन्ट्रल विस्टा के तहत इन्हें...

दिसंबर 2021 में सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने हाईकोर्ट को आश्वासन दिया था कि वक्फ बोर्ड की संपत्तियों को कोई नुकसान नहीं पहुँचाया जाएगा।

‘कागज़ पर नहीं, UCC को जमीन पर उतारिए’: हाईकोर्ट ने ‘तीन तलाक’ को बताया अंधविश्वास, कहा – ऐसी रूढ़िवादी प्रथाओं पर लगे लगाम

मध्य प्रदेश हाई कोर्ट ने कहा है कि समान नागरिक संहिता (UCC) को कागजों की जगह अब जमीन पर उतारने की जरूरत है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -